निजी और सरकारी स्कूलों के सभी बच्चों को खिलानी होंगी कृमि संक्रमण रोकने की दवा:फुलिया

निजी और सरकारी स्कूलों के सभी बच्चों को खिलानी होंगी कृमि संक्रमण रोकने की दवा:फुलिया
2 लाख 49 हजार 422 से ज्यादा बच्चों को 8 व 20 अगस्त को खिलाई जाएगी एलबैंडाजॉल की गोली, 964 से ज्यादा स्कूलों में पहुंचेंगी टीमे, 1 से 19 साल तक के बच्चों को दी जाएगी कृमि संक्रमण को रोकने की दवा, उपायुक्त ने राष्टï्रीय कृमि मुक्ति दिवस को लेकर दी अधिकारियों की बैठक
कुरुक्षेत्र 1 अगस्त उपायुक्त डा. एसएस फुलिया ने कहा कि कुरुक्षेत्र जिले के सभी निजी और सरकारी 964 शिक्षण संस्थानों में 1 से 19 वर्ष तक के लगभग 2 लाख 49 हजार 422 बच्चों को कृमि संक्रमण को रोकने एलबैंडाजॉल दवा खिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इतना ही नहीं जो बच्चे पंजीकृत नहीं है उन बच्चों को भी डोर टू डोर, बस्तियों आदि जगहों पर सर्वे करके दवा खिलाने का काम किया जाएगा। इस कार्य को एक सेवा के रुप में लेकर चलना होगा और सभी को मेहनत और ईमानदारी के साथ अपनी डयूटी का निर्वाह करना होगा। अहम पहलू यह है कि 8 अगस्त को राष्टï्रीय कृमि मुक्ति दिवस और 20 अगस्त को मॉपअप दिवस पर यह गोलिया खिलाई जाएंगी।
वे वीरवार को लघु सचिवालय के सभागार में राष्टï्रीय कृमि मुक्ति दिवस को लेकर स्वास्थ्य व महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की एक संयुक्त बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। इससे पहले स्वास्थ्य विभाग की तरफ से विनय ने पॉवर प्रेजेंटशन के जरिए 8 व 20 अगस्त को राष्टï्रीय कृमि मुक्ति दिवस को लेकर तैयार किए प्लान और बच्चों को किस प्रकार एलबैंडाजॉल की गोलिया खिलाई जानी है और किस प्रकार बच्चों और अभिभावकों को जागरुक करके अपने लक्ष्य को पूरा किया जाना है, के बारे में विस्तार से जानकारी मुहैया करवाई। इस फीडबैक के बाद उपायुक्त डा. एसएस फुलिया नेे कहा कि राष्टï्रीय कृमि मुक्ति दिवस 8 अगस्त को मनाया जा रहा है। इस दिवस पर जिले के सभी पंजीकृत और गैर पंजीकृत बच्चों को एलबैंडाजॉल की गोलिया खिलाने के लक्ष्य को हर कीमत पर पूरा करना है। इस 8 अगस्त को जो बच्चे गोलियां खाने से वंचित रह जाए, उन बच्चों को 20 अगस्त के दिन गोलियां खिलाई जाए ताकि कोई भी बच्चा गोली खाए बिना ना रह जाए।
उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी प्राईवेट और निजी स्कूलों में निर्धारित तिथियों पर बच्चों को एजबैंडाजॉल की गोलियां खिलाना सुनिश्चित करवाए और जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी सरपंचों को आदेश जारी करे सभी सरपंच और पंच अपने-अपने गांवों के स्कूलों में जाकर यह सुनिश्चित करवाएं कि कोई बच्चा गोली खाने से वंचित न रहा हो। उन्होंने कहा कि इस मामले में प्राईवेट स्कूल का केवल 43 प्रतिशत लक्ष्य ही पूरा हो रहा था, लेकिन इस बार इसको 100 फीसदी पूरा करना है। इसके अलावा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी आंगनवाड़ी केन्द्रों पर बच्चों को ऐहतियात के साथ गोलियां खिलवाना सुनिश्चित करेंगे। इस अभियान के लिए गठित की गई टीमों के कर्मचारियों व अधिकारियों को अपने पहचान पत्र साथ रखने होंगे ताकि कर्मचारी की पहचान सहजता से हो सके। इस मौके पर डीएसपी अजय राणा, डिप्टी सीएमओ डा. एनपी सिंह, डा. संदीप अग्रवाल, डा. अनुपमा सैनी, महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी नीना कपूर सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।