जागरुकता की घुट्टी के साथ चालान की कड़वी दवा भी पिलाई

फरीदाबाद: मोटर-यान अधिनियम 2019 लागू होने के बाद फरीदाबाद पुलिस ने तय किया था कि चालान करने के साथ ही वाहन चालकों को नए नियमों के प्रति जागरूक भी करेंगे। छठे दिन पुलिस ने स्ट्रेटजी में थोड़ा बदलाव किया। पुलिस ने जागरुकता की घुट्टी की मात्रा बढ़ा दी है, वहीं चालान की कड़वी दवा अपेक्षाकृत कम पिलाई। पुलिस की कोशिश रही कि लोगों को नए नियमों के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी दी जाए। इस दौरान जो लोग खतरनाक तरीके से वाहन चलाते मिले उनके चालान भी किए गए।

मोटर-यान अधिनियम 2019 लागू होने के बाद रोजाना औसतन 500 चालान किए जा रहे थे। शुक्रवार को लगभग 300 चालान हुए। इनमें सबसे अधिक चालान बिना हेलमेट दोपहिया वाहन चलाने व खतरनाक तरीके से वाहन चलाने के हुए। शुक्रवार को जिले के विभिन्न प्रमुख चौराहों पर पुलिसकर्मी हाथों में तख्तियां लेकर लोगों को नए नियमों की जानकारी देते नजर आए। नियमों के प्रति संजीदा नजर आए लोग :

अधिनियम लागू होने के बाद सड़कों पर अब लोग संजीदा नजर आ रहे हैं। सड़कों पर हेलमेट लगाए दोपहिया वाहन चालकों की संख्या बढ़ गई है। अजरोंदा चौक पर आमतौर पर वाहन चालक लाल बत्ती होने पर जेब्रा क्रॉसिग के आगे खड़े दिखते थे, मगर अब लोग जेब्रा क्रॉसिग का पालन करते दिखे। इसके अलावा चौराहों पर लाल बत्ती के बावजूद वाहन निकालने वाले चालकों की संख्या में भी कमी आई है। पहले दिन से ही हमारी कोशिश है कि लोगों को नए नियमों के प्रति जागरूक किया जाए। लेकिन जो लोग नियमों को लेकर बिल्कुल बेपरवाह हैं, खतरनाक तरीके से वाहन चलाते मिले, उनके चालान किए गए हैं।