हरियाणा सरकार की मुख्य गतिविधियां एवं उनसे जुड़े समाचार पढ़िए मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क पर।

किसान नेताओं ने की धरना समाप्त करने की घोषणा

सरकार और किसान संगठनों के बीच हुआ समझौता

हाईकोर्ट के सेवानिवृत जज से लाठीचार्ज प्रकरण की होगी जांच

मृतक किसान के परिवार के दो सदस्यों को डीसी रेट पर मिलेगी नौकरी -एसीएस देवेन्द्र सिंह

चंडीगढ़ 12 सितम्बर- बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क।
करनाल में पिछले पांच दिनों से चल रहे आंदोलन को लेकर सरकार और किसान संगठनों के बीच सौहार्दपूर्ण माहौल में समझौता हो गया है। सरकार द्वारा लाठीचार्ज प्रकरण की जांच हाईकोर्ट के सेवानिवृत जज के द्वारा करवाई जाएगी। इस दौरान तत्कालीन एसडीएम आयुष सिन्हा छुट्टी पर रहेंगे। समझौते के तहत मृतक किसान के परिवार के दो सदस्यों को स्वीकृत पद पर डीसी रेट अनुसार नौकरी दी जाएगी।

समझौते की घोषणा अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेन्द्र सिंह, उपायुक्त निशांत कुमार यादव, पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया, किसान संगठनों की ओर से गुरनाम सिंह चढूनी व अन्य नेताओं की उपस्थिति में संयुक्त रूप से मीडिया से रूबरू होते हुए की गई।

प्रशासन की ओर से एसीएस देवेन्द्र सिंह ने कहा कि आंदोलनकारियों के साथ प्रशासन पिछले 4 दिनों से लगातार एक सौहार्दपूर्ण माहौल में वार्ता करता रहा था , जिसके परिणामस्वरूप आज दोनों पक्षों में आपसी सहमति बनी है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि किसान हमारे भाई हैं और यह समझौता बड़े सम्मानजनक तरीके से हुआ है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेन्द्र सिंह ने बताया कि किसान संगठनों की मांग थी कि बसताड़ा टोल पर 28 अगस्त को पुलिस लाठीचार्ज की जांच की जाए और मृतक किसान सुशील काजल को उचित मुआवजा दिया जाए। इन मांगों पर प्रशासन व किसान नेताओं के बीच गत दिवस देर सायं 4 दौर की बातचीत हुई जिसमें प्रशासन व किसानों के बीच सहमति बनी। उन्होंने बताया कि लाठीचार्ज प्रकरण की पूरी जांच माननीय उच्च न्यायालय के सेवानिवृत जज द्वारा करवाने पर सहमति बनी है। यह जांच एक माह में पूरी करवाई जाएगी और इस दौरान तत्कालीन एसडीएम आयुष सिन्हा छुट्टी पर रहेंगे। इसके साथ-साथ मृतक किसान के परिवार के दो सदस्यों को डीसी रेट की सैंक्शन पोस्ट पर एक सप्ताह के अंदर नौकरी दी जाएगी।

फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने बताया कि प्रशासनिक अधिकारियों व उनकी बातचीत के अनेक दौर हुए और सरकार ने किसानों की मांग मानी है। उन्होंने कहा कि लाठीचार्ज प्रकरण की जांच और मृतक किसान के परिजनों को नौकरी देने की मांग मानी गई है। इस बारे सभी संगठनों से बातचीत की गई और सभी ने अपनी सहमति जताई और उन्होंने लघु सचिवालय के सामने चल रहे धरने को समाप्त करने की घोषणा की है । धरने पर बैठे सभी लोगों ने निर्णय का स्वागत किया।

चंडीगढ़, 11 सितंबर- मातृभूमि संदेश बी डी कौशिक। हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने आज न्यायमूर्ति श्री हरिपाल वर्मा (सेवानिवृत्त) को हरियाणा के नए लोकायुक्त के रूप में राजभवन में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

इस अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल व विधानसभा के अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता भी मौजूद थे।

कार्यक्रम में मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन, मुख्यमंत्री के विशेष प्रधान सचिव श्री डी.एस. ढेसी, वित विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टीवीएसएन प्रसाद, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना , जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डाॅ. अमित अग्रवाल, राज्यपाल के सचिव श्री अतुल दिवेदी, पुलिस महानिदेशक श्री पी.के.अग्रवाल, सी.आई.डी के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री आलोक मितल, हरियाणा के महाधिवक्ता श्री बलदेव राज महाजन व हरियाणा के चुनाव आयुक्त श्री धनपत सिंह सहित पंजाब व हरियाणा के उच्च न्यायालय के न्यायाधीश, लोकायुक्त न्यायमूर्ति श्री हरिपाल वर्मा (सेवानिवृत्त) के परिवार के सदस्यों सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे ।

हरियाणा प्रगतिशील व साधन-सम्पन्न प्रदेश- राज्यपाल

शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, कृषि, रोजगार सृजन व कौशल विकास इत्यादि राज्यपाल की प्राथमिकताओं में शामिल

चण्डीगढ़, 11 सितंबर- मातृभूमि संदेश बी डी कौशिक। हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा है कि हरियाणा प्रगतिशील व बहुत ही साधन-सम्पन्न राज्य है और देश में कई विषयों में आगे हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा के लोग काफी अच्छे, मेहनती व सरल स्वभाव के हैं। हरियाणा और आगे बढ सके इसके लिए उनकी कुछ प्राथमिकताएं हैं जिनमें मुख्य तौर पर शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, कृषि (विशेष रूप से जैविक), रोजगार सृजन के साथ-साथ कौशल विकास इत्यादि शामिल है। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि नैतिक मूल्यों, पेशेवर व तकनीकी पद्धति के साथ-साथ इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढावा देना भी उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है।

राज्यपाल आज यहां राजभवन में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

राज्यपाल का 40 साल का लंबा राजनीतिक जीवन रहा

उन्होंने कहा कि उनका 40 साल का लंबा राजनीतिक जीवन रहा है और उन्हें प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आपको अच्छी जिम्मेदारी दी जाएगी जिस पर मैंने कहा था कि मैं इस जिम्मेदारी को अच्छी प्रकार से निभाऊंगा। उन्होंने कहा कि गत 15 जुलाई को वे हरियाणा के राज्यपाल बने हैं और उसके बाद से हरियाणा के मुख्यमंत्री, मंत्री व अधिकारी उनसे मिलने के लिए आएं हैं और इन सभी से विभिन्न विषयों पर विस्तृत जानकारी भी मिली है। उन्होंने बताया कि उन्हें मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल से पहली बार मिलने का मौका मिला और उन्होंने सरकार की प्राथमिकताएं उन्हें बताई हैं।

हम कोविड पर विजय पाएंगे- राज्यपाल

उन्होंने कहा कि वर्तमान में देश व हरियाणा में कोविड वैक्सीनेशन का कार्य अच्छा चल रहा है और अब लोगों का संशय दूर हो रहा है और लोगों में हिम्मत भी आ रही हैं जिससे हम कोविड पर विजय पाएंगें। उन्होंने कहा कि कोविड की भयानक परिस्थिति बीत चुकी है।

नई शिक्षा नीति वर्ष 2025 तक लागू करने की बात, मिलेंगे रोजगार के अवसर

राज्यपाल ने कहा कि हमने पहली बार विश्वविद्यालयों के कुलपतियों व रजिस्ट्रार की एक दिन की कार्यशाला शुरू की जिसमें मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री ने भी भाग लिया और तकनीकी संस्थाओं के लोगों ने भी भाग लिया। इसी प्रकार, कौशल विकास के लिए भी कार्यशाला की गई जिसमें विश्वकर्मा विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों व कुलपति ने भाग लिया। उन्होंने कहा कि जल्द ही स्वास्थ्य के संबंध में भी एक बैठक उनके द्वारा ली जाएगी। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति को 202़5 तक राज्य में अमल करने की बात उन्हें बताई गई है जिसके लिए विश्वविद्यालयों के कुलपतियों द्वारा शैडयूल पर काम किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हरियाणा में नई शिक्षा नीति वर्ष 2025 तक लागू करने की बात है जिससे रोजगार के अवसर मिलेंगे और कई चीजों का समाधान होगा।

राज्य की खेल नीति सराहनीय

श्री दत्तात्रेय ने कहा कि हरियाणा खेलों में अच्छा कार्य कर रहा है और राज्य की खेल नीति सराहनीय है जिसके चलते हाल ही में हुए ओलँपिक खेलों में हरियाणा के खिलाडियों ने राज्य को देश व दुनिया में नई पहचान दिलाई है और इसके लिए वे हरियाणा के खिलाडियों को बधाई देना चाहते हैं।

परिवार पहचान पत्र महत्वपूर्ण व परिवर्तक का करेगा कार्य

राज्यपाल ने बताया कि राज्य में परिवार पहचान पत्र का कार्य जारी है जो एक महत्वपूर्ण व परिवर्तक का कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि इस योजना से गरीब से गरीब को लाभ मिलेगा और गरीबी को दूर करने का सहयोग मिलेगा तथा रोजगार सृजन में यह योजना अहम योगदान दे सकती है।

प्रवासी मजदूरों के लिए हो कल्याणकारी कार्य

राज्यपाल ने अपनी इच्छा जाहिर करते हुए कहा कि प्रवासी मजदूरों के कल्याण के लिए उनके मन में काम करने का विचार हैं जिसके तहत न्यूनतम वेतन, मकान, कल्याणकारी योजनाएं व नीतियां, स्वास्थ्य, शिक्षा इत्यादि शामिल है। उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूरों के कल्याण हेतू वे सुझाव भी चाहते हैं। उन्होंने कहा कि यदि उनके ध्यान में कोई भी बात आएगी तो वे सरकार को अवश्य बताएंगें। सरकार अच्छे सुझावों को मान रही है।

अपनी जिम्मेदारियों के तहत राजनीतिक व सामाजिक संगठनों से मिल रहे हैं राज्यपाल

उन्होंने अपनी कार्य प्रणाली के संबंध में कहा कि वे अपनी जिम्मेदारियों के तहत राजनीतिक व सामाजिक संगठनों से मिल रहे हैं व उनके विषयों को सुन रहे हैं। पिछले दिनों प्रतिपक्ष नेता श्री भूपेन्द्र सिंह हुडडा उनसे मिलने के लिए आए थे और बहुत से विषयों पर उनसे बात हुई थी। इसी प्रकार, जेजेपी के नेताओं से भी उनकी बातचीत हुई है। सभी राजनीतिक लोगों से वे मिल रहे हैं।

एनसीसी व रेडक्रास जैसे संगठन लोगों की मदद में अपनी अहम भूमिका निभा सकते हैं-राज्यपाल

राज्यपाल ने कहा कि वे प्रवास करने का भी प्रयास करेंगें, इसी कडी में वे पिछले दिनों कुरूक्षेत्र व गुरूग्राम भी गए थे। उन्होंने कहा कि रेडक्रास के तहत सामाजिक लोगों की भागीदारी को बढ़ाने की जरूरत हैं। इसके अलावा, नए लोगों को भर्ती करने के साथ-साथ सप्लाई चेन पर बल देने की आवश्यकता है। ऐसे ही, एनसीसी व रेडक्रास जैसे संगठन लोगों की मदद में अपनी अहम भूमिका निभा सकते हैं।

रैडक्रास, साकेत व बाल कल्याण जैसी संस्थाओं का सदुपयोग हो-राज्यपाल

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि रैडक्रास, साकेत व बाल कल्याण जैसे कार्य अच्छे विचारों के तहत ही स्थापित व विकसित किए गए हैं और इनका सदुपयोग होना चाहिए। इसी प्रकार, एक अन्य प्रश्न के उत्तर में राज्यपाल ने कहा कि जहां तक विश्वविद्यालयों में रिक्तियां भरने की बात हैं तो इन्हें भरना बहुत बड़ी जिम्मेदारी का काम है इसलिए वर्ष 2025 तक चरणबद्ध तरीके से इन्हें भरा जाना चाहिए।

वे चाहते हैं कि किसान आंदोलन का हो जल्द से जल्द से समाधान, किसी भी समस्या का समाधान वार्ता (डायलाॅग) है

इसी प्रकार, किसान आंदोलन के संबंध में राज्यपाल ने कहा कि वे चाहते हैं कि केन्द्र व राज्य सरकार इस समस्या का समाधान करने के लिए प्रयासरत हैं और वे चाहते हैं कि इस समस्या का समाधान जल्द से जल्द हो। उन्होंने कहा कि किसी भी समस्या का समाधान वार्ता (डायलाॅग) है, वार्ता प्रक्रिया लगातार जारी रहनी चाहिए, उसी से रास्ता निकलेगा। वार्ता के लिए केन्द्र सरकार तैयार है बाकी विभिन्न माध्यम भी है लेकिन हमें समाधान चाहिए और समाधान के लिए वार्ता जरूरी है।
चंडीगढ़, 11 सितंबर- मातृभूमि संदेश बी डी कौशिक। केंद्र सरकार द्वारा छह रबी फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने तथा हरियाणा सरकार द्वारा गन्ने का भाव देश में सर्वाधिक देने की घोषणा करने पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश धनखड़ के नेतृत्व में राज्यभर के सैंकड़ों किसान मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का धन्यवाद करने आज चंडीगढ़ पंहुचे।

कृषि एवं किसानों के हित में सरकार द्वारा उठाए गए एक के बाद एक कई कदमों से प्रफुल्लित किसानों ने गन्नों के पौधों तथा बाजरे के सिरटों से बने हुए ‘बुक्के’ देकर मुख्यमंत्री का सम्मान किया। इसके अलावा, स्वयं किसानों ने मुख्यमंत्री व भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश धनखड़ को लड्डू खिलाकर उनका ‘मुंह मिठा’ करवाया। रबी फसलों की बुवाई से पहले ही फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने पर कई किसानों ने सिरोपा व पगड़ी पहनाकर मुख्यमंत्री का आभार जताया।

प्रदेशभर के किसानों द्वारा जिंदादिली से सम्मान करने पर गदगद हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने घोषणा की कि गन्ना का भाव हमने पहले भी बढ़ाया है, इस बार भी बढ़ाया है और अगले वर्ष फिर बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि किसी भी गन्ना मिल में किसान के गन्ना का पैसा नहीं मरने देंगे, उनको बिल्कुल भी नुकसान नहीं होने देंगे।

मुख्यमंत्री ने पंजाब सरकार की तरफ इशारा करते हुए कहा कि पड़ोसी राज्य ने चुनाव को नजदीक देख चार साल बाद गन्ने का भाव बढ़ाया है जबकि हम बिना चुनाव भी किसानों के गन्ने का भाव बढ़ाते आ रहे हैं। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि अगर पड़ोसी कांग्रेसी सरकार किसान हितैषी होने का इतना ही दंभ भरती है तो अपने प्रदेश के किसानों को हमारी तर्ज पर गन्ने का भाव देकर पिछला एरियर भी किसानों को देकर दिखाए। हरियाणा देश का ऐसा पहला राज्य है जहां गन्ने का सर्वाधिक भाव दिया जा रहा है । इस वर्ष भी हरियाणा सरकार ने गन्ने का भाव 12 रुपये प्रति किवंटल बढ़ाकर इसे 350 रुपये से 362 रुपये किया है। यह देश में तो सर्वाधिक है ही नजदीकी और हाल ही में चुनाव वाले पड़ोसी राज्य पंजाब से भी दो रुपये ज्यादा है ।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बुवाई से काफी पहले घोषित करने पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का आभार जताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री का विजन वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुणी करने का है। उसी सोच के अनुरूप ही प्रधानमंत्री ने छह फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में भारी बढ़ोतरी की है। उन्होंने पूर्व की कांग्रेसी सरकारों पर आरोप लगाया कि उनके कार्यकाल में फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की तब घोषणा की जाती थी जब अधिकतर किसान औने-पौने दामों में अपनी फसल बेच चुके होते थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस समय देश और प्रदेश में किसान हितैषी सरकारें हैं इसी के चलते किसानों को उनकी फसलों के बेहतर भाव दिए जा रहे हैं ।

उन्होंने कहा कि जब उनको जानकारी मिली कि इस बार बारिश के मौसम में कम बारिश होगी तो उन्होंने अधिकारियों को तुरंत निर्देश दिए कि किसानों को कृषि क्षेत्र में कम से कम 10 घंटे बिजली दी जाए। उन्होंने बताया कि फिलहाल राज्य के 5700 गांवों में 24 घंटे बिजली दी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने किसानों को उनकी फसलों के दाम सीधा उनके बैंक खाते में भेजने पर होने वाले फायदों को गिनवाया और बताया कि फसल बिक्री के बाद 72 घंटे में अदायगी न होने पर किसानों को ब्याज भी दिया गया है। उन्होंने छोटे किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी देते हुए कहा कि एग्रो-बेस्ड उद्योग तथा पशुपालन व्यवसाय में उनको ऋण आदि की सुविधा दी जा रही है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश धनखड़ ने प्रधानमंत्री द्वारा रबी की छह फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में भारी बढ़ोतरी करने व गन्ने का भाव मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा देश में सर्वाधिक देने की घोषणा पर किसानों की तरफ से धन्यवाद किया और कहा कि हरियाणा का किसान अपनी सरकार से पूरी तरह खुश है। उन्होंने कहा कि वर्तमान केंद्र व राज्य सरकार द्वारा किसानों के हित में उठाए गए कदमों से अन्य राज्यों की सरकार से तुलना करेंगे तो हमेशा हमारी सरकार सब पर भारी पड़ेगी।

इस अवसर पर जींद से आए एक किसान रामस्वरूप ने जहां बाजरे का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने पर मुख्यमंत्री का आभार जताया वहीं यमुनानगर जिला से किसान नौशाद ने गन्ने का भाव देश में सबसे अधिक देने पर धन्यवाद किया। इसी प्रकार, किसान सुरेंद्र चीमा व करतार सिंह समेत कई किसानों ने केंद्र व राज्य सरकार द्वारा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने पर खुशी जताते हुए भविष्य के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के ओएसडी श्री भूपेश्वर दयाल व मुख्यमंत्री के प्रधान मीडिया एडवाइजर श्री विनोद मेहता, पूर्व विधायक सुखविंद्र मांढी, भाजपा के प्रदेश महासचिव एडवोकेट वेदपाल समेत सैंकड़ो किसान उपस्थित थे।

चंडीगढ़, 11 सितंबर- मातृभूमि संदेश बी डी कौशिक। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने ए.एन.बी न्यूज चैनल के एम.डी श्री युहानन मैथ्यू की माताजी श्रीमती तंगम्मा मैथ्यू के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। श्रीमती तंगम्मा का बीमारी के कारण निधन हुआ है। वह 88 वर्ष की थीं । वह अपने पीछे भरा-पूरा परिवार छोडक़र गई हैं। मुख्यमंत्री ने पीडि़त परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि श्रीमती मैथ्यू धार्मिक प्रवृत्ति की महिला थीं और सामाजिक कार्यों में बढ़-चढक़र हिस्सा लेती थीं। उन्होंने श्रीमती मैथ्यू की आत्मिक शांति के लिए भगवान से प्रार्थना की।

मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव तथा सूचना , जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के प्रधान सचिव श्री वी. उमाशंकर और मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना,जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल ने भी श्रीमती मैथ्यू के निधन पर गहरा शोक व्यक्त कर पीडि़त परिवार के प्रति सहानुभूति व्यक्त की है।

कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा ने टोक्यो पैरालंपिक में मेडल विजेताओं का उनके घरों पर पहुंचकर किया अभिनन्दन

चंडीगढ़, 11 सितंबर- मातृभूमि संदेश बी डी कौशिक। हरियाणा के परिवहन एवं खनन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा ने आज शनिवार को टोक्यो पैरालंपिक की शूटिंग स्पर्धा में गोल्ड लाने वाले मनीष नरवाल और सिल्वर मेडल के साथ-साथ ब्रांज मेडल जीतने वाले सिंहराज अधाना के घर पहुंच कर बधाई दी। परिवहन मंत्री से मिलकर दोनों खिलाड़ियों ने टोक्यो पैरालंपिक के अपने अनुभव को सांझा किए और भविष्य में भी बेहतर प्रदर्शन करने का आश्वासन दिया।

मंत्री श्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि सरकार खिलाड़ियों को दी जाने वाली सभी सुविधाओं के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। खेल नीति के अनुसार सरकार की सभी सुविधाएं मेडल जीतकर लाने वाले खिलाड़ियों को जल्द मिल जाएगी। परिवहन मंत्री ने दोनों खिलाड़ियों के परिजनों और उनके कोच को भी शॉल भेंट कर सम्मान व अभिनन्दन किया।

इस दौरान श्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि यह बल्लभगढ़ के लिए विश्व भर में बड़े गर्व की बात है कि एक ही स्पर्धा में गोल्ड और सिल्वर मेडल जीतने वाले दोनों खिलाड़ी बल्लभगढ़ से हैं। शूटिंग के साथ-साथ दूसरी स्पर्धाओं में भी भारतीय खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

परिवहन मंत्री ने कहा कि सीएम मनोहर लाल खेल और खिलाड़ियों के प्रति बेहद गंभीर हैं, मेडल जीतकर लाने वाले खिलाड़ियों को लगातार सम्मानित किया जा रहा है। नई खेल नीति और सरकार द्वारा दी जाने वाली सम्मान राशि की बदौलत प्रदेशभर से खेल से जुड़ी नई-नई प्रतिभाएं सामने आ रही हैं। उन्होंने दोनों खिलाड़ियों को भविष्य में भी ऐसे ही उम्दा प्रदर्शन करने की शुभकामनाएं दी।

चण्डीगढ़, 11 सितम्बर- मातृभूमि संदेश बी डी कौशिक। हरियाणा सरकार ने आपूर्ति एवं निपटान विभाग के महानिदेशक, नितिन कुमार यादव की सेवाएं चण्डीगढ़ प्रशासन को उनके कार्यभार सम्भालने के तीन वर्ष तक गृह सचिव, यू.टी., चण्डीगढ़ के तौर पर तुरंत प्रभाव से सौंप दी हैं।

पंचकूला में स्थापित किया जा रहा है, राज्य का पहला स्पोर्टस इंजरी रिहेबिलिटेशन सेंटर- संदीप सिंह

पैरा ओलम्पिक खिलाड़ियों का सम्मान समारोह 19 सितंबर को गुरुग्राम में

गुजरात खेल विभाग के प्रतिनिधिमंडल ने की हरियाणा की प्रशंसा

चण्डीगढ़, 11 सितंबर- मातृभूमि संदेश बी डी कौशिक। हरियाणा के खेल एवं युवा मामले राज्यमंत्री श्री संदीप सिंह ने कहा कि राज्य का पहला स्पोर्टस इंजरी रिहेबलिटेशन सेंटर पंचकूला सेक्टर-3 स्थित ताऊ देवी लाल खेल स्टेडियम में स्थापित किया जा रहा है जोकि फरवरी 2022 में आयोजित होने वाले खेलो इंडिया गेम्स से पहले बनकर तैयार हो जाएगा। इस सेंटर के स्थापित होने से खेलों के दौरान चोटिल होने वाले खिलाड़ियों को शीघ्र उभरने में मदद मिलेगी।

उन्होंने यह बात आज ताऊ देवी लाल खेल स्टेडियम में गुजरात खेल विभाग के एक प्रतिनिधि मंडल के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता के दौरान कही। गुजरात का प्रतिनिधि मंडल राज्य में खिलाड़ियों के लिए उपलब्ध स्पोर्टस इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ-साथ प्रशिक्षण, डाईट व खेल नीति आदि का अध्ययन करने के लिए हरियाणा दौरे पर है।

इस अवसर पर खेल विभाग के निदेशक श्री पंकज नैन, पूर्व भारतीय हाॅकी कप्तान श्री सरदार सिंह, पूर्व भारतीय वालीवाॅल कप्तान श्री अमिर सिंह व वालीवाॅल पूर्व कोच श्री ओमप्रकाश भी उपस्थित थे।

प्रदेश में चार नए स्पोर्टस इंजरी रिहेबिलिटेशन सेंटर खोले जायेंगे

श्री संदीप सिंह ने कहा कि प्रदेश में चार नए स्पोर्टस इंजरी रिहेबिलिटेशन सेंटर खोले जाने हैं । इंजरी खेलों का एक हिस्सा हैं परंतु चोट की वजह से कुछ खिलाड़ी अपने खेल को जारी नहीं रख पाते और कुछ खिलाड़ियों को तो चोट का ईलाज करवाने के लिए दूसरे देशों में भी जाना पड़ता है। इस सेंटर के स्थापित होने से खिलाड़ी राज्य में ही चोट से उभर सकेंगे।
200 नए कोचो की शीघ्र की जायेगी भर्ती

खेल राज्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में खिलाड़ियों को उच्च स्तर का प्रशिक्षण दिया जा रहा है ताकि वे विभिन्न खेल प्रतिस्पर्धाओं में बेहतरीन प्रदर्शन कर देश व प्रदेश का नाम रोशन कर सकें । उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में विभिन्न खेलों के 533 कोच हैं तथा 200 नए कोचो की भर्ती शीघ्र ही की जायेगी। इसके अलावा शुरू से ही बच्चों में खेलों के प्रति रूचि बढ़ाने के लिए प्रदेशभर में लगभग 1000 स्पोर्टस नर्सरी खोली जा रही हैं ।

बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर व खेल नीति के साथ-साथ खिलाड़ियों को मैदान तक लेकर आना सबसे अहम

गुजरात से आए प्रतिनिधि मंडल से बातचीत करते हुए श्री संदीप सिंह ने कहा कि खेलो में बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर व खेल नीति के साथ-साथ खिलाड़ियों को मैदान तक लेकर आना सबसे अहम है। हरियाणा खेल विभाग द्वारा इस दिशा में विशेष प्रयास किए गए है, जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे है। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल को जात है जो सदैव खेल व खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिये तत्पर रहते हैं। विभाग द्वारा खेल व खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए कोई भी प्रस्ताव मुख्यमंत्री के समक्ष आता है तो वह उसे तुरंत अपनी स्वीकृति प्रदान करते है।

हरियाणा दौरे से गुजरात में बेहतर स्पोर्टस कल्चर विकसित करने में सहायता मिलेगी

इस अवसर पर गुजरात के प्रतिनिधि मंडल ने गुजरात स्पोर्टस आॅथोरिटी की ओर से हरियाणा सरकार का आभार व्यक्त किया। उन्होनंे कहा कि अपने हरियाणा दौरे के दौरान प्रतिनिधिमंडल ने गुरुग्राम से लेकर पंचकूला तक खेलों के साथ-साथ खिलाड़ियों को दी जा रही प्रशिक्षण व अन्य सुविधाओं के बारे में बारिकी से जानकारी हासिल की। उन्होंने कहा कि इस अध्ययन से गुजरात में बेहतर स्पोर्टस कल्चर विकसित करने में सहायता मिलेगी।

हरियाणा के खिलाड़ियों ने ओलंपिक्स में मैडल जीतकर देश का नाम पूरे विश्व में किया रोशन

प्रतिनिधिमंडल ने हरियाणा की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों ने ओलंपिक्स में मैडल जीतकर देश का नाम पूरे विश्व में रोशन किया हैं। उन्होंने कहा कि आज दूसरे प्रदेश भी हरियाणा के प्रदर्शन से सीख ले रहे है और इसी कडी में गुजरात का एक प्रतिनिधि मंडल हरियाणा के दौरे पर आया है। प्रतिनिधि मंडल के सदस्यो ने आशा व्यक्त की कि हरियाणा की बेस्ट स्पोर्टस प्रैक्टिस का अपनाकर गुजरात भी खेलों में देश का नाम रोशन करेगा।

इस अवसर पर खेल विभाग की उपनिदेशक कविता देवी, जिला खेल अधिकारी पंचकूला राजेंद्र गुप्ता, जिला खेल अधिकारी सोनीपत ज्योति रानी, कोचिज व गुजरात प्रतिनिधि मंडल के सदस्य मनीष झिलाडिया, निमेश पटेल, रमेश ओला, मगेंद्र तोमर, कांजी भालिया, संजय यादव, विश्वा धीमान, पुनम फुमाकिया, बलविंद्र कौर, उपासना रंडेरिया तथा उषा चैधरी उपस्थित थे।