पाराशर ने 400 वकीलों को बांटी लेटेस्ट एक्ट की किताबें

फरीदाबाद, 18 सितम्बर। लगभग डेढ़ साल में मैं लगातार सातवीं बार युवा वकीलों को कानूनी किताबें बाँट रहा हूँ और आगे भी युवा वकीलों की मदद जारी रहेगी। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक संघर्ष समिति के प्रधान एडवोकेट एलएन पाराशर का जिन्होंने बुधवार फरीदाबाद के लगभग 400 युवा वकीलों को लेटेस्ट अमेन्डमेंट्स न्यू एक्टस की किताब नि:शुल्क प्रधान किया। वकील पाराशर ने बताया कि इस किताब में 2019 में संसोधित हुए लेटेक्ट ऐक्ट की पूरी जानकारी है। उन्होंने बताया कि इस किताब में नये मोटर व्हीकल एक्ट 2019, मुस्लिम वूमैन एक्ट 2019, राईट टू इंनफोरसमेंट एक्ट 2019, जम्मू एंड कश्मीर रीओर्गेनाइजेषन एक्ट 2019, सुप्रीम कोर्ट अमेन्डमेंट एक्ट 2019, नेशनल मेडिकल कमीशन एक्ट 2019 सहित 21 प्रकार के एक्ट हैं जिनमें अब तक जो भी अमेन्डमेंट हुए हैं का वर्णन है, इससे युवा वकील लेटेस्टे लॉं पढक़र कोर्ट में अपना पक्ष बिना आसानी से रख सकते हैं।उन्होंने बताया कि युवा वकील जब अदालत में प्रैक्टिस करने पहुँचते हैं तो उनकी आय न के बराबर होती है और ऐसे समय में उन्हें मदद की जरूरत होती है इसलिए मैं उनकी कई तरह की मदद करने का प्रयास करता हूँ। उन्होंने बताया कि पिछले साल से ही मैं युवा वकीलों के लिए जज बनने की नि:शुल्क कोचिंग दिलवा रहा हूँ और उन्हें तरह-तरह की किताबें नि:शुल्क दे रहा हूँ। उन्होंने कहा कि आगे भी न्यायिक सुधार संघर्ष समिति ऐसे सहायता अभियान जारी रखेगी जिससे युवा वकील निराश न हों। उन्होंने कहा कि मैंने देखा है कि हर साल दर्जनों वकील इस कारण प्रैक्टिस छोड़ देते हैं क्यू कि आय न होने से वो निराश हो जाते हैं। यही सब देख मैंने युवा वकीलों की मदद करने का फैसला किया। इस मौके पर एडवोकेट कंवर सिंह तंवर, एडवोकेट हितेश पाराशर, एडवोकेट विश्वेन्द्र अत्री, एडवोकेट लोकेश पराशर, एडवोकेट सचिन पाराशर, एडवोकेट एनएस मान, एडवोकेट कंवर संजीव ठाकुर , एडवोकेट विकास शर्मा, एडवोकेट दीपिका धर्मा, एडवोकेट ब्रिज मोहन, एडवोकेट कुलदीप नागर, एडवोकेट बीडी कौशिक, निशांत नगर, सुमित नगर आदि मौजूद थे।