एसआरएस ग्रुप के चेयरमैन से ईडी ने जेल में की पूछताछ

फरीदाबाद : रियल एस्टेट, ज्वैलरी, सिनेमा सहित कई कारोबार से जुड़े एसआरएस ग्रुप ऑफ कंपनीज के चेयरमैन अनिल जिदल और उसके सहयोगियों से ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) के अधिकारियों ने सोमवार को जेल में करीब छह घंटे तक पूछताछ की। अनिल जिदल के अलावा एसआरएस के निदेशकों नानक चंद तायल, बिशन बंसल, विनोद कुमार गर्ग, देवेंद्र अधाना और राजेश सिगला से ईडी के सहायक जांच अधिकारी सूर्यकांत स्वर्णकार और निशांत वर्मा ने जेल अधीक्षक के कार्यालय में पूछताछ के लिए बारी-बारी बुलाया गया। यह कार्रवाई जेल उपाधीक्षक संदीप कुमार की देखरेख में हुई।

चेयरमैन अनिल जिदल से सबसे लंबी पूछताछ चली। ईडी के अधिकारी मनी लांड्रिग के मामले में सभी से 27 सितंबर तक पूछताछ करेंगे। आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी के कई मुकदमे दर्ज हैं। उन पर निवेशकों को मुनाफे का लालच करोड़ों रुपये हड़पने का आरोप है। सभी आरोपित करीब डेढ़ साल से नीमका जेल में बंद हैं। ईडी इनके खिलाफ मनी लांड्रिग की जांच कर रही है। इसके लिए ईडी के जांच अधिकारी आरोपितों के ठिकानों पर छापेमारी कर काफी रिकॉर्ड अपने कब्जे में ले चुके हैं। अब अधिकारी आरोपितों से पूछताछ कर उनके बयान दर्ज करेंगे। ईडी के अधिकारियों ने अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जेबी गुप्ता की अदालत से आरोपितों से पूछताछ की इजाजत मांगी थी। अदालत ने ईडी को जेल में ही पूछताछ की इजाजत दी।