चुनाव डयूटी में तैनात कर्मचारी पोस्टल बैलेट से कर सकेंगे अपने मत का प्रयोग

कुरुक्षेत्र 1 अक्टूबर जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने कहा कि हरियाणा विधानसभा चुनावों में ड्यूटी पर तैनात रहने वाले सरकारी अधिकारी व कर्मचारी अपने पोस्टल बैलेट का प्रयोग कर अपने मत डाल सकते हैं। इस जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों थानेसर, पिहोवा, शाहबाद व लाडवा में 21 अक्टूबर को मतदान होगा। इस दौरान विभिन्न मतदान केन्द्रों पर डयूटी पर तैनात कर्मचाारी भी अपने मत का प्रयोग कर सकते है
जिला निर्वाचन अधिकारी डा. एसएस फुलिया ने मंगलवार को बातचीत करते हुए बताया कि इन कर्मचारियों को दो श्रेणियों में बांटा जा सकता है। एक श्रेणी उन अधिकारियों व कर्मचारियों की है जिनका वोट दूसरे जिले में पडऩे वाले विधानसभा क्षेत्र में बना हुआ है और दूसरी श्रेणी, ऐसे कर्मचारियों व अधिकारियों की है जिनकी ड्यूटी उसी जिला में है जिस जिला में उनका वोट बना हुआ है परंतु वह वोट उस विधानसभा क्षेत्र में नही है जहां उसकी ड्यूटी लगी हुई है बल्कि जिला की दूसरी विधानसभा क्षेत्र में है। उन्होंने कहा कि जिन अधिकारियों व कर्मचारियों का वोट दूसरे जिला के विधानसभा क्षेत्र में है, वे अपनी ड्यूटी वाले जिला के चुनाव कार्यालय से फार्म नंबर-12 लेकर उसमें जानकारी भरकर उस विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी के पास भेजेंगे जहां पर अधिकारी या कर्मचारी का वोट बना हुआ है।
उन्होंने कहा कि फार्म नंबर-12 के साथ कर्मचारी को अपने विभागीय पहचान पत्र की प्रति संलग्न करनी होगी। इसके बाद उस अधिकारी अथवा कर्मचारी के पास रिटर्निंग अधिकारी द्वारा पोस्टल बैलेट पेपर डाक के माध्यम से भेजा जाएगा। इस पोस्टल बैलेट पेपर पर उस क्षेत्र में चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों के नाम व चुनाव चिन्ह आदि छपे होंगे। वह अधिकारी अथवा कर्मचारी पोस्टल बैलेट पेपर पर अपनी पसंद अनुसार उम्मीदवार के नाम के सामने वाले चिन्ह पर रिटर्निंग अधिकारी से ऐरोक्रास मोहर लेकर लगा दे या वह अपने पैन से भी चुनाव चिन्ह पर टिक कर दे। इस पोस्टल बैलेट पेपर के साथ निर्देशिका व घोषणा पत्र भी संलग्न होगा जिस पर ऑफिस हैड के हस्ताक्षर होंगे। इसके बाद इस पोस्टल बैलेट पेपर को ऑफिस हेड के साइन वाले घोषणा पत्र के साथ संलग्न करके डाक द्वारा वापिस उसी विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी के पास भेजना होगा, जहां पर वोट बना हुआ है। यह बैलेट पेपर मतगणना से पहले रिटर्निंग अधिकारी के पास पहुंच जाना चाहिए। यह पूरी प्रकिया उम्मीदवारों की सूची फाइनल होने व उन्हें चुनाव चिन्ह आबंटित होने के बाद शुरू होगी।
उन्होंने कहा कि दूसरी श्रेणी उन अधिकारियों व कर्मचारियों की है, जिनकी ड्यूटी जिला मे ही किसी एक विधानसभा क्षेत्र में लगी होगी जबकि उनका वोट जिला की दूसरी विधानसभा क्षेत्र में बना है। ऐसे अधिकारी व कर्मचारी जिला इलेक्शन ऑफिस में फार्म नंबर-12 भरकर उसके साथ अपने विभागीय पहचान पत्र की प्रति संलग्न करके देंगे। इसके बाद उन्हें चुनाव कार्यालय से पोस्टल बैलेट पेपर मिलेगा जिस पर वह अपनी पसंद के उम्मीदवार के नाम के सामने वाले चुनाव चिन्ह पर निशान लगाकर जिला चुनाव कार्यालय में देगा या फिर रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय में रखे बॉक्स में डाल सकता है। फार्म नंबर-12 में मतदाता के बूथ नंबर व मतदाता सूची में नाम आदि की जानकारी होती है, जिसका मिलान चुनाव कार्यालय के रिकॉर्ड से करके उस पर निशान लगाया जाता है। ऐसा करने से एक कर्मचारी अथवा अधिकारी को केवल एक बार ही पोस्टल बैलेट मिलेगा।
बाक्स
जिला निर्वाचन अधिकारी ने किया थानेसर रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय का निरीक्षण
जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने मंगलवार को थानेसर रिटर्निंग अधिकारी कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होंने नामांकन पत्र कक्ष में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों से बातचीत करते हुए कहा कि सभी ने मेहनत और लग्न के साथ काम करना है और पूरी निष्पक्षता के साथ अपनी डयूटी का निर्वाह करना है। उन्होंने कहा कि नामांकन के दौरान अधिकारियों को आदर्श आचार संहिता के नियमों का पालना के तहत ही नामांकन प्रक्रिया को पूरा करना है।