हरियाणा के निकाय मंत्री कमल गुप्ता ने किया फरीदाबाद नगरनिगम मुख्यालय का औचक निरीक्षण।

 

फरीदाबाद।बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क।
नगरनिगम मुख्यालय फरीदाबाद में उस वक्त खलबली मच गई जब हरियाणा के निकाय मंत्री कमल गुप्ता अपने दलबल सहित नगर निगम मुख्यालय पहुंचे और उन्होंने पूरे नगर निगम परिसर में बेतरतीब ढंग से खड़ी की गई गाड़ियों को देखकर अधिकारियों की कलास ली उनका कहना था कि जब आप नगर निगम परिसर में ही गाड़ियां ढंग से नहीं लगा सकते तो शहर की ट्रैफिक व्यवस्था क्या खाक सुधारोगे।

उन्होंने पूरे नगर निगम मुख्यालय के एक एक आफिस में जाकर जांच की, हमेशा कार्यालय से नदारद रहने वाले कर्मचारियों के चेहरों पर हवाइयां उड़ने लगीं।साफ सफाई को लेकर भी निकाय मंत्री निर्देश देते हुए दिखाई दिए।इस अवसर पर उन्होंने नगर कमिश्नर कार्यालय में अधिकारियों और कर्मचारियों की मीटिंग ली और उन्हें ढंग से कार्य करने के आदेश दिए। उन्होंने अपने सामने रजिस्टर रखकर कर्मचारियों की हाजिरी लगवाई।इसके उपरांत उन्होंने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि वह हरियाणा सरकार द्वारा शुरु की गई महत्वाकांक्षी योजना ,, पार्किंग की मार्किंग,, को लागू करवाने के लिये भी यहां आये हैं पूरे शहर में बड़े ही बेतरतीब ढंग से गाडियां खड़ी की जाती है जिससे पूरे शहर में अव्यवस्था फैलती है और ट्रैफिक जाम होता है उन्होंने कहा कि नगरनिगम को पूरे शहर की मार्किंट, स्कूलों, सरकारी कार्यालयों, हस्पतालों में पार्किंग के लिये मार्किंग करवानी है ताकि कोई बेतरतीब ढंग से गाडियां खड़ी ना करे और उसकी पहल नगर निगम मुख्यालय से करे ताकि कोई गाड़ी मार्किंग से बाहर खड़ी ना हो और व्यवस्था सुचारु रुप से हो सके।
पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि प्रोपर्टी आइ डी बनवाने में कोई समस्या हो तो मुझसे संपर्क करें कुछ पत्रकारों ने ये बात रखी थी कि कर्मचारी प्रोपर्टी आइ डी बनाने में आना कानी करते हैं और चक्कर लगवाते हैं
वहीं पूरे फरीदाबाद शहर में बनाई गई अवैध पार्किंग का मुद्दा भी पत्रकारों ने उठाया जिसको जल्द ही खत्म करने का उन्होंने आश्वासन दिया।
प्राईवेट हस्पतालों, स्कूलों, फैक्ट्रियों और दूसरे लोगों द्वारा ग्रीन बेल्ट पर कब्जा करके बनाई गई पार्किंग का ,और शहर में निगम अधिकारियों की मिलीभगत से हो रहे अवैध निर्माण के मुद्दे को भी पत्रकारों ने जोरदार ढंग से उठाया जिस पर मंत्री कमल गुप्ता ने जल्द ही कारवाई करने का आश्वासन दिया।इस अवसर पर उनके साथ नगर निगम कमिश्नर यशपाल यादव और विधायक नरेंद्र गुप्ता भी मौजूद रहे।