शहर की सबसे पुरानी रामलीला का भूमि पूजन सम्पन्न

फरीदाबाद,10 सितंबर। शहर की 68 वर्ष पुरानी, एक नम्बर मार्किट स्थित, विजय रामलीला कमेटी के वार्षिक रामायण मंच की तैयारियाँ बड़े ज़ोरो शोरो से लग भग पिछले 2 महीने से चल रही हैं । कहीं एक ओर मथुरा के कारीगर नए तरीके से कलात्मक पर्दो में रंग भर रहे हैं तो कहीं कमेटी के युवा कौशल्या और राम की भूमिका में बनवास की रिहर्सल कर रहे हैं । संस्था के सदस्यों में उत्साह की लहर है ओर सभी श्री राम की जीवन लीला दर्शाने के इस पावन पर्व में अपने अपने हिस्से की सेवा दे रहे हैं ।कमेटी के इस वर्ष लिए बड़े निर्णय -1. मंच पर जहाँ आज तक लडक़े ही महिला पात्र निभाया करते थे वहाँ इस बार लड़कियां महिला पात्रों को अदा करेंगी ।2. प्रथम दिन एक भव्य महा दृश्य दिखाया जाएगा जिसमे रावण द्वारा कैलाश उठाने की तैयारी चल रही है ओर रावण शिव तांडव स्त्रोत की रचना करते दिखेंगे, इसी दृश्य में सीता पूर्व जन्म में वेदवती रूप में होंगी और रावण को श्राप देंगी ।&. राम ओर सीता के विवाह के उप्लक्ष में दिल्ली, मथुरा ओर कई शहरों से गाने बजाने वाले, झांकी प्रदर्शन वाले एवं, शहनाई वादक भी नजऱ आयेंगे । विजय रामलीला कमेटी में 8 सितंबर 2019 को सम्प्पन हुआ भूमि पूजन और मंच बाँधने की तैयारी शुरू । कमेटी के चेयरमैन का कहना है की इस बार के वार्षिक कार्यक्रम में बजट लगभग 2 लाख रूपये बढ़ाया गया है, मंच पर नै एल.ई.डी. लाइट्स एवं सजावट के सामान में बढ़ोतरी हुई है । निर्देशक सुरिंदर सर्राफ और सेह निर्देशक अशोक नागपाल सीन सीनरी व महिला पात्रो को तैयार करने में विशेष ध्यान दे रहे हैं । महा सचिव सौरभ कुमार ने विशेष रूप से चल रही तैयारियों पर प्रकाश डालते हुए बतलाया की राम जन्म व बनवास के नए दृश्य भी इस साल रामलीला में जोड़े गए हैं जिसके लिए लीला में एक दिन फ़ालतू बढ़ाया गया है । ऐसे रोमांच और उत्साह से भरी यह संस्था लगी है एक जुट हो रामायण मंच की तैयारियों में ।