गुरूग्राम जिला की प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक असिस्टेंट एक्सपेंडिचर आब्र्जवर लगाया गया : उपायुक्त

गुरूग्राम, 26 सिंतबर। हरियाणा विधानसभा चुनावों में आदर्श आचार संहिता की पालना सुनिश्चित करने के लिए जिला गुरूग्राम के चारों विधानसभा क्षेत्रों में असिस्टेंट एक्सपेंडिचर आब्र्जवर, एक्सपेंडिचर माॅनीटरिंग सैल, वीडियो व्यूइंग टीमों, फलाइंग स्कवायड तथा अकाउंटिंग टीमो का गठन किया गया है।
इस बारे में जानकारी देते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अमित खत्री ने बताया कि गुरूग्राम जिला की प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक असिस्टेंट एक्सपेंडिचर आब्र्जवर लगाया गया है। यह टीम जिला की चारों विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष व शान्तिपूर्ण ढंग से संपन्न करवाने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी, रिटर्निंग अधिकारी तथा एक्सपेंडिचर आब्र्जवरों का सहयोग करेंगी। पटौदी विधानसभा क्षेत्र के लिए साउथ गुरूग्राम के डीईटीसी(सैल्स), बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र के लिए ईस्ट गुरूग्राम के डीईटीसी सैल्स, गुरूग्राम विधानसभा क्षेत्र के लिए ईस्ट गुरूग्राम के डीईटीसी सैल्स तथा सोहना विधानसभा क्षेत्र के लिए वैस्ट गुरूग्राम के डीईटीसी सैल्स को असिस्टेंट एक्सपेंडिचर आब्र्जवर नियुक्त किया गया है।
उन्होंने बताया कि जिला में उम्मीदवारों द्वारा चुनाव के दौरान खर्च की जाने वाली राशि पर निगरानी रखने के लिए अलग से जिला स्तरीय एक्सपेंडिचर माॅनीटरिंग सैल भी बनाया गया है जो जिला निर्वाचन अधिकारी तथा एक्सपेंडिचर आब्र्जवर के बीच कड़ी का काम करेगा। इस टीम में जिला आबकारी एवं कराधान विभाग के चार अधिकारियों को नियुक्त किया गया है। इसके अलावा, हरियाणा विधानसभा चुनाव को निष्पक्ष ढंग से संपन्न करवाने के लिए प्रत्येक विधानसभा में नियुक्त रिटर्निंग अधिकारी के नेतृत्व में अकाउंटिंग टीमों का गठन किया गया है। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में तीन सदस्यीय अकाउंटिंग टीम गठित की गई है।
श्री खत्री ने बताया कि जिला में चारों विधानसभा क्षेत्रांे में वीडिया व्यूइंग टीमे भी गठित की गई है। प्रत्येक टीम में दो अधिकारियों के अलावा, एक वीडियोग्राफर की नियुक्ति की गई है। उन्होंने बताया कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिला की सोहना, पटौदी व गुड़गांव विधानसभा में 5-5 उड़नदस्ता टीमों का गठन किया गया है जबकि बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र में 7 उड़नदस्ता टीमें लगाई गई हैं। प्रत्येक टीम में चार सदस्यों के अलावा एक वीडियोग्राफर भी लगाया गया है। उन्होंने बताया कि जिला की प्रत्येक विधानसभा में 3-3 स्टैटिक सर्विलांस टीम अलग से गठित की गई है। प्रत्येक टीम में एक उच्च अधिकारी के अलावा, 3 अन्य सदस्य व वीडियोग्राफर की ड्यूटी लगाई गई है।