प्रतियोगिताओं से बच्चों में होता है प्रतिभाओं का निखार = वरुण सिंगला*

*प्रतियोगिताओं से बच्चों में होता है प्रतिभाओं का निखार = वरुण सिंगला*

*बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतियोगिताओं का होना जरूरी है=पुलिस अधीक्षक*

*बाल महोत्सव प्रतियोगिताओं के तीसरे दिन बच्चों ने दिखाया अपनी प्रतिभाओं का हुनर।*

नूंह।
हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद चंडीगढ़ की जिला शाखा नूंह द्वारा तीसरे दिन बाल महोत्सव प्रतियोगिताओं का शुभारंभ श्री वरुण सिंगला पुलिस अधीक्षक नूंह द्वारा दीप प्रज्वलित करके किया। मुख्य अतिथि का स्वागत जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री ,वरिष्ठ समाजसेवी जीएस मलिक, प्रधानाचार्य सुशील कन्वा, बाल कल्याण समिति के चेयरमैन राजेश, जिला नाजर सुभाष ने फूलों का गुलदस्ता एवं फूलमालाओं से किया।
श्री वरुण सिंगला जी ने कहा कि बाल कल्याण परिषद नूंह द्वारा करवाई जा रही प्रतियोगिताओं से बच्चों का सर्वांगीण विकास वह प्रतिभाओं का निखार होता है। और बच्चों का उत्साह वर्धन करते हुए कहा कि प्रतिभागी का प्रथम, द्वितीय आना महत्वपूर्ण है। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण प्रतियोगिताओं में भाग लेना है। और प्रतियोगिताओं के दौर में बाल कल्याण विभाग जो कार्य कर रहा है वह सराहनीय है।
कमलेश शास्त्री जिला बाल कल्याण अधिकारी ने बताया कि आज देशभक्ति समूह गान, फन गेम, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता ,भाषण प्रतियोगिता में लगभग 35 स्कूलों के 450 बच्चों एवं अध्यापकगण व अभिभावक गणों ने शिरकत की। मंच का संचालन श्री अशरफ मेवाती ने बखूबी निभाया।
इस अवसर पर निर्णायक मंडल की भूमिका अध्यापकों में बखूबी निभाया। श्रीमती सविता रत्ता प्राध्यापक हिंदी, मंजू रानी हिंदी प्राध्यापिका, कमलेश रानी हिंदी प्राध्यापिका, रश्मि अंग्रेजी प्राध्यापिका, अलका अध्यापिका, रवि शंकर प्राध्यापक, रामकिशोर अंग्रेजी प्राध्यापक, इत्यादि बाल भवन के कार्यक्रम सुपरवाइजर लोकेश कुमार, लोकेंद्र कुमार ,दीपक, मुकेश ,आशा ,ज्योति, एकता इत्यादि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।