हरियाणा के मुखयमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियााणा में अंतरराष्ट्रीय हरियाणा शिक्षा विभाग स्थापित किए जाने की दिशा में हरियााणा सरकार विचार करेगी।

 

 

नई दिल्ली, हरियाणा भवन।   बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क।  शिक्षक दिवस’ के शुभावसर पर हरियााण भवन में वर्चुअल रूप से आयोजित ‘इंटरनेशनल हरियााणा एजूकेशन सोसायटी’ के ‘आनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम’ का शुभारंभ करते हुए हरियााणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियााणा के युवाओं के लिए  विदेशों में शिक्षा व रोजगार हरियााणा सरकार की एक महत्वपूर्ण प्राथमिकता है। ‘विदेश सहयोग विभाग’ स्थापित करने वाला हरियााण देश का  प्रथम राज्य है। हरियााणा सरकार द्वारा स्नातक व स्नातकोत्तर की शिक्षा उतीर्ण किए जाने के साथ युवाओं के निशुल्क रूप से पासपोर्ट भी बनवाए जा रहे हैं। हरियााणा में 3,000 युवाओं के पासपोर्ट बनवाए भी जा चुके हैं।

हरियााणा के मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में नई शिक्षा नीति के  क्रियान्वयन का जिक्र करते हुए कहा कि दूसरी भारतीय भाषाओं को सीखना भी महत्वपूर्ण है। मुख्यमंत्री ने विदेशी भाषाओं को सीखने व प्रशिक्षण पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि विदेशों के साथ  सांस्कृतिक आदान-प्रदान भी परस्पर समझ स्थापित किए जाने का एक बेहतर माध्यम होता है। इस दिशा में हरियााणा में आयोजित होने वाले  ‘अंतरराष्ट्रीय सूरजकूंड क्राफ्ट मेला’ व ‘ अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती समारोह’ उल्लेखनीय उदाहरण हैं।

हरियााणा के मुख्यमंत्री ने  हरियााणा के युवाओं के लिए ‘इंटरनेशनल हरियााणा एजूकेशन सोसायटी’ द्वारा प्रारंभ किए गए ‘आनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम’ की प्रशंसा करते हुए कहा कि वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर  ‘साफ्ट स्किल्स’ का महत्व भी बढता जा रहा है।  ‘हरियााणा कौशल विकास मिशन ‘ व ‘श्री विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय’ का जिक्र करते हुए हरियााणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि 50 से अधिक औद्योगिक प्रतिष्ठानों के साथ ‘कौशल प्रशिक्षण’ के समझौता ज्ञापन हो चुके हैं।

ब्रिटेन के सांसद श्री वीरेंद्र शर्मा ने अपने संबोधन में हरियााणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के साथ अपने अनुभवों को सांझा किया और ‘इंटरनेशनल हरियााणा एजूकेशन सोसायटी’ द्वारा प्रारंभ किए गए ‘आनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम’ की प्रशंसा की। संयुक्त राज्य अमेरिका के कैलिफोर्निया से जुडे डाॅ राजवीर दहिया ने अपने संबोधन में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न शिक्षण संस्थानों में प्रवेश की व्यापक संभावनाओं बारे उपयोगी विवरण प्रस्तुत किया।

‘इंटरनेशनल हरियााणा एजूकेशन सोसायटी’ के संस्थापक श्री रोहित अलावावत ने अपने संबोधन में सोसायटी के उद्देश्यों के बारे में बताया। कार्यक्रम का संचालन विशेष कार्य अधिकारी(प्रचार) श्री गजेंद्र फौगाट ने किया। ब्रिटेन से जुडी श्रीमती रेखा धनखड ने ‘आनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम’ की विभिन्न प्रक्रियाओं के बारे में  जानकारी दी।