पुलिस की लापरवाही के चलते हुई नाबालिग बेटी की हत्या : ललित नागर

फरीदाबाद,10 सितंबर। भारत कालोनी से 10 दिनों से लापता नाबालिग लडक़ी निकिता का शव आज गांव कबूलपुर स्थित कैप्टन फार्म हाऊस के सामने यमुना किनारे से बरामद होने पर तिगांव के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने कानून व्यवस्था पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि पुलिस अधिकारियों की लापरवाही के चलते एक बेटी की जान चली गई। इस बेटी का पिता अजब सिंह नागर एसएचओ से लेकर डीसीपी तक प्रतिदिन अपनी बेटी को ढूंढने के लिए गुहार लगाता रहा, उन्हें सबूत तक देता रहा परंतु पुलिस सोई रही और आज उस बेटी का शव फार्म हाऊस से बरामद हुआ है। नागर ने घटनास्थल पर पहुंचकर पीडि़त पिता को सांत्वना देते हुए कहा कि उन्होंने खुद एसएचओ से लेकर डीसीपी तक कई-कई फोन करके इस मामले में उचित कार्यवाही की मांग की परंतु पुलिस पीडि़त पिता को दुत्कार कर भगा देती थी और कहती थी कि और सबूत लाओ, जबकि मृतका के पिता ने &0 अगस्त को ही सीसीटीवी फुटेज के साथ-साथ कार का नंबर व आरोपी का नाम तक दे दिया था परंतु फिर भी पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की। उन्होंने कहा कि एक तरफ भाजपा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देती है और जब कोई बेटी लापता हो जाती है तो उसे ढूंढने के नाम पर पुलिस वाले पीडि़त परिवार की भावनाओं से खेलते है क्या यही मनोहर सरकार का कानून है। श्री नागर ने कहा कि इस घटना ने फरीदाबाद पुलिस की कार्यवाही की कलई पूरी तरह से खुल गई, अगर पुलिस इस मामले को गंभीरता से लेती तो यह हत्या नहीं होती, इस घटना के लिए हत्यारों के साथ-साथ एसएचओ खेडी थाना, जांच अधिकारी श्रीराम पूरी तरह से दोषी है। उन्होंने कहा कि वह स्वयं इस मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल एवं पुलिस महानिदेशक मनोज यादव से हत्यारोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग करेंगे तथा थाना खेड़ीपुल एसएचओ व जांच अधिकारी श्रीराम को तुरंत निलंबित किया जाए। अगर पीडि़त परिवार को सरकार व डीजीपी ने जल्द ही न्याय नहीं दिलाया तो वह स्वयं परिवार के साथ सेक्टर-21 स्थित कमिश्रर कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे।