कांग्रेस प्रत्याशी पं. नीरज शर्मा को मिल रहा भारी जन-समर्थन

फरीदाबाद। एनआईटी 86 विधानसभा से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ रहे पूर्व मंत्री स्व. शिवचरण लाल शर्मा के सुपुत्र नीरज शर्मा को उस समय भारी ताकत मिली जब नंगला रोड व्यापार मंडल ने अपना पूर्ण समर्थन उनको दिया। नंगला रोड मार्किट कमेटी के प्रधान प्रेम सिंह नैन उर्फ भूरी ने जैसे ही माइक संभाला तो नीरज शर्मा के पक्ष मंे एकतरफा समर्थन की घोषणा करते ही आसमान तालियों से गुंजायमान हो गया। संैकड़ों दुकानदारांे ने एक स्वर मंे कहा कि उनका पूर्ण समर्थन कांग्रेस प्रत्याशी पं. नीरज शर्मा, पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर मुकेश शर्मा व उनके परिवार को है। विभिन्न वक्ताओं ने कहा कि वर्तमान पार्षद नगेन्द्र भडाना ने विकास के नाम पर विनाश किया है और वह निजी रंजिश के चलते क्षेत्र के दुकानदारों को परेशान करने मंे लगे रहे। सालों गुजर जाने के बाद भी नंगला रोड किसी मलिन बस्ती मंे तब्दील होकर रह गया, जिससे यहां दुकानदारों का भारी नुकसान हुआ। नंगला रोड मार्किट एसोसिएशन की बैठक मे बाबूलाल प्रधान, रघुवीर सिंह गर्ग, नैनचंद बठैनिया, अमरचंद मंगला, रमेशचंद सिंगला, बबलू गर्ग, लक्ष्मीनारायण गर्ग, पं. सुभाषचंद, शिक्षाविद त्रिलोकचंद तंवर, खालिद अहमद, इस्लामुदीन खान, अशोक अग्रवाल, अशोक अग्रवाल, प्रेमप्रकाश गुप्ता, विकास नैन, सतबीर नैन, बिजेन्द्र सिंगला व प्रकाशचन्द्र वाष्र्णेय सहित सैंकड़ों दुकानदारों ने फूल-मालाएं डालकर कांग्रेस प्रत्याशी नीरज शर्मा का स्वागत किया।

नंगला रोड मार्किट एसोसिएशन के दुकानदारों को सम्बोधित करते हुए नीरज शर्मा ने कहा कि वह वादा ही नहीं, अपितु विश्वास दिलाते हैं कि 2 माह के अंदर नंगला रोड की सड़क और सीवरेज व्यवस्था सदृढ करा दी जाएगी। उन्हांेने इस मौके पर प्रण लिया कि जिन विकास कार्यों को उनके पिताश्री पूर्व मंत्री शिवचरण लाल शर्मा अधूरा छोड़ गए थे, उन्हंे पूरा कराएंगे। कांग्रेस प्रत्याशी ने उदाहरण देते हुए बताया कि नंगला रोड बूस्टिंग पर उनके पिताजी ने पानी की टंकी बनवाई थी, जिसका कनैक्शन 5 वर्षों में वर्तमान विधायक ने नहीं किया है। इसके चलते क्षेत्र की जनता एक-एक बूंद पानी के लिए तरस रही है और टैंकरों का सहारा लेने को विवश हैं। युवा उम्मीदवार नीरज शर्मा ने कहा है कि इस विधानसभा क्षेत्र की जनता को कुछ लोग पागल समझते हैं कि वह रंग रुप बदल कर आ जाएंगें और इस क्षेत्र के लोग उनको पहचान नहीं पाएंगे। उन्हांेने लोगों से आह्वान किया कि अब यदि चूक गए तो फिर 5 साल बाद ही मौका मिलेगा। इस कारण आगामी 21 अक्तूबर को बिना चूके हाथ वाला बटन दबाना और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि पं. शिवचरणलाल शर्मा जी का सुशासन आपको फिर से लौटाउंगा।