हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा कार्यान्वित की गई योजनाओं का अनुसरण अन्य विभिन्न राज्यों के साथ-साथ केंद्र सरकार द्वारा भी किया जा रहा है।

 


नई दिल्ली।बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क।  नई दिल्ली में प्रगति मैदान में आयोजित 40 वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला में हरियाणा राज्य दिवस पर आयोजित ‘सांस्कृतिक संध्या’ के अवसर पर मुख्यातिथि के रूप संबोधित करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि परिवारों के संदर्भ में विभिन्न प्रकार की उपयोगी जानकारियों के आधार पर  ‘परिवार पहचान-पत्र’ जैसे उपयोगी कार्यक्रम को कार्यान्‍वित करने वाला हरियाणा देश का प्रथम राज्य है।हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘मुख्यमंत्री परिवार अंत्योदय उत्थान’ योजना के अंतर्गत उत्थान व कल्याण  का कार्यक्रम तय किया गया है।  हरियाणा राज्य के 01लाख रुपये से कम आय वाले 01 परिवारों की आय 02 लाख रूपये तक  किए जाने के लिए रोजगार कार्यक्रम चलाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।


हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार की लाल डोरे के भीतर की संपत्तियों का पंजीकरण व राजस्व रिकार्ड तैयार करने की लाल डोरा मुक्त योजना की प्रशंसा स्वयं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भी की है। इसी दिशा में केंद्र द्वारा ‘स्वामित्व योजना’ कार्यान्‍वित की गई। हरियाणा सरकार की आनलाईन स्थानांतरण नीति दूसरे प्रदेशों के लिए भी अनुकरणीय है।आनलाईन स्थानांतरण नीति से शिक्षा विभाग के 83,000 हजार शिक्षक लाभान्वित हुए हैं और 93 प्रतिशत शिक्षक संतुष्ट हुए हैं। सरकारी सेवाओं की चयन प्रक्रिया को योग्यता के आधार पर पारदर्शिता के साथ पूर्ण किया गया है।पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों की शैक्षणिक योग्यता निर्धारित करने का अनुकरणीय कार्य किया गया है।


हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार की नीतियों व जनकल्याणकारी योजनाओं की स्वयं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा भी की गई है। सुशासन व अच्छे कार्यों के लिए हरियाणा सरकार के सभी के सुझावों का सदैव स्वागत करती है। हरियाणा सरकार भी प्रधानमंत्री के दिखलाए मार्ग ‘सबका साथ-सबका विकास,सबका विश्वास- सबका प्रयास’ पर अग्रसर है।


उल्लेखनीय है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रगति मैदान आयोजित 40 वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला में हरियााण मंडप का अवलोकन किया। हरियाणा राज्य दिवस पर आयोजित ‘सांस्कृतिक संध्या’ में कलाकार ने शानदार हरियाणवी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां प्रस्तुत की। इस दौरान राज्यसभा सदस्य श्री रामचंद्र जागंडा,हरियाणा व्यापार मेला प्राधिकरण की मुख्ढय प्रशासक व महिला एवं बाल विकास विभाग की प्रधान सचिव डाॅ जी अनुपमा,हरियाणा व्यापार मेला प्राधिकरण की प्रशासक श्रीमती सोफिया दहिया व सीएम विंडो कार्यक्रम के प्रभारी श्री अनिल राव
भी मौजूद रहे। कार्यक्रम में हरियाणा के पैरालंपिक के पदक विजेता खिलाडी श्री मनीष नरवाल,श्री सुमित आंतरिक, श्री योगेश कथूनिया व सिहंराज अधाना भी मौजूद रहे।

उल्लेखनीय है कि ‘ हरियाणा मंडप’ आगंतुकों के आकर्षण का केंद्र  बना हुआ है।’आत्मनिर्भर भारत-आत्मनिर्भर हरियाणा’ विषयवस्तु के साथ हरियाणा प्रदेश गत वर्षों की भांति सक्रिय रूप से भागीदारी कर रहा है। हरियाणा मंडप में हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय आर्य व हरियाणा के मुख्यमंत्री  श्री मनोहर लाल के संदेश प्रदेश सरकार के विजन के परिचायक है।
उल्लेखनीय है कि हरियाणा देश के सर्वाधिक प्रगतिशील राज्यों में शामिल है।हरियाणा प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में हुई उन्नति को हरियाणा मंडप में बेहतर रूप से प्रदर्शित किया गया है।”एक आदर्श निवेश गंतव्य-अंतहीन अवसर” के संदेश के साथ हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत संरचना विकास निगम के विभिन्न मेगा फूड पार्क,फुटवियर पार्क,आईएमटी व अन्य औद्योगिक क्षेत्रों का विवरण प्रदर्शित किया गया है। हरियाणा राज्य से होने निर्यात को    राज्य की प्रगति के रूप में प्रदर्शित किया गया है। हरियाणा का वर्ष 1967-68 में 4.5 करोड रूपये का निर्यात बढकर वर्ष 2020-21 में 1,74,572 करोड रूपए तक पहुंच गया।
हरियाणा कृषि एवं व्यवसाय निती , सूक्ष्म,लघु एवं मध्यम उद्योग निती. तथा हरियाणा उद्यम और रोजगार निती  को भी प्रदर्शित किया हुआ है। ‘एक खंड-एक उत्पाद’ को हरियाणा सरकार के एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में प्रदर्शित किया गया है। एकीकृत विमानन हब को प्रदर्शित किया गया है।कौशल विकास प्रशिक्षण के मिशन के रूप में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय का विवरण प्रदर्शित किया हुआ है।
उद्योगों की मांग व आवश्यकता के अनुसार तकनीकी शिक्षा के विकास को दर्शाया गया है। तकनीकी शिक्षा के विकास और तकनीकी विश्वविद्यालयों, इंजिनियरिंग काॅलेजों,बहुतकनीकी संस्थानों व अन्य संस्थानों का विवरण दिया हुआ है। इसके अतिरिक्त आईआईआईटी सोनीपत, आईआईएम रोहतक, नेशनल इंस्टीट्यूट आफ डिजाइन कुरूक्षेत्र व नैशनल इंस्टीट्यूट आफ फैशन टेक्नोलॉजी का विवरण दिया हुआ है।
विद्युत क्षेत्र में हरियाणा के विद्युत निगमों का लाभ में होने तथा ‘म्हारा गांव जगमग गांव’ योजना के परिणामस्वरूप हरियाणा के दस जिलों में चौबीस घंटे विद्युत आपूर्ति की दर्शाया गया है। हरियाणा के 5367 गांवों में 24 घंटे व 1658 गांवों में 16 घंटे से 18 घंटे विद्युत आपूर्ति का विवरण प्रदर्शित किया गया है। स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार विवरण दर्शाया गया है। हरियाणा को खेलों के एक हब के रूप में प्रदर्शित किया हुआ है। ओलंपिक व पैरालम्पिक के विजेता खिलाडियों को दी गई पुरस्कार राशि व अन्य सुविधाओं का विवरण दिया हुआ है।
परिवार पहचान-पत्र योजना का विस्तृत विवरण प्रदर्शित किया हुआ है। परिवार पहचान-पत्र बनाने वाला हरियाणा देश का प्रथम राज्य है। वालंटियर सेवा के विस्तार की दिशा में ‘समर्पण’ कार्यक्रम को शानदार रूप से प्रदर्शित किया हुआ है। केंद्र सरकार की योजनाओं को भी सही रूप में डिस्प्ले किया हुआ है।