शिकायत करने के बावजूद नहीं हुई कोई कार्रवाई फरीदाबाद नगर निगम की अनदेखी से स्मार्ट सिटी की जगह आवारा पशुओं का शहर बना: एडवोकेट पाराशर

फरीदाबाद न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एवं बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान एडवोकेट पाराशर का कहना है कि उनके कई बार शिकायत करने के बावजूद फरीदाबाद शहर के अंदर आवारा पशुओं का जमावड़ा जगह-जगह दिखाई देता रहता है,
निगम प्रशासन कहता है कि हमारा शहर आवारा पशु मुक्त है लेकिन एडवोकेट पराशर का कहना है कि वह जहां भी जिस ओर भी जाते हैं उन्हें दर्जनों की संख्या में आवारा पशु कूड़े के ढेर पर मुंह मारते दिखाई देते हैं, और यह दोनों ही नाकामियां नगर निगम प्रशासन की है, एडवोकेट पराशर ने कहा कि वे इसकी शिकायत कई बार उच्चाधिकारियों से कर चुके हैं लेकिन फरीदाबाद नगर निगम प्रशासन कुंभकरण की नींद सो रहा है, जो जागने का नाम ही नहीं ले रहे हैं जहां एक तरफ इन आवारा पशुओं से रोड पर दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है वहीं दूसरी तरफ यह आवारा पशु पॉलिथीन और गंदगी खाते दिखाई देते हैं जो पशुओं के लिए भी बहुत हानिकारक है।
एडवोकेट पराशर का कहना है कि शहर में कई सारी गौशाला  खुली हुई है ,लेकिन इसके बावजूद भी सड़क पर आवारा पशु घूमते क्यों दिखाई देते हैं? आखिर नगर निगम कब तक अनदेखी करता रहेगा कब इन आवारा पशुओं को पकड़कर इनके सही ठिकाने पर  पहुंचाया जाएगा यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है ,क्या इस तरह के कारनामों से हमारा शहर कभी भी स्मार्ट सिटी का रूप ले पाएगा?