हरियाणा सरकार की मुख्य गतिविधियां एवं उनसे जुड़े समाचार।

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के नतीजे जारी

स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में ओवरऑल प्रोग्रेस में हरियाणा देश के टॉप 5 राज्यों में शामिल

पिछले स्वच्छता सर्वेक्षण में हरियाणा का था आठवाँ स्थान

स्वच्छता सर्वेक्षण 2022: टॉप 100 शहरों में गुरुग्राम, रोहतक, करनाल, पंचकूला व अंबाला शामिल

स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में धारूहेडा और बवानी खेड़ा को फास्ट मूविंग सिटी का अवार्ड

कैंटोनमेंट बोर्ड आधारित रैंकिंग में हरियाणा का अंबाला कैंट 25वें रैंक पर

चंडीगढ़, 2 अक्तूबर – बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क।
नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत जारी हुए स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में ओवरऑल प्रोग्रेस में हरियाणा देश के टॉप 5 राज्यों में शामिल हो गया है। 2021 की तुलना में हरियाणा की परफार्मेंस में काफी सुधार हुआ है। पिछले स्वच्छता सर्वेक्षण में हरियाणा 8वें स्थान पर था। स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में टॉप 100 शहरों में गुरुग्राम, रोहतक, करनाल, पंचकूला व अंबाला शामिल हैं। वहीं धारूहेडा को (25,000-50,000 जनसंख्या) और बवानी खेड़ा को (15,000-25,000 जनसंख्या) में फास्ट मूविंग सिटी का अवार्ड मिला है। है। कैंटोनमेंट बोर्ड आधारित रैंकिंग में हरियाणा का अंबाला कैंट 25वें स्थान पर है।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा सरकार स्वच्छता को लेकर गंभीर है। मुख्यमंत्री की सोच है कि शहर और गांव को स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति का जागरूक होना जरूरी है। जब प्रत्येक व्यक्ति सफाई का महत्व समझने लगेगा और अपने आस-पास सफाई का ध्यान रखेगा तो हमारे गली-मोहल्ले, गांव-शहर, देश-प्रदेश भी स्वच्छता की ओर बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि स्वच्छता समाज की सबसे बड़ी जरूरत है और सभी के सहयोग से ही स्वच्छ हरियाणा, स्वच्छ भारत का सपना साकार हो सकता है।

उल्लेखनीय है कि हरियाणा सरकार द्वारा समय-समय स्वच्छता को लेकर जागरूता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं और विभिन्न सरकारी कार्यालयों, नगर निगम और नगर पालिका क्षेत्रों में स्वच्छता को लेकर लगातार निगरानी की जा रही है। इसी का नतीजा है कि प्रदेश में लगातार स्वच्छता के स्तर में सुधार हो रहा है।

 

करनाल के मंदीप सिंह चौहान को रजत कमल से नवाज़ा गया

नेशनल फ़िल्म अवॉर्ड्स में राष्ट्रपति ने दिया पुरस्कार

मुख्यमंत्री ने मनदीप सिंह चौहान को इस उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए दी बधाई

चंडीगढ़, 1 अक्तूबर – 68वें नेशनल फिल्म अवार्ड वितरण समारोह में आज करनाल निवासी मंदीप सिंह चौहान को उनके द्वारा निर्मित डॉक्यूमेंट्री फिल्म के लिए राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुरमू ने रजत कमल पुरस्कार से सम्मानित किया। फिल्म निर्माता मंदीप सिंह चौहान को यह सम्मान उनकी लघु फिल्म ‘जस्टिस डिलेड बट डिलीवर्ड’ के लिए दिया गया। नॉन फीचर फिल्म श्रेणी में यह फिल्म राष्ट्रीय स्तर पर सर्वश्रेष्ठ फिल्म के रूप में चयनित की गई थी। मंदीप सिंह चौहान के साथ फिल्म के निर्देशक मुंबई निवासी कामाख्या नारायण सिंह को भी राष्ट्रपति महोदया ने सम्मानित किया।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने श्री मनदीप सिंह चौहान को इस उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की डॉक्यूमेंट्री फिल्में समाज को दिशा देने का काम करती हैं।

उल्लेखनीय है की 2020 के नेशनल फिल्म अवार्ड सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा हाल ही में घोषित किए गए थे और नई दिल्ली के विज्ञान भवन मैं आयोजित एक गरिमा पूर्ण समारोह में आज यह पुरस्कार वितरित किए गए। इसी समारोह में देश का फिल्म जगत का सर्वोत्कृष्ट पुरस्कार दादा साहब फालके अवॉर्ड प्रख्यात अभिनेत्री आशा पारेख को प्रदान किया गया।

नेशनल फिल्म अवार्ड प्राप्त करने वाले मंदीप सिंह चौहान मूलतः जिले के गोंदर गांव से संबंध रखते हैं। उनके बड़े भाई डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और निदेशक हैं। मनदीप सिंह चौहान ‘बॉलीवुड में हिंदी’ सहित कई चर्चित डॉक्युमेंट्री फिल्म्स के सहायक निर्माता के रूप में कार्य करने के कई क्षेत्रीय व राष्ट्रीय समाचार चैनलों के साथ जुड़े रहे हैं।

क्या है पुरस्कृत फिल्म की विषय-वस्तु ?

हिंदी में निर्मित ‘जस्टिस डिलेड बट डिलीवर्ड’ डॉक्यूमेंट्री फिल्म जम्मू कश्मीर में संविधान के अब समाप्त हो चुके अनुच्छेद 35 ए के काले प्रावधानों के कारण वहां के वाल्मीकि समुदाय के साथ दशकों तक हुए अमानवीय अत्याचारों की दास्तान है। फिल्म राधिका गिल नामक एक जुझारू लड़की की दास्तान है मगर इसमें राधिका जैसे हजारों कश्मीरी हिंदुओं का दर्द वर्णित है। जम्मू कश्मीर मामलों पर वर्षों तक लेखन करते रहे डॉ. वीरेंद्र सिंह चौहान बताते हैं कि अनुच्छेद 370 के संशोधन और 35ए के उन्मूलन ने राधिका जैसे लाखों लोगों के जीवन में नई रोशनी का संचार किया। उन्होंने कहा कि चोरी छुपे जोड़े गए अनुच्छेद 35ए के कारण राधिका गिल सहित वहां के वाल्मीकि समुदाय के लोगों को चुनाव लड़ने का अधिकार तो दूर की बात सरकारी नौकरियों के लिए आवेदन करने का अधिकार भी नहीं था। यह काला अनुच्छेद उन्हें केवल और केवल सफाई कर्मचारी बनने की इजाजत देता था।

 

पंचकूला में द गवर्नेंसचैलेंज (टीजीसी) के फाइनलराउंड सम्मेलन का हुआ आयोजन

टीजीसी के फाइनलराउंड में 6 टीमों ने मुख्यमंत्री के सामने प्रस्तुत किए समाधान

मुख्यमंत्री ने विजेता टीम को 5 लाख रुपये की राशि का चेक देकर किया सम्मानित

हरियाणा सरकार ने व्यवस्था परिवर्तन के अनेक कार्य किए और अन्य राज्य भी इनका अनुसरण कर रहे हैं – मनोहर लाल

चंडीगढ़, 1 अक्तूबर – पंचकूला में पीडब्ल्यूडी विश्राम गृह में द गवर्नेंसचैलेंज (टीजीसी) के फाइनलराउंड सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें 6 फाइनलिस्ट टीमों ने हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के सामने अपने समाधान प्रस्तुत किए।

टीजीसी सम्मेलन में एनएमआईएमएस मुंबई टीजीसी 2022 के पहले संस्करण की विजेता बनी। मुख्यमंत्री ने विजेता टीम को ट्रॉफी, सर्टिफिकेट और 5 लाख रुपये की राशि का चैक देकर उनको स्ममानित किया। इसी प्रकार, दूसरे स्थान पर रही आईआईएमबैंगलोर की टीम को ट्रॉफी, सर्टिफिकेट और 3 लाख रुपये की राशि का चैक तथा तृतीय स्थान पर रही आईआईएमकोझीकोड की टीम को ट्रॉफी, सर्टिफिकेट और 1 लाख रुपये की राशि का चैक मुख्यमंत्री ने सौंपा।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि इस प्रकार का कार्यक्रम न केवल हरियाणा बल्कि अन्य राज्यों, देश व दुनिया के लिए भी अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि आज गवर्नेंस एक व्यापक विषय बन चुका है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में जब उन्होंने मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी तब यह कहा जाता था कि उन्हें मुख्यमंत्री के कार्य का अनुभव नहीं है। श्री मनोहर लाल ने कहा कि हमें जनता की भलाई करने का, सुविधाजनक सिस्टम बनाने का अनुभव अवश्य था। उसी वर्ष 25 दिसंबर को सुशासन दिवस के रूप में मनाने का संकल्प लिया और एक नई पहल करते हुए सीएमविंडो की शुरुआत की। जिसके आज सकारात्मक परिणाम आ रहे हैं। पिछले 8 वर्षों में सीएमविंडो पर लगभग 10 लाख से अधिक शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमें से 90 प्रतिशत शिकायतों का समाधान हुआ है। अब आमजन अपनी समस्याओं को घर बैठे ही केवल ऑनलाइन सिस्टम के माध्यम से अपनी बात सरकार तक पहुंचा सकता है।

पिछले 8 सालों में राज्य सरकार ने व्यवस्था परिवर्तन के 100 से अधिक कार्य किये

मुख्यमंत्री ने कहा कि अध्यापकों की सुविधा के लिए भी एक बड़ा कदम उठाते हुए ऑनलाइन अध्यापक स्थानांतरण नीति की भी हरियाणा ने शुरुआत की, जिसका अनुसरण आज अन्य राज्य भी कर रहे हैं। इस प्रकार, पिछले 8 सालों में राज्य सरकार ने व्यवस्था परिवर्तन के 100 से अधिक कार्य किये हैं, ताकि आमजन के जीवन को सुविधाजनक बनाया जा सके।

राज्य सरकार 5 एस पर कर रही है कार्य – मुख्यमंत्री

श्री मनोहर लाल ने कहा कि किसी भी व्यक्ति की मूलभूत आवश्यकता 5एस पर आधारित होती है, यानी- शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा, स्वावलंबन और स्वाभिमान। राज्य सरकार इन्हीं मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करने की दिशा में निरंतर कार्य कर रही है।

उन्होंने कहा कि शिक्षा ऐसी होनी चाहिए, जिसमें राष्ट्रीयता की भावना हो। इसी के मद्देनजर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने नई शिक्षा नीति – 2020 को लागू करने का आह्वान किया है, क्योंकि शिक्षा के माध्यम से ही एक व्यक्ति संस्कारवान बन सकता है।

श्री मनोहर लाल ने कहा कि आज के युग में पढ़ाई के अलावा कौशल विकास पर अधिक जोर दिया जा रहा है। आज के समय में केवल पढ़ाई के बल पर जीवन में आगे बढऩा संभव नहीं है, इसलिए हरियाणा सरकार ने भी कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना की है। इसमें युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि युवाओं में यह भाव होना चाहिए कि उन्हें नौकरी लेने वाला नहीं बल्कि नौकरी देने वाला बनना है। यह भाव तभी आएगा, जब वह स्वयं कुशल बनेंगे। युवाओं के मन में यह भाव होना आवश्यक है कि उन्हें देश के लिए कुछ करना है और इसके लिए द गवर्नेंसचैलेंज जैसे कार्यक्रम का आयोजन करना आवश्यक है।

परिवार पहचान पत्र हरियाणा सरकार की महत्वकांक्षी योजना

मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा ने लगातार व्यवस्था परिवर्तन के नए-नए प्रयोग किये हैं। उन्होंने कहा कि जनसंख्या का वास्तविक डाटा एकत्र करना संभव नहीं हो पाता था, इसलिए राज्य सरकार ने एक अनूठी योजना – परिवार पहचान पत्र की शुरुआत की, जिसके तहत हरियाणा के सभी परिवारों का डाटा एक प्लेटफार्म पर एकत्र किया गया। आज इस परिवार पहचान पत्र के माध्यम से पात्र व्यक्ति और परिवार तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाया जा रहा है। उन्हें अब किसी भी लाभ के लिए दफ्तरों में जाने की आवश्यकता नहीं है वह घर बैठे ही सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं। इस प्रणाली से एक ओर जहां योजनाओं के वितरण में पारदर्शिता आई है तो वहीं दूसरी ओर अपात्र लोग भी बाहर हुए हैं। उन्होंने कहा कि स्कूलों में दाखिला होने से लेकर वृद्धावस्था पेंशन तक अपात्र लोगों की पहचान की गई है।

किसान हित में की नई पहल

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक कदम और बढ़ाते हुए सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए मेरी फसल – मेरा ब्योरा पोर्टल शुरू किया है, जिस पर किसान स्वयं अपनी जमीन और फसल का ब्योरा दर्ज कर सकता है। इसी प्रकार, किसानों के हित में सरकार ने एक नई पहल करते हुए ई- फसल क्षतिपूर्ति पोर्टल भी लॉन्च किया है, जिस पर किसान ओलावृष्टि, बारिश इत्यादि कारणों की वजह से हुए फसल के नुकसान का ब्यौरा स्वयं इस पोर्टल पर दर्ज कर सकता है। 7 दिन के अंदर – अंदर कानूनगो व पटवारी उस डाटा का सत्यापन करते हैं, ताकि उन्हें जल्द से जल्द मुआवजा मिल सके।

श्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य सरकार ने तकनीक का प्रयोग करते हुए व्यवस्था परिवर्तन के जितने भी कार्य किये हैं, उससे समाज में यह अवधारणा बनी है कि अब गलत कार्य नहीं करने है। समाज में संस्कारवान नागरिक बनेंगे तो समाज निरंतर निश्चित तौर पर आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि एक सभ्य और समृद्ध समाज के निर्माण के लिए सरकार, गैर सरकारी संगठन और होनहार युवाओं को मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है।

द गवर्नेंसचैलेंज

द गवर्नेंसचैलेंज (टीजीसी) राष्ट्रीय गवर्नेंस के मुद्दों पर आयोजित होने वाली प्रतियोगिता है जिसकी परिकल्पना देश के सबसे प्रतिभाशाली युवाओं को गवर्नेंस के मुद्दों पर शामिल करने के लिए की गई है। हरियाणा सरकार टीजीसी के उद्घाटन संस्करण में पार्टिसिपेटिंग स्टेट के रूप में भागीदार बनी। टीजीसी 2022 में, भारत में 30 बिजनेस और पॉलिसी स्कूलों के छात्रों ने “अगले दशक के बदलते आजीविका अवसरों के लिए हरियाणा के युवाओं के भविष्य को तैयार करना” विषय पर विचार किया।

टीजीसी 2022 में कुल तीन राउंड थे। कैंपसराउंड में टीमों ने 3 मिनट का एक्जीक्यूटिवपिचवीडियो और एक पेज का दस्तावेज़ प्रस्तुत किया जिसमें समस्या कथन की अपनी समझ साझा की गई और इसे हल करने के लिए 2-3 नवीन विचारों का प्रस्ताव दिया गया। प्रत्येक परिसर से शीर्ष टीम ने अगले दौर के लिए क्वालीफाई किया। इसमें 2,100 से ज्यादा टीमों के करीब 6,400 प्रतिभागियों ने पंजीकरण करवाया जिनमें से 700 से ज्यादा टीमों ने प्रजेंटेशनसबमिट किया और इनमें 26 टीमें कैंपस विजेता घोषित की गईं।

दूसरे राउंड में टीमों ने आईएएस अधिकारियों (डॉ राकेश गुप्ता, संयुक्त सचिव, भारत सरकार, अमित खत्री, पूर्व डीसी, गुरुग्राम) और उद्योग जगत से प्राची जैन विंडलास, वरिष्ठ निदेशक, माइकल एंड सुसानडेल फाउंडेशन और मेकिनमाहेश्वरी, सह-संस्थापक, एसीटीग्रांट्स के एक जूरीपैनल को प्रजेंटेशन दी। टीजीसी नेशनल इवेंट में शीर्ष 6 टीमों ने फाइनलराउंड के लिए क्वालीफाई किया।

तीसरे और आखिरी राउंड में शीर्ष 6 टीमों ने 1 अक्टूबर 2022 को पंचकूला में आयोजित फाइनलटीजीसी सम्मेलन में हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल और वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों टीसी गुप्ता, आईएएस (सेवानिवृत्त) और सुरीना राजन, आईएएस (सेवानिवृत्त) को अपना समाधान पेश किया। 6 फाइनलिस्ट टीमों में आईआईएमबैंगलोर, आईआईएमउदयपुर, आईआईएमकोझीकोड, आईआईएमशिलांग, एनएमआईएमएस मुंबई और आईआईएफटी कोलकाता शामिल है।

इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ अमित अग्रवाल, विदेश सहयोग विभाग के महानिदेशक श्री अनंत प्रकाश पांडे सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

लॉरेंस बिश्नोई गैंग का कुख्यात ईनामी गैंगस्टर मुठभेड़ के बाद चढा एस.टी.एफ के हत्थे

आरोपी के कब्जे से चार विदेशी पिस्टल व 10 कारतूस बरामद

चंडीगढ़ 1 अक्तूबर – हरियाणा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स अम्बाला की टीम द्वारा लॉरेंस बिश्नोई गैंग के एक कुख्यात ईनामी गैंगस्टर को भारी मात्रा में विदेशी हथियार व कारतूस सहित गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।

आज एसटीएफ अंबाला की टीम मोस्ट वांटेड अपराधियों की तलाश हेतु थाना सदर करनाल के एरिया में मौजूद थी। उसी समय टीम को विश्वसनीय सूचना प्राप्त हुई की लॉरेंस ग्रुप के अंकुश कमालपुर गैंग का सक्रिय सदस्य व उसके गैंग के हथियारों का मेन सप्लायर गांव जांबा थाना निगदु जिला करनाल निवासी मुकेश पंजाब में पाकिस्तान बॉर्डर के साथ लगते एरिया से ड्रोन के जरिये पाकिस्तान से आये भारी मात्रा में विदेशी अवैध हथियार लेकर आया है।

प्राप्त सूचना के आधार पर टीम द्वारा मौके पर दबिश दी गई और मुठभेड़ के बाद आरोपी मुकेश को काबू किया गया। आरोपी के कब्जे से कुल 4 अवैध विदेशी पिस्तौल, खाली खौल व दस कारतूस बरामद किये गये। इस संबंध में आरोपी के खिलाफ थाना सदर करनाल में थाना 307 आईपीसी व आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया ।

आरोपी से प्रारंभिक पूछताछ व अन्य विश्वसनीय साक्ष्यों के आधार पर जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी मुकेश के बब्बर खालसा ग्रुप, लॉरेंस ग्रुप वा अंकुश कमालपुर गैंग से संबंध हैं। आरोपी द्वारा उपरोक्त हथियार विदेश में बैठे गैंगस्टर दमनजोत सिंह उर्फ काहलों व वीरेन्द्र साम्बी के माध्यम से ड्रोन द्वारा पाकिस्तान से मंगवाए थे। जोकि दोनों ही गैंगस्टर लखवीर सिंह उर्फ लण्डे के हैंडलर हैं और दोनों ही गैंगस्टर फिलहाल विदेशों में बैठे हैं। जाँच में यह भी खुलासा हुआ कि आरोपी नामी गैंगस्टर व अन्य आतंकियों के कहने पर अपनी गैंग के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर गैंगस्टर नीरज पुनिया के भाई बृजपाल व प्रहलाद खाटवा वासी अवोहर का मर्डर करना था। आरोपी मुकेश को देश विरोधी गतिविधियों को संचालित करने के लिए विदेश में बैठे वीरेंद्र साम्भी द्वारा फंडिंग हो रही थी।

आरोपी के ऊपर हरियाणा पुलिस विभाग की तरफ से इनाम भी घोषित किया गया था। आरोपी के खिलाफ हरियाणा व पंजाब में हत्या का प्रयास करने, लूट, फिरौती मांगने, शस्त्र अधिनियम व आतंकवादी गतिविधियों में संलिप्त रहने के कुल 9 मामले दर्ज हैं। आरोपी आतंकवादी गतिविधियों में शामिल रहने के पंजाब में दर्ज मामले में फरार चल रहा था। आरोपी को पेश अदालत करके पुलिस रिमांड पर लिया जायेगा। दौराने रिमांड आरोपी से गहनता से पूछताछ की जाएगी व आरोपी के अन्य साथियों को गिरफ्तार जाकर मामले का खुलासा किया जायेगा।

चकबंदी का कार्य अप्रैल तक पूरा करें – उपमुख्यमंत्री

चंडीगढ, 1 अक्तूबर- हरियाणा के उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को प्रदेशभर में चकबन्दी का कार्य आगामी अप्रैल 2023 तक पूरा करने के लिए निर्देश दिए।

श्री चौटाला आज यहां विभाग के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उनके पास स्टॉफ की कमी होते हुए भी सभी जिलों में अच्छा काम हो रहा है। इसलिए राज्य शेष बचे कुछ गांवों में चकबन्दी का काम दिसम्बर 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा तथा अन्य कुछ गांवों में यह काम मार्च 2023 तक करने को कहा गया है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जिन जिलों में काम अधूरा है, उनमें काम पूरा करने में तत्परता दिखाएं। इसके लिए आवश्यक स्टॉफ की पूर्ति शीघ्र कर दी जाएगी।

उप मुख्यमंत्री ने भिवानी व चरखी दादरी जिलों के 35 गांवों में हुए कार्य में तेजी लाने के लिए राजस्व सलाहकार श्री आर के गर्ग को लगाया है। उन्हें दोनों जिलों में अधिकारियों व कर्मचारियों की नियमित बैठक लेकर उसकी रिपोर्ट 45 दिनों में प्रस्तुत करने को कहा है। इसके साथ ही अनेक जिलों के उपायुक्तों ने उनके जिलों में चकबन्दी की रिपोर्ट प्रस्तुत की।

इस अवसर पर राजस्व विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री वी एस कुंडू, विभिन्न जिलों के उपायुक्त, जिला राजस्व अधिकारी सहित अनेक अधिकारी मौजूद रहे।

नम्बरदारों को आयुष्मान भारत योजना में शामिल किया जाएगा

हरियाणा के उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अब प्रदेश के नम्बरदारों को आयुष्मान भारत योजना में शामिल किया जाएगा ताकि उन्हें अन्य लोगों की भांति लाभ मिल सके।

श्री चौटाला ने आज यहां इस संबंध में एक बैठक की, जिसमे अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य विभाग श्रीमती जी अनुपमा, एफसीआर श्री वी एस कुंडू तथा वित विभाग के अधिकारी प्रमुख तौर पर उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि इस संबंध में शीघ्र ही स्वास्थ्य विभाग के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किए जाएंगे।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रति योग्य परिवार को 5 लाख रूपए प्रतिवर्ष तक चिकित्सकीय सहायता प्रदान की जाती है। इसके तहत नम्बरदार बीमारी की स्थिति में लाभ उठा सकेंगे और हरियाणा सरकार की अनुसूचि में शामिल अस्पतालों में भी उपचार की सुविधा प्राप्त कर सकेंगे।

खरीफ फसल की खरीद को लेकर सरकार पूरी तरह तैयार

हरियाणा के उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मंडियों में खरीफ फसल की खरीद को लेकर सरकार पूरी तरह तैयार है। इसके लिए सभी मंडियों में व्यापक प्रबंध किये गये हैं ।

श्री चौटाला ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस बार किसानों को आई फॉर्म कटने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा और 72 घंटे की बजाय 48 घंटे में किसानों के खातों में फसल की राशि डाली जाएगी। किसानों की सुविधा के लिए ऐप भी तैयार किया गया है। उन्होंने कहा कि बारिश से फसल खराब के लिए 2021 का मुआवजा तीन किस्तों में जारी किया गया है। इस बार फसल खराब की रिपोर्ट जिला अधिकारियों से मांगी गई है, जिसके आधार पर ही किसानों को मुआवजा दिया जाएगा।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि दिवाली के बाद गुरुग्राम ग्लोबल सिटी के लॉन्च की तैयारी है। यह ग्लोबल सिटी 1008 एकड़ में बनेगी और इस पर एक लाख करोड़ रूपए तक निवेश होने की उम्मीद है। इसके साथ ही निवेशकों के लिए यूएई में दो दिवसीय इन्वेस्टर्स मीट कार्यक्रम है।

उपमुख्यमंत्री से योग आयोग के सदस्यों ने की मुलाकात

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला से योग आयोग हरियाणा के अध्यक्ष डॉ जयदीप आर्य व उनकी नव-नियुक्त टीम के सदस्यों ने मुलाकात की। इनमें आयोग के उपाध्यक्ष श्री रोशन लाल एवं सभी सदस्य शामिल थे।

श्री चौटाला ने उनका स्वागत करते हुए कहा कि योग हमारी संस्कृति का मूल तत्व है। मैं स्वयं योग करता हूँ और वर्तमान में योग को चिकित्सा, शिक्षण, प्रशिक्षण एवं खेल के रूप में आगे ले जाने का हरियाणा सरकार का एक दूरगामी लक्ष्य है। इसे पूर्ण करने के लिए हरियाणा योग आयोग का गठन हुआ है। उन्होंने कहा कि इस विषय पर विस्तृत चर्चा करने के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक का आयोजन जल्द ही करने का आश्वासन दिया और साथ ही उन्होंने व्यायामशाला संबंधी आ रही समस्याओं और नवीन व्यायामशालाओं के विषय पर सकारात्मक कार्यवाही करने हेतु आश्वस्त किया।

उनके साथ नव नियुक्त सदस्यों में श्री रोशन लाल (कुरुक्षेत्र), डॉ मनीष कुकरेजा (कुरुक्षेत्र), डॉ पवन गुप्ता (पंचकूला), डॉ मदन मानव (नारनौल), श्री नरेश कुमार (हिसार), श्रीमति सुमेस्ता (फतेहाबाद), श्री कुलदीप कुमार (सोनीपत), श्री जयपाल शास्त्री (फरीदाबाद), श्री पंकज कुमार (अम्बाला कैंट) मौजूद रहे।

 

चंडीगढ, 1 अक्तूबर – हरियाणा के उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेशभर में बारिस से टूटी सडकों की मरम्मत का कार्य शीघ्र पूरा करें ताकि लोगों को आवागमन में दिक्कतों का सामना न करना पडे।

श्री चौटाला आज पीडब्ल्यूडी विभाग के एच.एस.आर.डी.सी की बैठक में राज्य में चल रहे 10 करोड रूपए से अधिक के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने गुरूग्राम, धारूहेडा व अन्य स्थानों का हवाला देते हुए कहा कि बारिस से सडकों के टूटने से कई स्थानों पर दुर्घटनाएं हो रही हैं । इसलिए राज्य की सभी सडकों का मरम्मत कार्य शीघ्र किया जाए। उन्होंने अन्तर्राज्यीय सडक कैथल-पटियाला तथा ग्रीन-फिल्ड सडक 152 डी के निर्माण से प्रदेश में टूटी सडकों की भी मरम्मत करने के आदेश दिए।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में विधायकों से 25-25 करोड के विकास कार्य करवाने के प्रस्ताव आमंत्रित किए थे। इसलिए जिन विधानसभा क्षेत्रों के कार्य अनुमान आ गए हैं, वहां कार्य शुरू करने में तेजी लाएं । इसके साथ ही विधायकों की मांग पर उनके क्षेत्रों करवाए जाने वाले विकास कार्यों के लिए जमीन को ई-भूमि पर पंजीकृत करवाने की अपील की ताकि निर्माण कार्यों तुरन्त किया जा सके।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही बरवाला-हिसार के बीच 8 किलोमीटर की सडक का निर्माण शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए और कहा कि इसके लिए पैसे की कमी आडे नही आनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने विभाग के अधिकारियों को कहा कि वे ठेकेदारों की पेमैंट का भुगतान समय पर करें ताकि वे अपना कार्य भी समयबद्ध तरीके से पूरा कर सकें। उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में जो मामले अदालतों में विचाराधीन हैं, अधिकारी उनसे अपडेट रहें और विकास कार्यों में तेजी लाएं ।

श्री चौटाला ने गुरूग्राम सहित अन्य शहरों का हवाला देते कहा कि बारिस के कारण सडकों पर बनाए गए अंडरपास में पानी व मिटटी भर जाती हैं, जिसके कारण पानी खडा होता है और लोगों को आवागमन में दिक्कत रहती है। उन्हांेने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेशभर में ऐसे स्थानों के आसपास बनी सडकों की मिटटी की सतह को पक्की सडक के नीचा रखा जाए, जिससे मिटटी बहकर सडक पर न आ सके। इसके साथ ही उन्होंने विभाग के अधिकारियों से बारिस के दौरान सडक किनारे लगाए गए पौधों के बारे में भी जानकारी ली ।

उप मुख्यमंत्री ने पंचकूला, अम्बाला व अन्य स्थानों में बनाए जा रहे अस्पताल, मिनी सचिवालय तथा वॉर मैमोरियल पर भी अपडेट लिया। इसके साथ ही भिवानी, दादरी में बन रहे प्रशासनिक ब्लॉक को तीन मंजिल से बहुमंजिला बनाने की सम्भावनाओं को तलाशने के निर्देश दिए।

 

हरियाणा के कृषि मंत्री ने बेडफोर्ड में क्रैनफील्ड विश्वविद्यालय का किया दौरा

यह विश्वविद्यालय बर्मिंघम विश्वविद्यालय के संघ का हिस्सा होगा, जिसने हरियाणा के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं

चंडीगढ़, 1 अक्टूबर – हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जे पी दलाल और कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुमिता मिश्रा ने फसल कटाई के बाद की प्रौद्योगिकियों के अनुसंधान और विकास के लिए यूके के एक प्रमुख संस्थान क्रैनफील्ड विश्वविद्यालय, बेडफोर्ड का दौरा किया।

यह विश्वविद्यालय बर्मिंघम विश्वविद्यालय के संघ का हिस्सा होगा, जिसने हरियाणा के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

क्रैनफील्ड यूनिवर्सिटी हरियाणा को पोस्ट हार्वेस्ट फिजियोलॉजी, प्री- हार्वेस्ट फैक्टर, जैव रसायन, संरक्षण के तरीके, कूल चैन, पैकेजिंग, एथिलीन, विशेषज्ञ उपचार, कटाई के बाद के रोग, विकृति विज्ञान, रोग नियंत्रण के सिद्धांत, गुणवत्ता नियंत्रण, जैव रासायनिक परिवर्तन, मूल्यांकन के तरीके और खाद्य अपशिष्ट प्रबंधन के मूल सिद्धांतों पर अनुप्रयुक्त अनुसंधान को और विकसित करने में मदद करेगी।

हरियाणा में प्रस्तावित ‘हार्वेस्ट और कोल्ड चेन मैनेजमेंट के लिए उत्कृष्टता केंद्र’ में विभिन्न इकाइयां होंगी, जहां अनुप्रयुक्त अनुसंधान किया जाएगा। यह केंद्र फसल कटाई के बाद के समाधान विकसित करेगा, जो किसानों और किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) को उनकी परेशानियों का समाधान करने में मदद करेगा। केंद्र में एक इनक्यूबेशन केंद्र, स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र भी होगा, जहां नवोदित उद्यमी अपना व्यवसाय शुरू व स्थापित कर सकते हैं।

 

किसानों को ई-फसल क्षतिपूर्ति पोर्टल पर अपनी फसल खराबे की जानकारी दर्ज करने के लिए प्रोत्साहित करें – मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक सचिवों और जिला उपायुक्तों के साथ की हाई लेवल बैठक

मुख्यमंत्री ने बेमौसम बारिश के कारण जलभराव का जल्द से जल्द समाधान करने के दिए निर्देश

चंडीगढ़, 1 अक्तूबर – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि हाल ही में प्रदेश में हुई भारी बारिश के कारण खराब फसलों की जानकारी किसान ई-फसल क्षतिपूर्ति पोर्टल पर दर्ज करें। अधिकारी किसानों को प्रोत्साहित करें कि वे जल्द से जल्द अपने नुकसान का ब्यौरा पोर्टल पर भरें, ताकि किसानों को जल्द मुआवजा मिल सके।

मुख्यमंत्री कल देर शाम शाम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रशासनिक सचिवों, मंडल आयुक्तों और जिला उपायुक्तों के साथ हाई लेवल बैठक कर रहे थे। बैठक में उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला भी मौजूद रहे।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार फसल नुकसान के सत्यापन और मुआवजे में पूर्ण पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है। किसानों की सुविधा के लिए ही सरकार ने ई- फसल क्षतिपूर्ति पोर्टल बनाया है, जिस पर किसान स्वयं अपनी फसल खराबे का ब्यौरा दर्ज कर सकता है। इसलिए किसान भाइयों से आग्रह है कि वे इस पोर्टल पर अपनी फसल के नुकसान की जानकारी को स्वयं अपडेट करें ताकि उन्हें मुआवजा पाने में किसी भी तरह की देरी या परेशानी का सामना न करना पड़े।

मुख्यमंत्री ने उपायुक्तों को निर्देश दिए कि किसान द्वारा अपने नुकसान का डाटा पोर्टल पर अपलोड करने के सात दिनों के भीतर संबंधित पटवारी, कानूनगो इस डाटा का सत्यापन सुनिश्चित करें। इसके अलावा, तहसीलदारों को भी अपने स्तर पर इसका सत्यापन शुरू कर देना चाहिए ताकि किसानों को उनके नुकसान का उचित मुआवजा जल्द मिल सके।

जलभराव वाले क्षेत्रों से पानी की निकासी समय पर सुनिश्चित करें

मुख्यमंत्री ने जिला उपायुक्तों को भारी बारिश के कारण जलभराव वाले क्षेत्रों से समय पर पानी की निकासी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जलभराव की समस्या के समाधान के लिए हर उपायुक्त को युद्धस्तर पर काम करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि बेमौसम भारी बारिश से पैदा हुई बाढ़ जैसी स्थिति से बचने के लिए नालों की समुचित सफाई की जाए।

सीएम विंडो पर प्राप्त शिकायतों का समय से निवारण सुनिश्चित करें – मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीएम विंडो पर प्राप्त शिकायतों का समय पर निवारण सुनिश्चित किया जाए ताकि शिकायतकर्ताओं को अपनी शिकायतों के निवारण के लिए कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़े।

उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जिला उपायुक्त शस्त्र लाइसेंस से संबंधित आवेदकों के सभी लंबित मामलों को जल्द निपटाएं। आवेदनों का सत्यापन भी समयबद्ध तरीके से सुनिश्चित किया जाए।

बैठक में मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डी एस ढेसी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी उमाशंकर, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ. अमित अग्रवाल और मुख्यमंत्री के उप प्रधान सचिव श्री के मकरंद पाण्डुरंग भी मौजूद थे।

36वें नेशनल गेम्स में हरियाणा का दबदबा

हरियाणा अब तक 9 गोल्ड सहित कुल 16 पदकों के साथ पदक तालिका में शीर्ष पर काबिज

बेटों के साथ बेटियों ने भी गाड़े झंडे

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सभी पदक विजेता खिलाड़ियों को दी बधाई व शुभकामनाएं

चंडीगढ़, 1 अक्तूबर – ओलंपिक, कॉमनवेल्थ खेलों में आधे से ज्यादा पदक जीतने वाले हरियाणा के खिलाड़ी 36वें नेशनल गेम्स में भी कमाल दिखा रहे हैं। गुजरात के अहमदाबाद में चल रहे इन खेलों में हरियाणा अब तक 9 स्वर्ण पदक सहित कुल 16 पदकों के साथ पदक तालिका में शीर्ष पर काबिज है। राज्य के खाते में 3 रजत तथा 4 कांस्य पदक हैं। राज्य के बेटे-बेटियों के जौहर की बदौलत हरियाणा का दबदबा नेशनल गेम्स में बना हुआ है।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने सभी पदक विजेता खिलाड़ियों को उनकी जीत पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी और आने वाले खेलों में भी इसी प्रकार अपना उम्दा प्रदर्शन करने की कामना की। उन्होंने कहा कि राज्य के खिलाड़ियों की मेहनत के बल पर ही आज हरियाणा की खेलों के क्षे़त्रों में ऐसी पहचान बनी है कि अन्य राज्य भी हरियाणा की खेल नीति का अनुसरण करने लगे हैं। राज्य के खिलाड़ी इसी प्रकार अपने बेहतरीन प्रदर्शन से हरियाणा और भारत का नाम राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोशन करते रहेंगे।

खेल एवं युवा मामले राज्य मंत्री सरदार संदीप सिंह ने भी खिलाड़ियों की इस उपलब्धि के लिए उन्हें बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में राज्य सरकार निरंतर खेलों को बढ़ावा देने और खिलाड़ियों को हर प्रकार की सहायता मुहैया करवाने के लिए प्रतिबद्ध है।

कुश्ती में जीते सर्वाधिक 5 गोल्ड मेडल

हरियाणा का सबसे पसंदीदा खेल कुश्ती में कोई अन्य राज्य यहां के खिलाड़ियों के सामने टिक नहीं पाया। खिलाड़ियों ने अपने दांव-पेंच से अपने प्रतिद्वंदियों को पटखनी देकर राज्य के खाते में पदकों की बौछार कर दी। हरियाणा ने कुश्ती में 5 स्वर्ण, 2 रजत और 2 कांस्य पदक जीते हैं।

87 किलोग्राम ग्रीको-रोमन श्रेणी में हरियाणा के सुनील ने पंजाब के हरप्रीत सिंह तथा 67 किलोग्राम ग्रीको-रोमन श्रेणी में हरियाणा के आशू ने पंजाब के करनजीत सिंह को हराकर स्वर्ण पदक जीते हैं। इसी प्रकार, 97 किलोग्राम फ्री-स्टाइल श्रेणी में हरियाणा के दीपक ने पंजाब के साहिल को हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इसी श्रेणी में हरियाणा के प्रवीण कुमार ने कांस्य पदक जीता।

57 किलोग्राम फ्री-स्टाइल श्रेणी में अंतिम मुकाबला हरियाणा के ही खिलाड़ियों के मध्य हुआ, जिसमें अमन ने स्वर्ण पदक जीता तो वहीं उदित को रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

62 किलोग्राम फ्री-स्टाइल लड़कियों की कुश्ती में हरियाणा की मनीषा ने हरियाणा की ही शैफाली को हराकर स्वर्ण पदक जीता। इसके अलावा, 76 किलोग्राम फ्री-स्टाइल कुश्ती में हरियाणा की रितीका ने कांस्य पदक अपने नाम किया।

रगबी खेल में हरियाणा ने महाराष्ट्र को हराकर जीता गोल्ड

36वें नेशनल गेम्स में रगबी खेल में भी हरियाणा के खिलाड़ियों ने अपना अलग ही जौहर दिखाया और महाराष्ट्र की टीम को 19-7 के भारी अंतर से हराकर स्वर्ण पदक हरियाणा की झोली में डाला।

नेट बॉल टीम इवेंट में हरियाणा के लड़कों और लड़कियों दोनों ही टीमों ने स्वर्ण पदक जीत कर प्रदेश का मान बढ़ाया। इसके अलावा, 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में हरियाणा के अनीश ने स्वर्ण पदक, लड़कों के टेबल टेनिस सिंगल श्रेणी में सोम्यजीत घोश ने रजत पदक, शॉटपुट में मनप्रीत कौर ने कांस्य पदक तथा हैमर थ्रो में रेनू चिकारा ने कांस्य पदक जीते हैं।