चुनाव के दिन दिव्यांगजन मतदाताओं की सुविधाओं का रखा जाएगा पूरा ध्यान – जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त।

फरीदाबाद,19 अक्तूबर।
मतदान के दिन जिला में दिव्यांगजन मतदाताओं  को अपने मताधिकार में किसी प्रकार की कठिनाई ना हो  इसके बारे में पूरा ध्यान रखा जाएगा । जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अतुल कुमार  के अनुसार  जिला फरीदाबाद में चिन्हित 6734 दिव्यांगजनों  मतदाताओं के लिए  जिला के सभी  मतदान भवनों में  व्हीलचेयर भी उपलब्ध होगी । दिव्यांगजन मतदाताओं के लिए मतदान केंद्रों पर निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुरूप प्रबंध सुनिश्चित करने के लिए सभी रिटर्निंग अधिकारियों को पहले ही आदेश दे दिए गए थे।
उन्होंने बताया कि विधानसभा चुनाव वाले दिन दिव्यांगजन मतदाताओं को दी जाने वाली सुविधाओं को लेकर तैयारियों की समीक्षा की गई है। सम्बन्धित रिटर्निंग अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैें कि वे 21 अक्तूबर को मतदान के दिन बहुत ज्यादा वृद्ध मतदाता या शारीरिक रूप से चलने फिरने में असमर्थ दिव्यांगजन मतदाता यदि  ट्रांसपोर्टेशन की मांग करते हैं, तो उन को लाने- ले जाने की व्यवस्था समाजसेवकों के सहयोग से करें ताकि वे बिना किसी कठिनाई के अपना वोट डाल सकें ।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि दिव्यांगजन मतदाताओं को मतदान केन्द्रों तक पहुंचने में  उनकी मदद करने के लिए मतदान केंद्रों पर दिव्याग प्रहरी लगाए गए हैं और मतदान केंद्रों की प्रत्येक लोकेशन पर एक-एक व्हीलचेयर  की व्यवस्था की गई है।
उन्होंने  बताया कि जिला में सभी छः हजार 734  पीडब्लयूडी (पर्सन विद डिस्ऐबिलिटिज) मतदाताओं को चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशानुसार सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी तथा व्यवस्थाओं को समय रहते पूरा किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि जिला में कुल चिन्हित 6734 दिव्यांगजन मतदाताओं में 994 दृष्टि हीन, 549 श्रवण एवं वाणी दिव्यांग, 2529 चलने फिरने में असमर्थ तथा 2662 अन्य प्रकार से शारीरिक रूप से अक्षम शामिल हैं। दिव्यांगजन मतदाताओं का  विधानसभा वार आंकड़ा देते हुए उन्होंने बताया कि जिला के पृथला विधानसभा क्षेत्र में 1089,फरीदाबाद एनआईटी में 1176,बङखल विधानसभा क्षेत्र में 799,बल्लभगढ़  में 1003,  फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र  में 720 और तिगावं विधानसभा क्षेत्र में  1947 दिव्यांगजन मतदाता चिन्हित हैं।
दिव्यांग मतदाताओं को सुविधाएं उपलब्ध करवाने एवं व्यवस्थाएं करने के लिए विधानसभा स्तर पर अलग-अलग कमेटियों का गठन किया गया है। जिला रैड क्रास सोसायटी के सचिव को डिसेबिलिटि कोर्डिनेटर नियुक्त किया गया है।