छत्तीसगढ़ : बस्तर जैसे आदिवादी बहुल क्षेत्र की अंजलि मिश्रा ने रचा इतिहास।

 

छत्तीसगढ़ ( बस्तर-जगदलपुर )।अश्वनी कुमार कौशिक ।मातृभूमी संदेश।

कवियत्री अंजलि मिश्रा को रायपुर के बाह्मण समाज द्वारा रायपुर में साहित्य सेवा में लगातार प्रयास हेतु नशा मुक्ति अभियान पुरे भारत में प्रचार कर नशा से मुक्ति दिलाने हेतु कविता के माध्यम से गोल्डन बुक रिकॉर्ड होने पर रायपुर में साहित्य श्री सम्मान और कवि श्री सम्मान से सम्मानित किया गया।

इसी कड़ी में महाराष्ट के नासिक में विघोतमा फाउंडेशन नासिक वार्षिक साहित्य सम्मेलन का है जहां साहित्य कारों को सम्मान किया गया एवं अपने घर के वरिष्ठतम के पूर्वजों के नाम से उनके द्वारा स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया।

ये साहित्य संस्था है जहां वह पहले से जुड़ी है। इसलिए उनके निमंत्रण मिला। जिसमें पुस्तक का भी विमोचन उद्घाटन हुआ वे अपनी कहानी अपनी जुबानी बस्तर के बारे में लिखा है बस्तर जैसे क्षेत्र से ऐसी विदुषी महिला को सम्मान मिलना अपने आप मे बस्तर क्षेत्र की जनता के लिए गौरव का अनुभव करता है।