टिकट वितरण से नाराज भाजपा कार्यकर्ताओं ने दिए इस्तीफे

फरीदाबाद, 01 अक्तूबर । एनआईटी विधानसभा क्षेत्र से पूर्व भाजपा प्रत्याशी यशवीर डागर को टिकट न दिए जाने से खफा क्षेत्र से सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं ने आज अपने पदों से इस्तीफे देते हुए पार्टी हाईकमान के फैसले के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की। प्याली चौक पर एकत्रित हुए मंडल अध्यक्षों, शक्ति केंद्र प्रमुखों, पन्ना प्रमुखों, महिला मोर्चा, भाजपा युवा मोर्चा, अल्पसंख्यक मोर्चा, किसान मोर्चा के करीब 550 भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपना इस्तीफा देते हुए एक स्वर में कहा कि पार्टी हाईकमान ने कर्मठ, मेहनती व समर्पित कार्यकर्ता की अनदेखी करके एक ऐसे दलबदलू विधायक को टिकट दे दिया है, जो पहले इनेलो पार्टी के साथ गद्दारी कर चुका है इसलिए पार्टी को अपने फैसले पर पुर्नविचार करना चाहिए। भाजपा पाली मंडल के अध्यक्ष राजपाल दहिया, नंगला मंडल अध्यक्ष कविन्द्र चौधरी, जवाहर मंडल अध्यक्ष रमेश बिष्ट, महिला मंडल अध्यक्ष सोनिया, गीता, रेखा, किसान मोर्चा के अध्यक्ष मेहर चंद हरसाना ने बताया कि पार्टी ने ऐसे दलबदलू विधायक को उम्मीदवार बनाया है, जो मात्र एक महीने पहले ही भाजपा में शामिल हुआ है। पार्टी के इस निर्णय से कर्मठ व मेहनती कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरा है। उन्होंने कहा कि वह किसी भी आम कार्यकर्ता को टिकट दे दे, वह उसकी हर प्रकार से मदद करेंगे परंतु इस प्रकार कार्यकर्ताओं की अनदेखी करना ठीक नहीं है। वहीं पूर्व भाजपा प्रत्याशी यशवीर डागर का कहना है कि एनआईटी क्षेत्र उनका परिवार है और पिछले पांच सालों तक यहां भाजपा संगठन को मजबूती से खड़ा करने के लिए उन्होंने कोई कोर कसर बाकि नहीं छोड़ी। यहां के लोगों के सुख-दुख में अपनी भागेदारी निभाई और जहां भी सरकार की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया गया, उन्होंने एक सच्चे कार्यकर्ता की तरह अपना दायित्व निभाया परंतु पार्टी ने जनभावनाओं को दरकिनार करके टिकट वितरण किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी के इस फैसले से उनका व एनआईटी क्षेत्र के समूचे भाजपा कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरा है इसलिए पार्टी को जनभावनाओं को देखते हुए अपने फैसले पर पुर्नविचार करना चाहिए।