प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों से एसडीएम सतबीर मान ने ज्ञापन लेकर सूबे की सरकार तक पहुंचाने का आश्वासन दिया: हरियाणा कर्मचारी महासंघ ।

फरीदाबाद/02/08/2019/आज जिले के अलग अलग विभागों से आये कर्मचारी टाउन पार्क सेक्टर 12 में इकट्ठे होकर प्रदेश सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुए सड़क से पैदल मार्च कर लघु सचिवालय पहुँच कर अपना विरोध जताया । कर्मचारियों के इस विरोध प्रदर्शन की अध्यक्षता हरियाणा कर्मचारी महासंघ के जिला चेयरमैन सुनील खटाना ने की जिसमे मंच का सफल संचालन जिला उपप्रधान सन्तराम लाम्बा ने किया व काफी देर तक सरकार के खिलाफ कर्मचारी नारेबाजी के माध्यम से अपनी भड़ास निकाली । कर्मचारियों के रोष को देखते हुए पहले से ही भारी पुलिस बल तैनात था । नारेबाजी व विरोध प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों से एसडीएम सतबीर मान ने ज्ञापन लेकर आश्वस्त किया और कहा कि आपके माँगपत्र को प्रदेश के मुख्यमंत्री तक पहुंच दिया जायेगा व सभी प्रतिलिपि सरकार तक पहुंचाई जाएगी । बिजली विभाग कर्मचारियों की तरफ से ओल्ड फरीदाबाद के प्रधान लेखराज चौधरी ने बताया कि सत्तासीन सरकार शुरू से कर्मचारी विरोधी चरित्र दर्शाती आई है । जिसने हरियाणा कर्मचारी महासंघ के शीर्ष नेतृत्व के कर्मचारी नेताओं से 20 जुलाई 2019 को सरकार के न्यौते पर बैठक के माध्यम से अनेकों मुद्दों पर काफी देर तक बातचीत हुई और बातचीत का दौर लम्बा खींचा जिसमे कर्मचारियों की अहम माँगों पर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने अपनी सहमति जाहिर करते हुए उन्हें शीघ्रता से लागू करने का आश्वासन प्रादेशिक कर्मचारी नेताओं को दिया और भरोसा दिलाया कि कर्मचारी हित के लिये सरकार सरोपरि है और रहेगी । लेकिन सरकार के साथ बैठक में हुए समझौतों पर अभी तक लगभग दो हफ्ते बीत जाने को हैं जिन्हें सरकार लागू ना करके कर्मचारियों के हितों का हनन कर रही है इससे यह प्रतीत हो रहा है कि सरकार कितनी गम्भीर नजर आ रही है कर्मचारियों के मुद्दों को लेकर । इसी आक्रोश के चलते कर्मचारियों ने आन्दोलन का बिगुल फूँक दिया है । सुनील खटाना ने बताया कि हरियाणा कर्मचारी महासंघ की मुख्यमंत्री के साथ जिन मुद्दों को लेकर बैठक हुई उनमे समान काम समान वेतनमान दाम, एक्सग्रेसिया पॉलिसी पुनः लागू करना, 16 अक्तूबर से 2 नवम्बर 2018 तक रोडवेज परिवहन की हड़ताल अवधि को अवकाश में परिवर्तित करते हुए उत्पीड़न की कार्यवाही व एस्मा कानून के तहत कार्यवाही को समाप्त करना, बिजली विभाग कर्मियों को फ्री यूनिट एलाउंस 160 से बढ़ाकर 1000 यूनिट तक किया जाना, मैडिकल कैशलेस, जोखिम कार्यों के विपरीत जोखिम भत्ता, जनवरी 2004 से लागू की हुई एनपीएस यानी न्यू पेन्शन स्कीम के बदले पुरानी पेन्शन नीति की बहाली, विभागों में फिलहाल कार्यरत कच्चे कर्मचारियों को पोलिसी बनाकर पक्का पद करने, बोर्डों निगमों व कॉर्पोरेशन में ठेकेदारी प्रथा पर पूर्णतः प्रतिबन्धित करना, सातवें वेतन आयोग के अनुसार सभी लाभ देना, रोडवेज परिवहन विभाग में किलोमीटर स्किम प्रक्रिया की विशेष जाँच गठित कर निरस्त करना, प्रदेश के सैकड़ों ऐसे विभाग जिनमे कर्मचारी पद खाली हैं उन्हें उनकी पक्की रोजगार भर्ती प्रकिया से भरना, नगर निगमों, पालिकाओं व परिषदों में धरातल आंकड़ों अनुसार कर्मचारियों की पक्की भर्ती प्रक्रिया से कर्मी स्थापित करने, ठेकेदारों के मार्फ़त विभागों को लूटने की टेन्डर प्रक्रिया पर रोक लगाना, सभी कच्चे कर्मियों को बिना शर्त पक्का करना, आदि अनेकों सूत्रीय मुद्दों पर सूबे की सरकार ने जनमानस व कर्मचारी हित मे माना और शीघ्रता से लागू करने पर नेताओं को आश्वस्त किया । इन्ही गम्भीर माँगों के जारी न करने से खफा कर्मचारी वर्ग हताश व आंदोलित है । कर्मचारी नेता कर्मबीर यादव का कहना है कि कर्मचारी महासंघ के साथ सहमति बनी जायज सभी माँगों को तीव्रता से लागू करें ना कि कर्मचारियों से वायदाखिलाफी करे । आगामी समय चुनावी माहौल में तब्दील होने को जा रहा है । कहीं सरकार को प्रदेश के लाखों कर्मचारियों के गुस्से का सामना ना करना पड़े जो कि निन्दनीय होगा । अपने वक्तव्य में जनस्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी नेता योगेश शर्मा ने कहा कि हरियाणे का कर्मचारी सरकार से भीख नही माँग रहे अपना जायज हक माँग रहे हैं जिसके वो हकदार कहलाते हैं । उनके हकों पर डाका डालने का काम ना करे सरकार तथा मान सम्मान को ठेस ना पहुंचाये । आबकारी व कराधान विभाग के प्रधान दयानन्द पांचाल ने अपने संबोधन में कहा कर्मचारी वर्ग मेहनतकश कमेरा वर्ग है इसका शोषण किया जाना बर्दाश्त नही करेंगे इसके लिये हम हर लड़ाई लड़ने को तैयार हैं । विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम के इस अवसर पर सुरेन्द्र कौशिक, सुधीर, सियाराम, मुकेश, यशपाल, बिसनदेव, हरीश, सुरेश, ओमप्रकाश, मदन गोपाल, नवीन, जिले सिंह, नरेश, राजेश, आजाद सिंह, मुकेश, प्रेम, पवन, लाल सिंह, सुखा सिंह आदि कर्मचारी नेता सहित सैकड़ों कर्मचारी प्रदर्शन में शामिल रहे ।