नरपिशाच चढा पुलिस के हत्थे , नाबालिग लड़कियों के साथ करता था छेड़छाड़, विरोध करने शोर मचाने पर गला दबाकर हत्या कर शव को फेंक देता था आगरा नहर में

 

22 वर्षीय युवती की हत्या कर शव को झाड़ियों में फेंकने वाला आरोपी सिंहराज निकला बहुत बड़ा हत्यारा। पुलिस रिमांड के दौरान किया खुलासा, पहले भी इसी तरीके से 3 नाबालिक लड़कियों की हत्या कर चुका है आरोपी*

*फरीदाबाद:* 22 वर्षीय युवती की हत्या के मामले में क्राइम ब्रांच डीएलएफ द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपी सिंह राज ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। गिरफ्तार आरोपी सिंहराज के रिमांड के दौरान पूछताछ में पता चला कि आरोपी एक सीरियल किलर है जो इससे पहले भी तीन नाबालिग लड़कियों की हत्या कर चुका है।

डीसीपी क्राइम नरेंद्र कादयान ने प्रेस वार्ता के दौरान जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 31 दिसंबर को आरोपी ने 22 वर्षीय लड़की को सेक्टर 17 नहर के पुल के पास ले गया और उसके साथ गलत हरकत करने की कोशिश की जिसका विरोध करने पर आरोपी ने उसका भी गला दबाकर हत्या कर दी तथा उसके शव को झाड़ियों में फेंक दिया।

इस मामले में शिकायत के आधार पर गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज किया गया था बाद में युवती की डेड बॉडी मिलने पर हत्या की धाराएं लगाने के बाद इस केस की जांच क्राइम ब्रांच DLF को सौंपी गई थी

सेक्टर 17 नहर पुल के पास झाड़ियों से युवती का शव बरामद कर पोस्टमार्टम कराने उपरांत शव परिजनों को सौंप दिया गया।

पुलिस आयुक्त विकास अरोड़ा द्वारा मामले में आरोपी की जल्द धरपकड़ के दिए गए निर्देश के तहत एसीपी क्राइम सुरेंद्र श्योराण को मामले की जिम्मेवारी सौंपी गई।

एसीपी क्राइम की अगुवाई में गठित की गई टीम ने पुलिस टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर आरोपी को फरीदाबाद के वजीरपुर मास्टर रोड से काबू किया गया। केस में एससी एसटी एक्ट लगाकर तफ्तीश का जिम्मा एसपी क्राइम को सौंपा गया

पुलिस पूछताछ में जसाना गांव के रहने वाले 54 वर्षीय आरोपी सिंहराज ने बताया कि वह सिटी हॉस्पिटल में गार्ड की नौकरी करता था। आरोपी युवती को पिछले करीब एक 2 साल से जानता था। दिनांक 31 दिसंबर को जब युवती ओल्ड सब्जी मंडी से ऑटो में बैठकर चली तो आरोपी ने उसे 17-18 के चौक पर बुला लिया। वहां से आरोपी युवती को सेक्टर 17 पुल के पास ले गया छेड़छाड़ की कोशिश की तो युवती ने विरोध किया जिस पर गला दबाकर हत्या कर दी और उसका मोबाइल फोन अपने साथ लेकर फरार हो गया था ।

आरोपी का अपराधिक रिकॉर्ड बहुत पुराना है जिसमें उसने वर्ष 1986 में अपने चाचा तथा उसके बेटे की हत्या कर दी थी जिसमें पुलिस द्वारा उसे गिरफ्तार गया था। इस संबंध में थाना छांयसां में मुकदमा दर्ज है।

वर्ष 2019 में दिसंबर महा मे चाय की रेहड़ी लगाने वाली वाली एक 15 वर्षीय नाबालिग लड़की के साथ आपत्तिजनक हरकत करने की कोशिश की थी। लड़की द्वारा शोर मचाने पर आरोपी ने गला दबाकर उसकी हत्या कर उसके शव को आगरा नहर में फेंक दिया। इसी प्रकार आरोपी ने अगस्त 2020 मे नाबालिग लड़की के साथ गलत हरकत की, शोर मचाने पर गला दबाकर हत्या करके शव को आगरा नहर में फेंक दिया। आरोपी यहीं नहीं रुका उसने जून 2021 में फिर एक नाबालिग लड़की को अपना शिकार बनाया, गलत हरकत करने की कोशिश की शोर करने पर आरोपी ने उसका भी गला दबाकर ह्त्या कर दी तथा शव को आगरा नहर में फेंक दिया।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि जसाना निवासी 54 वर्षीय के आरोपी सिंह राज सिटी हॉस्पिटल में गार्ड की नौकरी करता था। मामले की तफ्तीश एसीपी क्राइम द्वारा की जा रही है पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को कल अदालत मे पेश किया जायेगा।