हरियाणा सरकार की आज की मुख्य गतिविधियां एवं उनसे जुड़े समाचार पढ़िए मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क पर।

चंडीगढ़ 16 जनवरी- बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क।(9971457689, bdkaushik27@gmail.com)
हरियाणा का राज्य स्तरीय गणतन्त्र दिवस समारोह 26 जनवरी, 2022 को पंचकूला में आयोजित किया जाएगा, जहाँ हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। इसके अलावा, मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल अंबाला में और उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला जींद में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे।
एक सरकारी प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता यमुनानगर में, गृह मंत्री श्री अनिल विज करनाल में, शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल कुरुक्षेत्र में, परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा झज्जर में, बिजली मंत्री श्री रणजीत सिंह गुरुग्राम में, कृषि मंत्री श्री जयप्रकाश दलाल भिवानी में, सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल हिसार में, शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता रोहतक में, विकास एवं पंचायत मंत्री श्री देवेंद्र सिंह बबली सोनीपत में और विधानसभा उपाध्यक्ष श्री रणबीर गंगवा सिरसा में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे।
इसी प्रकार, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री ओम प्रकाश यादव चरखी दादरी में, महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा रेवाड़ी में, श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री श्री अनूप धानक कैथल में और खेल एवं युवा मामले राज्य मंत्री श्री संदीप सिंह फरीदाबाद में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे।
प्रवक्ता ने बताया कि आयुक्त, फरीदाबाद मंडल पलवल में आयुक्त, गुरुग्राम मंडल महेंद्रगढ़ (नारनौल) में, आयुक्त, हिसार मंडल फतेहाबाद में, आयुक्त, करनाल मंडल पानीपत में और नूंह के उपायुक्त नूंह में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे।
यदि उपरोक्त महानुभाव या अधिकारी गण में से कोई उक्त स्थानों पर किन्हीं कारणों से नहीं पहुंच पाता तो वहां संबंधित उपायुक्त राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। इसके अलावा, उप मंडल, तहसील मुख्यालयों पर यह कार्य संबंधित उपमंडल अधिकारी (नागरिक) / तहसीलदार करेंगे।

 

मुख्यमंत्री ने दी सेना दिवस पर शुभकामनाएं
चण्डीगढ़ 15 जनवरी-हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने सेना दिवस के अवसर पर प्रदेश के सैनिकों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवार के सदस्यों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें दी हैं ।
सेना दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आज भारतीय सेना अपना 75वां स्थापना दिवस मना रही है। हमारे शूरवीर सैनिक जिस वीरता और कर्तव्यपरायणता से देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं उस पर हमें गर्व है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं में विकट परिस्थितियों में भारतीय सेना ने जो अमूल्य योगदान किया है, उसे शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा के लोगों के लिए यह गर्व की बात है कि देश की सशस्त्र सेनाओं में हर 10वां सैनिक हरियाणा से है। राज्य सरकार सैनिकों व उनके आश्रितों के कल्याण के लिए कटिबद्घ है, इसी कड़ी में अलग से सैनिक व अर्ध-सैनिक कल्याण विभाग का गठन किया गया है।

चंडीगढ़, 15 जनवरी-भारत सरकार के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्रू), दिल्ली ने जनवरी 2022 सत्र में विभिन्न पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आवेदन आमंत्रित किए हंै जिसके तहत स्नातक, स्नातकोतर, डिप्लोमा, सर्टिफिकेट और पीजी डिप्लोमा में दाखिला लिया जा सकता है। आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी 2022 निर्धारित की है।
इस बारे जानकारी देेते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इग्रू मेें दाखिला पोर्टल https://ignouadmission.samarth.edu.in के माध्यम से ऑनलाइन प्रवेश लिया जा सकता है, इसके लिए सबसे पहले उम्मीदवार को अपना पंजीकरण करना होगा। आवेदन शुल्क का भुगतान ऑनलाइन माध्यम से किया जा सकता है। आवेदन शुल्क के भुगतान के बाद फॉर्म का प्रिंटआउट लेना आवश्यक है।

चंडीगढ़, 15 जनवरी – हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा संचालित ‘ हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा ‘ में जिन अभ्यर्थियों के अनुचित साधन सम्बन्धी केस (यू.एम.सी.) दर्ज हुए हैं, उनको बोर्ड मुख्यालय पर व्यक्तिगत सुनवाई हेतु 20 जनवरी, 2022 को प्रात: 9.30 बजे बुलाया गया है।
यह जानकारी देते हुए बोर्ड प्रवक्ता ने बताया कि हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा-2021में जिन अभ्यर्थियों के सीसीटीवी लाईव फुटेज के आधार व परीक्षा केंद्रों पर अनुचित साधन प्रयोग संबंधी केस (यू.एम.सी.) दर्ज किए गए है उनकी सूचना बोर्ड कार्यालय द्वारा सम्बन्धित अभ्यर्थी को एस.एम.एस. के माध्यम से अलग से दी जा रही है।
उन्होंने आगे बताया कि अनुचित साधन (यू.एम.सी.) सम्बन्धी अभ्यर्थियों की सूची बोर्ड वैबसाईट www.bseh.org.in पर भी उपलब्ध करवाई जा रही है। ऐसे सभी अभ्यर्थी 20 जनवरी, 2022 को प्रात: 9.30 बजे व्यक्तिगत सुनवाई के लिए बोर्ड मुख्यालय, भिवानी पर पहुंचना सुनिश्चित करें।

चंडीगढ़, 15 जनवरी- हरियाणा सरकार की ओर से बेहतर कार्य करने वाले राज्य के प्रशासनिक अधिकारियों को ‘प्राइम मिनिस्टर अवार्डस फॉर एक्सीलेंस इन पब्लिक एडमिनिस्ट्रेनशन-2021’ के तहत वैब-पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने की अपील की गई है,इसके बाद 20 जनवरी से 4 फरवरी 2022 तक आवेदन भरे जाएंगे।
एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने इस वर्ष लोक प्रशासन में उत्कृष्टता के लिए दिए जाने वाले प्रधानमंत्री वार्षिक पुरस्कारों नए विषयों के आधार पर अवार्ड देने का निर्णय लिया है। इन विषयों में पोषण अभियान, खेलो इंडिया, पीएम स्वनिधि योजना, एक जिला-एक उत्पाद योजना और मानव दखल के बगैर सेवाओं के बेहतर डिलीवरी तथा नवाचार के आधार पर अवार्ड के लिए शासकीय अधिकारियों के कार्य का मूल्यांकन किया जाएगा। इस अवार्ड के तहत एक ट्रॉफी,स्क्रॉल तथा 20 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
उन्होंने बताया कि देश के जिलों में अधिकारियों के प्रदर्शन के मूल्यांकन के लिए जो चार योजनाएं चुनी गई हैं वे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकताओं में शामिल हैं। उन्होंने विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि पहला मानदंड, पोषण अभियान में जन भागीदारी को बढ़ाना है, जिसका लक्ष्य बच्चों, किशोरों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं की पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा करना है। दूसरा मानदंड, किसी जिला में खेलों के विकास और नागरिकों की भलाई के लिए खेलों इंडिया योजना का भरपूर लाभ उठाया गया है और अगर योजना फिजिकल फिटनेस, नई खेल प्रतिभाओं की पहचान करने और बड़े मंच पर बेहतर प्रदर्शन करने के लिए सभी जरूरी मदद मुहैया कराने के लिए जमीनी स्तर पर पहुंची है, तो उनका मूल्यांकन भी इसी आधार पर किया जाएगा। इसी प्रकार तीसरा मानदंड, जिलों में पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधी) योजना के तहत कैशबैक योजना के जरिए लाभार्थी वेंडर्स में डिजिटल लेनदेन को बढ़ाना है। इस योजना का उद्देश्य बगैर बैंकिंग वाले स्ट्रीट वेंडर्स को औपचारिक बैंकिंग चैनल्स में लाना है, ताकि वे शहरी अर्थव्यवस्था में शामिल हो सकें। मूल्यांकन की जाने वाली चौथी यौजना ‘एक जिला-एक उत्पाद’ है, जिसकी घोषणा प्रधानमंत्री ने वर्ष 2019 में स्वतंत्रता दिवस भाषण में की थी।

चंडीगढ़, 15 जनवरी-हरियाणा सरकार ने काष्ठ आधारित उद्योगों के हित को ध्यान में रखते हुए नए लाईसेंस देने के लिए ऑनलाइन फार्म भरने का समय 15 जनवरी से 15 फरवरी 2022 तक बढ़ाने का निर्णय लिया है।
इस बारे में जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि काष्ठ की उपलब्धता को देखते हुए राज्य सरकार ने नए लाईसेंस देने के लिए 15 दिसंबर 2021 से ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए थे जिसकी अंतिम तिथि 15 जनवरी 2022 निर्धारित की गई थी, परंतु तकनीकी कारणों की वजह से यह पोर्टल निर्धारित अवधि के अंदर अवरूद्घ होता रहा जिस कारण नए लाईसेंस लेने के इच्छुक व्यक्ति अपना आवदेन फार्म समय पर नही भर सके। राज्य सरकार ने अब काष्ठï आधारित उद्योगों के हित को ध्यान में रखते हुए नए लाईसेंस देने के लिए ऑनलाइन फार्म भरने का समय 15 जनवरी से 15 फरवरी 2022 तक बढ़ा दिया है।
उन्होंने बताया कि काष्ठï आधारित उद्योगों के लिए प्रदेश के पंचकूला, यमुनानगर, अंबाला, कैथल, कुरूक्षेत्र, करनाल, पानीपत, सोनीपत, रोहतक व झज्जर जिला के लिए ऑनलाइन पोर्टल www.haryanaforest.gov.in अब 15 फरवरी 2022 तक खुला रहेगा जिस पर आवेदन किए जा सकते हैं। नियम एवं शर्तें तथा आवश्यक दिशा-निर्देश देखने के लिए वन विभाग की वैबसाइट का अवलोकन करने की सलाह दी गई है।