हरियाणा सरकार की मुख्य गतिविधियां एवं उनसे जुड़े समाचार पढ़िए मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क पर।

हरियाणा में आज पहले दिन 15 से 18 वर्ष की आयु के 54979 बच्चों को वैक्सीन दी गई- स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज
सबसे अधिक पानीपत में 8062 बच्चों को वैक्सीन लगायी गई- अनिल विज
चंडीगढ़ 3 जनवरी- बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क।
हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि आज 15 से 18 वर्ष की आयु के 54979 बच्चों को वैक्सीन दी गई, जिसमें सबसे अधिक पानीपत में 8062 बच्चों को वैक्सीन लगायी गई।
श्री विज ने बताया कि इसके बाद अंबाला में 7612 बच्चों को, भिवानी में 989 बच्चों को, चरखी दादरी में 2133 बच्चों को, फरीदाबाद में 1954 बच्चों को, फतेहाबाद में 335 बच्चों को, गुड़गांव में 4751 बच्चों को, हिसार में 7012 बच्चों को, झज्जर में 386 बच्चों को, जींद में 537 बच्चों को कोवाक्सिन का टीका लगाया गया।
इसी प्रकार, उन्होंने बताया कि कैथल में 1409 बच्चों को, करनाल में 4222 बच्चों को, कुरुक्षेत्र में 424 बच्चों को, महेंद्रगढ़ में 1215 बच्चों को, नुह में 266 बच्चों को, पलवल में 5093 बच्चों को, पंचकूला में 934 बच्चों को, रेवाड़ी में 1560 बच्चों को, रोहतक में 702 बच्चों को, सिरसा में 601 बच्चों को, सोनीपत में 1244 बच्चो को और यमुनानगर में 3538 बच्चों को कोवाक्सिन का टीका लगाया गया।

चंडीगढ़, 3 जनवरी- हरियाणा के कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री श्री मूलचन्द शर्मा ने कहा कि प्रदेश की आईटीआई और इंडस्ट्रीज के बीच बेहतर तालमेल होना बहुत जरूरी है, तभी आईटीआई में पढ़ने वाला बच्चा कंपनी में ट्रेनिंग करने के बाद हुनरमंद बनकर निकलेगा।
श्री मूलचंद शर्मा आज फरीदाबाद में ‘दोहरी प्रशिक्षण प्रणाली विषय के साथ किक ऑफ’ कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान आईटीआई और हरियाणा रोडवेज फरीदाबाद के बीच एक एमओयू भी साइन किया गया। इसमें प्रदेश की करीब 10 आईटीआई के प्रिंसिपल और 30 बड़ी कंपनियों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।
कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री ने कहा कि दोहरी प्रशिक्षण प्रणाली एक महत्वपूर्ण योजना है, जिसके भलि-भांति क्रियान्वित होने से न केवल राज्य के उद्योगों को उनकी मांग के अनुसार कामगार युवा मिलेंगे बल्कि इस प्रणाली की बदौलत आईटीआई के प्रशिक्षणार्थियों को शत-प्रतिशत नौकरी के सुअवसर भी मिलेंगे। दोहरी प्रशिक्षण प्रणाली एक ऐसा कार्यक्रम है, जिसमें आईटीआई और उद्योग आपस में जुड़कर प्रशिक्षणार्थियों को उद्योगों में आधुनिक मशीनों पर व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करते हैं। आईटीआई के युवाओं को इससे रोजगार के अधिकतम अवसर प्राप्त होते हैं।
श्री मूलचन्द शर्मा ने दोहरी प्रशिक्षण प्रणाली में मदद करने पर औद्योगिक जगत से जुड़े लोगों का आभार जताते हुए कहा कि जब कुशल बच्चा औद्योगिक जगत में आएगा, तभी इंडस्ट्रीज भी तरक्की करेगी।
एक अन्य कार्यक्रम में परिवहन मंत्री श्री मूलचन्द शर्मा ने बल्लभगढ़ के सेक्टर-24 में लगभग 39 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली सड़क, सीवर, जल और बिजली के पुनर्निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों से कहा कि काम में 18 महीने की जगह चाहे 20 महीने लग जाएं लेकिन काम को अच्छे से और गुणवत्ता के साथ पूरा किया जाए।

चंडीगढ़ 3 जनवरी- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल सोमवार को कुरुक्षेत्र में इंद्री से विधायक श्री रामकुमार कश्यप के आवास पर उनके सुपुत्र श्री राजेश कश्यप के निधन पर शोक व्यक्त करने के लिए पहुंचे । उन्होंने कहा कि राजेश कश्यप की आकस्मिक मृत्यु बेहद दुखद है । दुख की इस घड़ी में परमपिता परमात्मा दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें और परिवार को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें ।
मुख्यमंत्री ने परिवार के सदस्यों के साथ दुख सांझा किया और अपनी संवेदनाएं व्यक्त की ।
इस अवसर पर कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जे पी दलाल, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा, सांसद श्री संजय भाटिया, विधायक श्री लीला राम गुर्जर, उपायुक्त श्री मुकुल कुमार, पुलिस अधीक्षक डा. अंशु सिंगला सहित अन्य गणमान्य लोगों ने भी शोक व्यक्त किया।

2021 में साइबर जालसाजों पर सख्त रही हरियाणा पुलिस
ऑनलाइन धोखाधड़ी होने के बाद जालसाजों के अकांउट फ्रीज़ कर नागरिकों के बचाए 55 लाख रुपये*
चंडीगढ़, 3 जनवरी – हरियाणा पुलिस के नोडल साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन, पंचकूला द्वारा विभिन्न प्रकार के ऑनलाइन धोखाधड़ी पर शिकंजा कसते हुए 55 लाख रुपये से अधिक की राशि को फ्रीज करने में कामयाबी हासिल की है। साइबर जालसाजों द्वारा धोखाधड़ी करते हुए पीड़ितों के खातों से यह राशि ठगने का प्रयास किया गया था।
पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) हरियाणा, श्री प्रशांत कुमार अग्रवाल ने आज यहां बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश के तहत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन, पंचकूला में विभिन्न प्रकार के साइबर अपराधों से व्यापक रूप से निपटने के लिए एक राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर 155260 संचालित है।
पीड़ितों द्वारा ‘‘गोल्डन हावर्स‘‘ में 155260 को तत्काल उपलब्ध कराई गई सूचना के परिणामस्वरूप लेन-देन पर रोक लगाकर इस धोखाधड़ी की राशि को फ्रीज़ किया गया। शिकायत मिलने के तुरंत बाद, साइबर सेल पुलिस ने बैंक अधिकारियों अथवा संबंधित भुगतान ऐप और गेटवे के अधिकारियों से संपर्क किया। संबंधित प्रक्रिया के बाद नकदी का हस्तांतरण रोक दिया गया ताकि पीड़ितों के खातों में यह नकदी वापस पहुंच सके।
साइबर क्राइम से निपटने के लिए संसाधनों और तकनीक से लैस हुई पुलिस
साइबर अपराधों से निपटने की क्षमता बढ़ाने के मामले में 2021 को एक अच्छा वर्ष बताते हुए डीजीपी ने कहा कि हरियाणा पुलिस ने रोहतक, हिसार, करनाल, अंबाला, रेवाड़ी पुलिस रेंजांे सहित पुलिस कमिश्नरेट फरीदाबाद में छः नए साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन स्थापित किए हैं। इसके अलावा, साइबर अपराध के मामलों से निपटने के लिए पुलिस स्टेशन को सशक्त बनाने के लिए, राज्य के प्रत्येक पुलिस स्टेशन में साइबर डेस्क भी स्थापित किए गए हैं।
नागरिकों की सुविधा के लिए, गुरुग्राम और पंचकुला में दो अन्य साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन पहले से ही संचालित हैं।
डीजीपी ने कहा कि समय के साथ कंप्यूटर, स्मार्टफोन और इंटरनेट के उपयोग में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है। हाल के दिनों में कोविड महामारी के कारण प्रौद्योगिकी के बढ़ते उपयोग से भी ऑनलाइन धोखाधड़ी में तेजी से वृद्धि हुई है। पुलिस बल में साइबर संबंधी अधिक क्षमता जोड़ने से हमें प्रौद्योगिकी आधारित अपराध का प्रभावी ढंग से रोक लगाने में मददगार साबित होगी।
हरियाणा पुलिस राज्य भर में व्यापक और समन्वित तरीके से साइबर अपराधों से निपटने के लिए प्रतिबद्ध है। साइबर अपराध के खतरे से निपटने के लिए अपनी क्षमताओं को बढ़ाने के अलावा, हम राज्य भर में धोखाधड़ी को रोकने और डिजिटल उपयोगकर्ताओं को बचाने के लिए साइबर सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम भी चला रहे हैं।
डीजीपी ने नागरिकों से सतर्क रहते हुए किसी भी ऑनलाइन प्रलोभन से दूर रहने का आग्रह करते हुए कहा कि किसी भी प्रकार की साइबर धोखाधड़ी की स्थिति में केंद्रीकृत हेल्पलाइन और रिपोर्टिंग प्लेटफॉर्म 155260 पर तुरंत रिपोर्ट करें।

चण्डीगढ़, 3 जनवरी- हरियाणा की महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा ने कहा कि नए वर्ष में अधिकारी आमजन की समस्याओं का निवारण प्राथमिकता के आधार पर करने का संकल्प लें। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को अपने कार्यालय में उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ-साथ अपने मातहत कर्मचारियों को आमजन के साथ अच्छा व्यवहार करते हुए उनकी परेशानी का निवारण करने के निर्देश दिए।
श्रीमती ढांडा ने आज कैथल में नागरिकों की समस्याएं सुनने उपरांत संबंधी मांगों पर अधिकारियों को तत्काल फोन कर समाधान के आदेश दिए।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल निरंतर समाज में अंतिम छोर पर अंतिम पंक्ति में मौजूद व्यक्ति के उत्थान के लिए काम कर रहे हैं। उनकी जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए अधिकारी शीघ्रता से आमजन को जागरूक करें, ताकि हर जरूरतमंद व वंचित इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए पंजीकरण करवा सके।
उन्होंने कहा कि योग्य युवाओं को अनुबंध आधार पर रोजगार के अवसर के लिए हरियाणा रोजगार कौशल निगम की स्थापना की जा चुकी है, जिसपर युवा पंजीकरण करवा सकते हैं।

चण्डीगढ़, 3 जनवरी – हरियाणा सरकार ने प्रदेश में लॉजिस्टिक्स क्षेत्र में उत्कृष्टïता एवं दक्षता को बढ़ावा देने और लॉजिस्टिक्स से संबंधित सभी हितधारकों को एक मंच पर लाने के लिए राज्य लॉजिस्टिक्स समन्वय समिति का गठन किया है।
उद्योग एव वाणिज्य विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि मुख्य सचिव इस राज्य लॉजिस्टिक्स समन्वय समिति के अध्यक्ष होंगे।
इसी प्रकार, राजस्व विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव व वित्तायुक्त; बिजली विभाग, लोक निर्माण (भवन एवं सडक़ें) एवं वास्तुकला विभाग, सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, वित्त एवं योजना विभाग, नागरिक उड्डयन विभाग, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग, सूचना प्रौद्योगिकी, इलैक्ट्रॉनिक्स एवं संचार विभाग, नगर एवं ग्राम आयोजन तथा शहरी सम्पदा विभाग, शहरी स्थानीय निकाय विभाग, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग तथा परिवहन विभाग के प्रशासनिक सचिव इस समिति के सदस्य होंगे। हरियाणा अंतरिक्ष अनुप्रयोग केन्द्र (हरसक) के चेयरमैन, हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम के प्रबंध निदेशक, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम के महानिदेशक/निदेशक और केन्द्र सरकार द्वारा नामित अधिकारी भी इस समिति के सदस्य होंगे जबकि उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के महानिदेशक/निदेशक और सचिव इस समिति के सदस्य सचिव के रूप में कार्य करेंगे। इसके अलावा, आवश्यकता होने पर समिति किसी अन्य सदस्य को विशेष आमंत्री के रूप में भी आमंत्रित कर सकती है। समिति की माह में एक बार बैठक होगी।
प्रवक्ता ने बताया कि राज्य लॉजिस्टिक्स समन्वय समिति प्रदेश में लॉजिस्टिक्स से संबंधित मामलों के लिए स्टेट फोकल प्वांइट के रूप में कार्य करेगी और लॉजिस्टिक्स उद्योग के विकास पर बल देगी। समिति राष्टï्रीय लॉजिस्टिक्स नीति के अनुसार राज्य एवं सिटी लॉजिस्टिक्स के लिए मास्टर प्लान तैयार करेगी। इसके अतिरिक्त, समिति सिटी लॉजिस्टिक्स, वेयरहाऊसिज़ के लिए स्वीकृतियों के सरलीकरण, वेयरहाऊस विकास की सुविधा, ट्रक आवागमन के दबाव को कम करने और ट्रक चालकों की कमी को दूर करने पर बल देते हुए लॉजिस्टिक्स दक्षता को सुधारने के उपायों पर विचार करेगी।
उन्होंने बताया कि समिति लॉजिस्टिक्स से संबंधित मामलों में डील करने वाले सभी विभागों की गतिविधियों की समीक्षा, समन्वय एवं निरीक्षण करेगी। राज्य में समेकित बाधा रहित, दक्ष, विश्वसनीय, सतत एवं कम लागत वाला लॉजिस्टिक्स तंत्र सुनिश्चित करने के लिए भी कदम उठाएगी। इसके अतिरिक्त, समिति इस क्षेत्र की कमियों की पहचान करेगी और सरकार को नीतियां, कार्यक्रम एवं विधान आदि बनाने बारे परामर्श देगी।

सुशासन की परिकल्पना को सही मायने में मूर्तरूप दे रहा है सीएम विंडो व उनका टिवटर हैंडल

सात साल में 908024 लोगो की सीधे हुई पहुंच मुख्यमंत्री कार्यालय से

वर्ष 2021 में 123848 शिकायतों में से 74752 का हुआ निपटान

हर रोज औसतन 347 शिकायतों पर हुई सुनवाई

चंडीगढ़, 3 जनवरी – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस 25 दिसंबर से उनके सुशासन की परिकल्पना को साकार करने के लिए वर्ष 2014 से आरम्भ की गई सीएम विंडो की व्यवस्था सही मायने में सुशासन को मूर्तरूप दे रहा है। हर रोज औसतन 347 शिकायतों का समाधान मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा किया गया है। जो इस बात को चरितार्थ कर रहा है।

मुख्यमंत्री के ओएसडी श्री भूपेश्वर दयाल के अनुसार इस व्यवस्था पर आई शिकायतों, समास्याओं व सुझावों पर मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा तत्काल संज्ञान लेकर उनका कम से कम समय में समाधान किया जाता है और शिकायतकर्ता को उसके मोबाइल या रि-ट्विट करके सूचित किया जाता है कि उसके द्वारा की गई शिकायत किस स्तर पर है। उन्होने बताया कि सरकार के 2624 दिनों के कार्यकाल के दौरान 908024 शिकायतें/सुझाव प्राप्त हुए है। जो इस बात का दर्शाता है कि सीएम विंडो व ट्विटर हैंडल की व्यवस्था लोगो को खूब रास आ रही है मात्र साढ़े तीन घंटे में कैथल से मिली एक शिकायत का समाधान होने से लोग इसे मानने लगे है आर टी आई से भी ज्यादा असरदार।

वर्ष 2021 में 123848 शिकायतों में से 74752 का हुआ निपटान

श्री भूपेश्वर दयाल के अनुसार सीएम विंडो के साथ-साथ टिवटर हैंडल पर भी युवा पीढ़ी अपने परिवार, मोहल्ले व अन्य सार्वजनिक हित की शिकायतें के बारे फोटो व विडियो के साथ मुख्यमंत्री के टिवटर अकाऊंट पर पोस्ट करते है और उनकी शिकायतों का समाधान होने के बाद रि-टिवट में धन्यवाद भी करते है। उन्होने बताया कि वर्ष 2021 के दौरान सीएम विंडो पर आई 123848 शिकायतों में से 74752 का निपटान होने से लोग की इस व्यवस्था के प्रति जागरूकता बढ़ी है।

हिसार के जिंदल अस्पताल द्वारा वसूल किए अधिक बिल की राशि वापिस दिलवाई

ओएसडी श्री भूपेश्वर दयाल के हिसार से टिकट नंबर 346318 से CA Gaurav Aggarwal ने 8950532001 से @Gaurav_ACA से @SavitriJindal, @anilvijminister, @mlkhattar, @MPNaveenJindal @sajjanjindal को ट्विट पोस्ट किया कि जिंदल अस्पताल द्वारा 17123 रूपये की राशि का बिल कलेम किया गया जो टीपीए से अनुमोदित होने की बावजूद भी 850 रूपये राशि unclaimed चार्ज के रूप में वसूली की गई। उन्होने बताया कि सीएमओ द्वारा इतने नामी अस्पताल की लापरवाही के बारे मामले पर संज्ञान लिया गया और अस्पताल से जानकारी ली गई और इस unclaimed राशि को वापिस दिलाया गया। अपने संतोषजनक टिवट में CA Gaurav Aggarwal ने @cmohry, @mlkhattar, @anilvijminister कहा कि मेरी समस्या का समाधान हो गया है जिस तरीके से आप जनता की शिकायतों समस्या कर रहे हो उसे में पसंद करता हूं। ऐसे ही जारी रखो जय हिन्द।

का समाधान नारी की गंभीरता को देखते सीएमओ कार्यालय के अधिकारी सतर्क हुए और तत्काल स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए गए। उन्होने बताया कि 3 नवंबर, 2021 को ही सांय 6ः06 बजे ही बलकार चौधरी ने अपने मोबाइल नं 9911260247 से @cmohry, @anilvijminister को रि-ट्विट किया कि श्रीमान जी इस सकारात्मक प्रतिक्रिया के लिए आपका धन्यवाद।

उन्होने बताया कि इस व्यवस्था के प्रति विश्वास बढ़ा है और मानने लगे है की यह तो आर टी आई से भी ज्यादा असरदार है क्योंकि सरकारी विभागों से आर टी आई से मांगी गई सूचना के बारे जानकारी प्राप्त होने में कई-कई महीने लग जाते है, परन्तु इस व्यवस्था पर तो ज्योंहि शिकायत अपलोड होती है तो उसी दिन मुख्यमंत्री कार्यालय से सूचित किया जाता है कि आपकी शिकायत प्राप्त हुई है और इसके समाधान की प्रक्रिया आरम्भ कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि ऐसे कई मामले हैं कि कई विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय से डिग्रियां व छात्रवृतियां इस व्यवस्था के माध्यम से मिली हैं। लोगों ने व्यक्तिगत रूप या पत्राचार के माध्यम से सीएम विंडो व ट्विटर हैंडल से जुड़े अधिकारियों का आभार व्यक्त किया है।

डरे नहीं-सजग रहें, नियमों की पालना करें तो कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा कोरोना – स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने प्रदेश में 15 से 18 आयु वर्ग के बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगाने की शुरूआत अम्बाला छावनी में स्थापित वैक्सीनेशन सेंटर से की

चंडीगढ़, 3 जनवरी – हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि निश्चित तौर पर कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे रही है मगर, एक बात वह स्पष्ट तौर पर कहना चाहते हैं कि डरे नहीं- सजग रहें, कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा और कोरोना से बचाव की नियमों की पालना करें ।

स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने प्रदेश में 15 से 18 आयु वर्ग के बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगाने के कार्यक्त्रम की शुरूआत अम्बाला छावनी के एसडी कालेज में स्थापित में स्थापित वैक्सीनेशन सेंटर से की। इससे पहले, उन्होंने सेंटर का रिब्बन काटकर विधिवत उद्घाटन भी किया। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री श्री विज ने कोरोना वैक्सीन लगाने वाले बच्चों को सर्टिफिकेट भी प्रदान किए। उन्होंने बताया कि आगामी 10 जनवरी से फ्रंट लाइन वर्करस, हेल्थ केअर वर्करस और 60 वर्ष आयु से अधिक के कोमोरबिटी लोगों को प्रीकॉशन डोज लगाने का अभियान भी शुरू किया जाएगा। हरियाणा में अब तक पहली डोज 98 प्रतिशत लोगों और 71 प्रतिशत दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। इस अवसर पर वीसी के माध्यम से प्रदेशभर के सीएमओ इस कार्यक्त्रम में शामिल भी हुए।

विश्व का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान पीएम मोदी के मार्गदर्शन पर सफलतापूर्वक चल रहा – अनिल विज

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के कुशल मार्गदर्शन में विश्व का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान भारत में सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हरियाणा में 15.40 लाख बच्चे 15 से 18 साल की श्रेणी में आते हैं। इन बच्चों का सोमवार 3 जनवरी 2022 से पूरे हरियाणा में वैक्सीनेशन अभियान आरंभ किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री श्री विज ने कहा कि हरियाणा के हर टीकाकरण केंद्र पर इसकी व्यवस्था की गई है और हमने कहा है कि बच्चों के लिए अलग लाइन लगाए और अलग टीका लगाने वालों की टीम वहां पर उपस्थित हो। जहां-जहां पर मुमकिन हो सके तो केवल बच्चों के लिए ही वैक्सीनेशन सेंटर चलाए जाए।

मैं फ्रंट लाइन वर्करस को सेल्यूट करता हूं – स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज

स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि वह अपने स्वास्थ्य विभाग के सभी डॉक्टर्स, नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, आशा वर्कर व अन्य सभी स्टाफ को सेल्यूट करते हैं जिन्होंने कोरोना के खिलाफ इस युद्ध में अपना बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया है। हालांकि ऐसा करते हुए कुछ लोगों को अपनी जान भी गवानी पड़ी। स्वास्थ्य विभाग के 28 लोग अपने दायित्व को निभाते हुए अपनी कुर्बानी दे चुके हैं। इसी प्रकार, पुलिस विभाग के 35 लोगों ने अपनी जान गवाई और नगर निकायों के भी कुछ लोगों को अपने प्राणों की आहूती देनी पड़ी, लेकिन डटकर सभी लोगों ने अपने दायित्व का निर्वाह किया।

कोरोना आया, तो एक भी लैब नहीं, आज प्रदेश में एक जिले को छोड़ हर जिले में आरटीपीसीआर लैब चालू -अनिल विज

स्वास्थ्य मंत्री श्री विज ने कहा कोरोना से लड़ने के लिए हमने अपनी सारी व्यवस्थाएं की है और जो-जो आवश्यक है वह सभी हरियाणा में उपलब्ध कराया जा रहा है। जब कोरोना आया था तब हरियाणा में एक भी आरटीपीसीआर लैब नहीं थी, आज एक जिले को छोड़ शेष सारे जिलों में आरटीपीसीआर लैब स्थापित है और जिस जिले में नहीं वहां भी जल्द लगने वाली है। जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए भी हमे दिल्ली जाना पड़ता था, मगर अब तीन दिन से रोहतक के एमडीयू में लैब चालू हो चुकी है, और हम अपने अपरेट्स दिल्ली नहीं रोहतक भेज रहे हैं।

84 सरकारी व 54 प्राइवेट अस्पतालों में पीएसए प्लांट स्थापित – अनिल विज

स्वास्थ्य मंत्री श्री विज ने कहा कि दूसरी लहर में ऑक्सीजन की दिक्कत आई और तब हमने निर्णय लिया कि 50 बेड से ऊपर के सभी सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में पीएसए प्लांट लगाए गए। अब 84 सरकारी अस्पतालों में पीएसए प्लांट चालू हो चुके हैं और प्राइवेट अस्पतालों में 54 पीएसए प्लांट चालू हो चुके हैं। हमारे पास पर्याप्त मात्रा में आइसोलेशन बेड, ऑक्सीजन बेड, आईसीयू, वेंटीलेटर और बहुत बड़ी संख्या में ऑक्सीजन कंसटरेटर भी है और वह सभी दवाएं जो ईलाज में इस्तेमाल होती है उनका पर्याप्त स्टॉक हमारे पास उपलब्ध है।

सरकार द्वारा जारी नियमों की पालना करें – अनिल विज

स्वास्थ्य मंत्री ने प्रदेशवासियों से आग्रह करते हुए कहा कि सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए समय-समय पर दिशा-निर्देश जारी किए हैं और वह सभी से यह कहना चाहते हैं कि आप सब उनका पालन करें। उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर आ रही है, मगर मैं एक बात कहना चाहता हूं कि डरें मत सजग रहे, कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा, सजग रहें । लोग मॉस्क डाले, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, समय पर साबुन से हाथ साफ करे, कहीं भीड़ इकट्ठी मत करें। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ‘लोग अपने काम धंधे करें, हम मना नहीं करते, मगर सरकार की हिदायतों को ध्यान में रखते हुए काम करें, सरकार ने जो संख्या की अनुमति दी है उसकी अवहेलना न करें,उतनी संख्या में ही एकत्रित होना चाहिए जो बताई गई है’। उन्होंने कहा कि कुछ जिलों में दुकानें बंद करने की समय सीमा तय की गई है और इसमें प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि ‘‘जो-जो हिदायतें दी गई हैं उनकी पालन कीजिए’’।

10 दिनों में वैक्सीनेशन पूरी की जाएगी- विज

स्वास्थ्य मंत्री श्री विज ने कहा कि आज से 15 से 18 वर्ष आयु बच्चों को वैक्सीनेशन अभियान की शुरूआत की गई है। उन्होंने कहा कि ‘हमें उम्मीद है कि आगामी 10 दिनों में इसे पूरा किया जाएगा, हमारे पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीनेशन का स्टॉक उपलब्ध है और केंद्र से और स्टॉक मिलने का आश्वासन मिला है’।

इससे पहले वीसी के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा ने भी वैक्सीनेशन अभियान की रूपरेखा बारे विस्तार से जानकारी दी और स्वास्थ्य मंत्री द्वारा इस अभियान का शुभारम्भ करने की बधाई दी और कहा कि आज पूरे प्रदेश में इस अभियान का आगाज हो चुका हैं। मिशन निदेशक नेशनल हैल्थ मिशन प्रभजोत सिंह ने वीसी के माध्यम से स्वास्थ्य मंत्री का इस अभियान को शुरू करने के लिए धन्यवाद किया।

कार्यक्त्रम में पहुंचने पर स्वास्थ्य मंत्री का उपायुक्त विक्त्रम सिंह व नेशनल हेल्थ मिशन के डायरेक्टर रणदीप सिंह पुनिया, अन्य प्रशासनिक अधिकारियो ने पुष्पगुच्छ देकर उनका अभिनंदन किया।