शगनो की रात

फरीदाबाद, 30 सितम्बर। विजय रामलीला कमेटी के इतिहासिक मंच पर कल रात मनाई गई भगवान राम और सीता की शादी। मंच से इस साल राम बारात नहीं निकाली गयी बल्कि उसकी जगह एक नया कांसेप्ट दिखाया गया जिसको नाम दिया गया शगनो की रात।सर्व प्रथम ढोल बाजों के साथ राम और सीता युगल जोड़ी को कमेटी के सभी सदस्य नाचते गाते हुए मुख्य द्वार से अंदर लाये और भव्य मंच पर उन्हें बिठाया गया। राम के रोल में कमेटी के महासचिव सौरभ ओर सीता के रोल में जितेश अहूजा की दिव्यता देखते बनती थी। मुख्य अतिथि के रूप में पधारे श्री धनेश अदलखा (चेयरमैन, हरयाणा सरकार) एवं श्री गुरप्रसाद सिंह (एम.डी. अमरौक ब्रेम्स ऑटो) इस भव्य विवाह की मांगलिक बेला में शामिल हुए और स्वयं युगल जोड़ी को फूलो की चादर तले मंच तक लेकर आये । मंगल गीतों के साथ सभी पधारे दर्शकों को अवसर दिया गया कि वह मंच पर आकर माथा टेकें व अरदास कर सकें। इसके अलावा दिल्ही व मथुरा से आई रंगारंग झांकियों का प्रदर्शन किया गया। सनातन संस्कृति को बचाती विजय रामलीला कमेटी ने अपने मंच पर सनातन देवी देवताओं को झांकिओ के रूप में श्री राम विवाह में सम्मिलित कर नमन किया ! राधा कृष्ण द्वारा जल-रास सबसे मनमोहक झांकी रही। नवरात्रे का अवसर जान माँ दुर्गा की झांकी भी दिखाई गई। । खूब नाच गाने के बाद भंडारा किया गया। आज होगा इसी मंच से श्री राम को बनवास