कार्डियो पल्मोनरी रिससिटेशन का प्रशिक्षण व त्रिमासिक परेड का अभ्यास किया।

फरीदाबाद, 05 अक्तूबर। राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा की सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड और जूनियर रेड क्रॉस ने प्राचार्या नीलम कौशिक की अध्यक्षता व ब्रिगेड अधिकारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा के मार्गनिर्देशन में त्रिमासिक परेड का अभ्यास किया, साथ ही कार्डियो पल्मोनरी रिससिटेशन अर्थात सी पी आर का प्रशिक्षण भी दिया। सी पी आर का सिनेरियो क्रिएट कर के बेहोशी एवम् सांस न चल रहे होने की अवस्था में घायल या रोगी को प्राथमिक चिकित्सा देने के तरीके बताए। उन्होंने बताया कि यदि रोगी बेहोश है और सांस चल रही है तो रोगी को रिकवरी पोजीशन में डाल देते है। एक अन्य स्थिति में जब रोगी बेहोश हो और सांस भी नहीं चल रही हो तो सी पी आर ही प्रभावी होता है। इस अवस्था में रोगी को हार्ड सर्फेस जैसे प्लेन फर्श पर सुरक्षित अवस्था में लिटा कर रोगी के बिल्कुल पास बैठ कर प्राथमिक चिकित्सा के मूल सिद्धांतों का पालन करते हुए तीस बार हार्ट कंप्रेशन और दो रेस्क्यू ब्रेथ और यही प्रक्रिया, रोगी के होश में आने तक या चिकित्सक के आने तक या प्राथमिक चिकित्सक के थकने पर या सुरक्षित हालत न होने पर, जारी रखने के बारे में बताया। अंग्रेजी प्रवक्ता व एस जे ए बी प्रभारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड के सदस्यों को किसी भी समय आपातकालीन स्थिति का सामना करने के लिए प्रशिक्षण और छदम अभ्यास द्वारा समय समय पर तैयार किया जाता है आज ब्रिगेड सदस्यों ने कैप्टन विशाल के नेतृत्व में मार्च पास्ट किया और प्राचार्या नीलम कौशिक और ब्रिगेड प्रभारी को सलामी देते हुए शानदार अनुशासन का नमूना प्रस्तुत किया। प्राथमिक सहायता के मूल सिद्धांतों का पालन करके किसी भी दुर्घटना या आपदा के समय बेशकीमती जानों को बचाया जा सकता है। प्राचार्या नीलम कौशिक, रविन्द्र कुमार मनचन्दा, रेणु शर्मा तथा अन्य अध्यापकों ने ब्रिगेड सदस्यों द्वारा किए गए प्रदर्शन की सराहना की।