मोटर व्हीकल एक्ट की आड़ में भाजपा सरकार ने काटी आम जनता की जेब : कृष्ण अत्री

-मोटर व्हीकल एक्ट के विरोध में एनएसयूआई ने फूंका केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का पुतला
-वाहन चालकों पर भारी जुर्माना लगाने के बजाए सरकार बनवाये जरूरी कागजात
फरीदाबाद। नये मोटर व्हीकल एक्ट में बढ़ाई गई जुर्माने की दरों और सड़कों की खस्ताहाल पर एनएसयूआई ने सोमवार को विरोध प्रदर्शन करके केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का पुतला फूंका। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि सुविधाएं देने में नाकाम प्रदेश और केंद्र सरकार अब मनमाने टैक्स लगाकर लोगों को परेशान कर रही है। इस प्रदर्शन का नेतृत्व एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने क़िया।
इस दौरान प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि नया मोटर व्हीकल एक्ट लगाकर किसान, मजदूर, गरीब परिवारों की जेब पर डाका डालने का काम इस सरकार ने किया है। उन्होंने कहा है कि संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट के तहत यातायात नियमों के उल्लंघन पर भारी जुर्माना लगाने के पीछे मकसद सड़कों पर अनुशासन कायम कर सड़क दुर्घटनाओं को रोकना नही है बल्कि सरकार की अपनी जेब भरने का काम कर रही है। अत्री ने आरोप लगाया की सड़कों की हालत खराब है। चौराहों पर ट्रैफिक लाइटें काम नहीं कर रही हैं। लोग घंटों जाम में फंस रहे हैं। प्रदेश में लोगों को किसी तरह की सुविधाएं नहीं दी जा रही है। बावजूद इसके नये मोटर व्हीकल एक्ट के नियमों का हवाला देकर पुलिस और परिवहन विभाग लोगों से मनमाना जुर्माना वसूल रहे हैं।
जबसे मोटर व्हीकल एक्ट लागू हुआ है उसके बाद से भारी जुर्माना लगाने से संबंधित कई खबरें आई हैं। गुरुग्राम में एक दोपहिया चालक पर 23,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है। वहीं एक ट्रक चालक को 59,000 रुपये का चालान थमाया गया है तथा एक ऑटो चालक पर 43000 रुपये का जुर्माना लगाया गया है।
अत्री ने कहा कि अगर सरकार की मंशा सच्च में दुर्घटना रोक कर सड़को पर अनुशासन कायम करने की है तो उसके लिए भारी जुर्माना लगाना कोई प्रावधान नही है। भारी जुर्माना लगाने के स्थान पर जागरूक अभियान चलाए तथा जिसपर भी यातायात के नियम का उल्लंघन करने पर जुर्माना लगता है उससे भारी जुर्माना ना लेकर जो कागजात उसके पास नही है उन्हें सरकार बनवाकर दे तथा जो खर्च लगता है उसे उल्लंघन करने वाले से ही वसूला जाए ताकि भविष्य में दुबारा ऐसी समस्या का सामना ना करना पड़े और दुर्घटना रोकने के लिए सरकार को रोड दुरुस्त करने होंगे तथा यातायात की व्यवस्था को सुधारना होगा तभी जाकर सड़कों पर अनुशासन कायम कर सड़क दुर्घटनाओं को रोका जा सकेगा।
इस मौके पर नेहरु कॉलेज अध्यक्ष मोहित त्यागी, डीएवी के पूर्व अध्यक्ष कृष्ण शर्मा, आईएमटी कॉलेज पूर्व अध्यक्ष महिंद्र सिंह, छात्रनेता कुणाल अधाना, सी बी वशिष्ठ, डेविड, दुर्गेश दुग्गल, अमन पंडित, हेमंत, सोनू, राहुल, धर्मेंद्र, परवेज खान, सागर, शुभम, ओमवीर, हामिद, करण, अभिषेक, संस्कार, राहुल, विजय, रोशन लाल, धीरज, अमन, रहमान, प्रशांत कुमार, राजा आदि मौजूद थे।