हरियाणा सरकार की मुख्य गतिविधियां एवं उनसे जुड़े समाचार पढ़िए मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क पर।

चंडीगढ़, 4 फरवरी-. बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज नेटवर्क। हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से 24 आईएएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश जारी किए हैं।

मत्स्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, गुरुग्राम महानगरीय विकास प्राधिकरण, गुरुग्राम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, फरीदाबाद महानगरीय विकास प्राधिकरण, फरीदाबाद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वरिंद्र सिंह कुंडू को श्रम विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव, सैनिक एवं अर्ध सैनिक कल्याण विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव और मुद्रण तथा लेखन सामग्री विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव लगाया गया है।

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी. के. दास को बिजली विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव लगाया गया है।

बिजली, रोजगार विभागों के अतिरिक्त मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री घोषणाओं से संबंधित कार्यों के क्रियान्वयन, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, हरियाणा शासन सुधार प्राधिकरण के सदस्य सचिव और हाऊसिंग विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टी. सी. गुप्ता को खनन और भूविज्ञान विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव, रोजगार विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री घोषणाओं से संबंधित कार्यों के क्रियान्वयन, हरियाणा शासन सुधार प्राधिकरण का सदस्य सचिव और हाऊसिंग फॉर ऑल विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव लगाया गया है।

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, हरियाणा सरस्वती हैरिटेज बोर्ड के सलाहकार, महिला एवं बाल विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अमित झा को विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव, हरियाणा सरस्वती हैरिटेज बोर्ड का सलाहकार और विकास एवं पंचायत विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव लगाया गया है।

विकास एवं पंचायत विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुधीर राजपाल को नागरिक उड्डयन विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव, गुरुग्राम महानगरीय विकास प्राधिकरण, गुरुग्राम का मुख्य कार्यकारी अधिकारी, फरीदाबाद महानगरीय विकास प्राधिकरण, फरीदाबाद का मुख्य कार्यकारी अधिकारी लगाया गया है।

उच्चतर शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और तकनीकि शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अंकुर गुप्ता को पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और मत्स्य विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव लगाया गया है।

आबकारी एवं कराधान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी को आबकारी एवं कराधान विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव और खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव लगाया गया है।

खनन एवं भूविज्ञान विभाग के प्रधान सचिव, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के प्रधान सचिव और अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग कल्याण विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण को उच्चतर शिक्षा विभाग का प्रधान सचिव और तकनीकि शिक्षा विभाग का प्रधान सचिव लगाया गया है।

पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजा शेखर वुंडरू को कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग का अतिरिक्त मुख्य सचिव लगाया गया है।

कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के प्रधान सचिव विनीत गर्ग को इलेक्ट्रॉनिक्स, आईटी एवं कम्युनिकेशंस विभाग का प्रधान सचिव, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग का प्रधान सचिव और अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग कल्याण विभाग का प्रधान सचिव लगाया गया है।

मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव, नागरिक संसाधन सूचना विभाग के प्रधान सचिव और इलेक्ट्रॉनिक्स, आईटी एवं कम्युनिकेशंस विभाग के प्रधान सचिव वी. उमाशंकर को मुख्यमंत्री का प्रधान सचिव, नागरिक संसाधन सूचना विभाग का प्रधान सचिव, सूचना, जनंसपर्क एवं भाषा विभाग का प्रधान सचिव और हरियाणा प्रशासनिक सुधार विभाग का प्रधान सचिव लगाया है।

सामान्य प्रशासन विभाग के प्रधान सचिव, हरियाणा सरस्वती हैरिटेज बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग के प्रधान सचिव और हरियाणा प्रशासनिक सुधार विभाग के प्रधान सचिव विजयेंद्र कुमार को उद्योग एवं वाणिज्य विभाग का प्रधान सचिव, सामान्य प्रशासन विभाग का प्रधान सचिव और हरियाणा सरस्वती हैरिटेज बोर्ड का मुख्य कार्यकारी अधिकारी लगाया गया है।

मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी कार्यक्रम के परियोजना निदेशक, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के नोडल अधिकारी, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण तथा रोजगार विभाग के महानिदेशक और सचिव राकेश गुप्ता को मुख्यमंत्री सुशासन सहयोग कार्यक्रम का परियोजना निदेशक, आयुक्त एवं सचिव, महिला एवं बाल विकास विभाग लगाया गया है।

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के महानिदेशक और सचिव, हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी, हरियाणा राज्य भूमि सुधार विकास निगम (एचएलआरडीसी) के प्रबंध निदेशक विजय सिंह दहिया को उच्चतर शिक्षा विभाग का महानिदेशक और सचिव तथा तकनीकि शिक्षा विभाग महानिदेशक और सचिव लगाया गया है।

चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग की महानिदेशक और सचिव, आयुष्मान भारत हरियाणा स्वास्थ्य संरक्षण प्राधिकरण की मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमनीत पी. कुमार को हरियाणा डेयरी डेवलपमेंट कोऑपरेटिव फेडरेशन की प्रबंध निदेशक और हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम की प्रबंध निदेशक लगाया गया है।

मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव अमित कुमार अग्रवाल को मुख्यमंत्री का अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग का महानिदेशक और सचिव लगाया गया है।

उच्चतर शिक्षा विभाग के महानिदेशक और सचिव, तकनीकि शिक्षा विभाग के महानिदेशक और सचिव अजीत बालाजी जोशी को हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, पंचकूला का मुख्य प्रशासक लगाया गया है।

नियुक्ति की प्रतीक्षा कर रहे विकास यादव को ग्रामीण विकास विभाग का महानिदेशक और सचिव तथा पशुपालन एवं डेयरी विभाग का सचिव लगाया गया है।

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, पंचकूला के मुख्य प्रशासक विनय सिंह को हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड का मुख्य प्रशासक लगाया गया है।

सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक और सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा और ग्रीवांस विभाग के सचिव पी. सी. मीणा को कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण और रोजगार विभाग का महानिदेशक और सचिव तथा वित्त विभाग का सचिव लगाया गया है।

हरियाणा डेयरी डेवलपमेंट कोऑपरेटिव फेडरेशन के प्रबंध निदेशक ए. श्रीनिवास को खनन एवं भूविज्ञान विभाग का महानिदेशक और सचिव लगाया गया है।

ग्रामीण विकास विभाग के महानिदेशक और सचिव तथा पशुपालन एवं डेयरी विभाग के सचिव हरदीप सिंह को कृषि एवं किसान कल्याण विभाग का महानिदेशक और सचिव, हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण का अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी तथा हरियाणा राज्य भूमि सुधार विकास निगम (एचएलआरडीसी) का प्रबंध निदेशक लगाया गया है।

वित्त विभाग के विशेष सचिव, हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के प्रबंधन निदेशक तथा हरको बैंक के प्रबंध निदेशक डॉ. शालीन को चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग का निदेशक एवं विशेष सचिव, आयुष्मान भारत हरियाणा स्वास्थ्य संरक्षण प्राधिकरण का मुख्य कार्यकारी अधिकारी और हरको बैंक का प्रबंध निदेशक लगाया गया है।

अतिरिक्त श्रम आयुक्त, गुरुग्राम और सोनीपत के अतिरिक्त उपायुक्त तथा आरटीए, सोनीपत के सचिव मुनीष शर्मा को मानेसर नगर निगम का आयुक्त, अतिरिक्त श्रम आयुक्त, गुरुग्राम लगाया गया है।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा के खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान (एनडीआरआई) करनाल को एक निजी कंपनी के डिब्बाबंद घी पर ‘आईसीएआर-एनडीआरआई प्रौद्योगिकी’ लिखे होने पर नोटिस जारी किया है। विभाग ने हाल ही में मिष्ठी फॉर्मर निर्माता कंपनी लिमिटेड में छापेमारी की थी जहां अर्जुन हर्बल घी की पैकेजिंग जब्त की गई थी जिस पर एनडीआरआई करनाल का नाम लिखे होने पर स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है। नाम के अलावा, घी समय सीमा समाप्त पंजीकरण के साथ बेचा जा रहा था।

स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज के निर्देश पर गठित स्टेट फ्लाइंग टीम ने मिष्ठी फॉर्मर निर्माता कंपनी लिमिटेड करनाल मे छापा मारकर वहां से 8,000 किलोग्राम मिलावटी घी जब्त किया था इसकी पैकेजिंग पर एक्सपायर रजिस्ट्रेशन नंबर का उल्लेख था। पंजीकरण 2019 में समाप्त हो गया था।

खाद्य एवं औषधि प्रशासन के आयुक्त श्री ललित सिवाच ने कहा कि उन्होंने एनडीआरआई करनाल और संबंधित वैज्ञानिक से बात की है। तकनीकी कोलोब्रेशन के लिए ऐसा कोई समझौता नहीं है। औपचारिक एमओयू बहुत पहले समाप्त हो गया था। अब एनडीआरआई विभिन्न उल्लंघनों के लिए फर्म के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की तैयारी में है।
चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा सरकार ने निर्देश दिए हैं कि प्रदेश के गांवों में स्वामित्व स्कीम के तहत सार्वजनिक उपयोग भूमि के अंतर्गत पंजीकृत पंचायत घर, स्कूल, डिस्पैंसरी, वॉटर वक्र्स, जोहड़, पटवारखाना, आंगनवाड़ी तथा सार्वजनिक गली,जो लाल-डोरा (आबादी देह)में आते हैं, के ‘टाइटिल सर्टिफिकेट’ को पंचायत-देह के पक्ष में जारी करना है। इन ‘टाइटिल सर्टिफिकेट्स’ का उचित रिकार्ड जिला के उपायुक्त के कार्यालय के साथ-साथ संबंधित खंड एवं विकास पंचायत अधिकारियों के कार्यालयों में रखना है।

राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उक्त निर्देशों का पालन करते हुए आगामी 10 फरवरी 2021 तक एक सर्टिफिकेट राजस्व विभाग के वित्तायुक्त कार्यालय में जमा करवाना होगा कि सभी राजस्व संपदाओं का कार्य पूर्ण हो गया है। इसके अलावा,शेष बचे राजस्व संपदाओं के वांछित सर्टिफिकेट उक्त पंचायत-देह के नाम पंजीकृत होने के तीन दिन के अंदर जमा करवाने होंगे। इस मामले में किसी भी कर्मचारी की ढिलाई को गंभीरता से लिया जाएगा।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा सरकार ने 2 जिलों सोनीपत और झज्जर में वॉयस कॉल को छोडक़र इंटरनेट सेवाओं (2जी/3जी/4जी/सीडीएमए/जीपीआरएस), एसएमएस सेवाओं (केवल ब्लक एसएमएस) और मोबाइल नेटवर्क पर दी जाने वाली सभी डोंगल सेवाओं को बंद करने की अवधि 5 फरवरी, 2021 शाम 5 बजे तक के लिए बढ़ा दी है।

इस संबंध में अधिक जानकारी साझा करते हुए एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि दूरसंचार अस्थायी सेवा निलंबन (लोक आपात या लोक सुरक्षा) नियम, 2017 के नियम 2 के तहत इंटरनेट सेवाएं बंद करने के आदेश दिए गए हैं। बीएसएनएल (हरियाणा अधिकार क्षेत्र) सहित हरियाणा की सभी टेलिकॉम सेवाएं देने वाली कंपनियों को इस आदेश का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।

क्षेत्र में शांति बनाए रखने और सार्वजनिक व्यवस्था में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकने के लिए यह आदेश जारी किए गए हैं। कोई भी व्यक्ति इन आदेशों के उल्लंघन का दोषी पाया गया तो वह संबंधित प्रावधानों के तहत कानूनी कार्रवाई के लिए उत्तरदायी होगा।

प्रवक्ता ने बताया कि राज्य सरकार ने एसएमएस, व्हाट्सएप, फेसबुक ट्विटर आदि विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों के माध्यम से दुष्प्रचार और अफवाहों के प्रसार को रोकने के लिए इंटरनेट सेवाओं को बंद करने का निर्णय लिया है।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा सरकार ने ‘ए-क्लास’ तहसीलदारों का एक वर्ष का प्रशिक्षण पूरा करने के बाद आज उनको जिलों में नायब तहसीलदार(प्रशिक्षु) के पद पर नियुक्ति दे दी है। राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के एक प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि अनिल कुमार को कैथल जिला का नायब तहसीलदार(प्रशिक्षु) नियुक्त किया गया है।

इनके अलावा, अजय हूडा को झज्जर, भूमिका लांबा को रेवाड़ी, ललिता को पानीपत, मंजीत मलिक, शुभम शर्मा व रिटा ग्रोवर को करनाल, निखिल सिंगला, आदित्य रंगा व धीरज कुमार पांचाल को पंचकुला, शिखा व सज्जन कुमार को गुरूग्राम, सृष्टि व मनोज कुमार को सोनीपत, विनति को पानीपत, विवेक गोयल को हिसार तथा प्रियंका को कुरूक्षेत्र जिला का नायब तहसीलदार(प्रशिक्षु) नियुक्त किया गया है।

चण्डीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा के खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने दूध उत्पादों, मसालों और चाय सरीखे खाद्य पदार्थों पर कड़ी निगरानी रखने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चलाया है, ताकि बेहतर गुणवत्ता वाले खाद्य उत्पादों की आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके। पिछले छह महीनों में 1,62,94,120 रूपये का माल जब्त किया है। हाल ही में इस तरह की छापेमारी करने के लिए एक राज्य स्तरीय टीम का गठन किया है। जब्त किए गए नमूनों में से लगभग 28 नमूनों को असुरक्षित पाया गया।

स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज के निर्देश पर उक्त चार सदस्यीय टीम का गठन किया गया था और इसके सदस्यों में एक नामित अधिकारी और तीन खाद्य सुरक्षा अधिकारी शामिल हैं। घी, खाद्य तेल, दूध, दूध उत्पादों और अन्य खाद्य लेखों में मिलावट पर नजर रखने के लिए टीम नियमित रूप से हरियाणा के विभिन्न जिलों में विशेष छापेमारी कर रही है।

स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा ने कहा कि खाद्य मानकों को बनाए रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह राज्य के लोगों के अच्छे स्वास्थ्य को सुनिश्चित करता है।

श्री अरोड़ा ने बताया कि हाल ही में करनाल से 42 लाख रुपये का 8,400 लीटर घी, 57,41,500 रुपये का 11,483 लीटर देसी घी, हिसार से 15 लीटर शुद्ध घी व 17,000 लीटर वानस्पती का मूल्य 42,50,000 रुपये का जब्त किया है। श्री अरोड़ा ने बताया कि इस वर्ष की शुरूआत में 98 लीटर मिलावटी श्री मदुर रतन देसी घी, 642 लीटर मिलावटी हरियाणा फ्रेश एगमार्क देसी घी, 3,276 लीटर केदार एगमर्ड मिश्रित वनस्पति तेल,1,145 लीटर हरियाणा फ्रेश एगमार्क देसी घी और श्री गोबिंद एगमार्क देसी घी अम्बाला से 4.58 लाख रुपये मूल्य की जब्त किया गया है। साथ ही कुरुक्षेत्र से 12,97,820 रुपये का 19,645 लीटर मिलावटी घी, मक्खन, सुभम घी, अभिनंदन घी, क्रीम, पामोलिव ऑयलऔर मिल्क पाउडर जब्त किया गया और करनाल से 3,46,800 रुपये का 1,250 लीटर घी, मक्खन, खाद्य तेल जब्त किया गया।

खाद्य और औषधिप्रशासन के आयुक्त श्री ललित सिवाच ने कहा कि हाल ही में छापे के दौरान हरियाणा के विभिन्न हिस्सों से 500 नमूने जब्त किए गए थे। इन 500 नमूनों में से 171 नमूनेखाद्य सुरक्षा और मानकों के अनुसार नहीं थे और एफएसएस (खाद्य सुरक्षा और मानक) अधिनियम, 2006 के अनुसार मानकों की पुष्टि नहीं की गई थी। 171 नमूनों की प्रयोगशाला रिपोर्ट के अनुसार खाद्य विश्लेषक ने पाया कि 28 नमूने असुरक्षित, 99 घटिया और 44 मिस ब्रांडेड थे।

उन्होंने कहा कि अदालत के समक्ष 28 असुरक्षित नमूनों के लिए खाद्यव्यवसाय संचालक के खिलाफ मुकदमा चलाया जा रहा है और शेष 143 नमूनों में, घटिया और गलत पाया गया है, खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम, 2006 के अनुसार अधिकारियों के समक्ष मामले दर्ज किए जाएंगे।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा डिप्लोमा-इन-एजुकेशन (डीएल.एड) के प्रवेश सत्र 2016-18, 2017-19 के प्रथम/द्वितीय वर्ष एवं प्रवेश सत्र 2018-20 (प्रथम वर्ष) के उन परीक्षार्थियों को एक विषय में परीक्षा देने के लिए एक विशेष अवसर देने का निर्णय लिया गया है, जिनका परीक्षा-परिणाम अन्तिम अवसर के बाद एक ही विषय/एस.आई.पी. (लिखित एवं बाह्य प्रायोगिक परीक्षा) में उतीर्ण न होने के कारण ‘नॉट-फिट-फॉर’ डिप्लोमा घोषित हुआ है।

यह जानकारी देते हुए बोर्ड के प्रवक्ता ने आगे बताया कि ऐसे परीक्षार्थी 19 फरवरी, 2021 से आयोजित होने वाली परीक्षा के लिए प्रथम/द्वितीय दोनों वर्षों में केवल एक ही विषय/एस.आई.पी. (लिखित एवं बाह्य प्रायोगिक परीक्षा) के ऑफलाइन आवेदन व निर्धारित परीक्षा शुल्क 5,000 रूपए सहित अपने मूल शिक्षण संस्थान से प्रमाणित करवाकर किसी भी कार्य-दिवस में 10 फरवरी, 2021 सायं 5:00 बजे तक बोर्ड कार्यालय में दस्ती तौर पर जमा करवा सकते हैं। आवेदन-पत्र का प्रारूप बोर्ड की अधिकारिक वैबसाईट www.bseh.org.in पर उपलब्ध है।

चण्डीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा है कि अंतोदय व सामाजिक समरसता हमारी सरकार का मूल मंत्र है और महर्षि वाल्मीकि जी की कल्पना भी राम राज्य है जिसको चरितार्थ करने के लिए देश में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें महर्षि बाल्मीकि जी की कल्पना के अनुरूप विकास के पथ पर अग्रसर हैं।

मुख्यमंत्री ने यह बात गत दिवस देर सायं अपने निवास पर आए वाल्मीकि एवं मजहबी सिख समाज के एक शिष्टमंडल से भेंट वार्ता के दौरान कही। इस शिष्टमंडल की अगुवाई मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव श्री कृष्ण बेदी द्वारा की गई जबकि अध्यक्षता पंजाब के पूर्व विधायक सरदार इंद्र इकबाल सिंह अटवाल ने की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महर्षि वाल्मीकि जी की शिक्षाएं देश को विश्व शक्ति बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रही हैं। उन्होंने वाल्मीकी एवं मजहबी सिख समाज से हरियाणा के सामाजिक, आर्थिक व धार्मिक मसलों पर चर्चा भी की।

इस भेंट वार्ता के दौरान मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने महर्षि वाल्मीकि अनुसंधान परिषद् द्वारा प्रकाशित पुस्तक ‘‘वाल्मीकिप्रशस्तिकाव्यम’’ का विमोचन भी किया। अनुसंधान परिषद् द्वारा प्रकाशित यह दूसरी पुस्तक है जो वाल्मीकी जी के जीवन दर्शन के बारे में आमजन को जानकारी देगी। वाल्मीकी जी ने रामायण और योगवाशिष्ठ जैसे आदर्श काव्य दिये हैं, जिन्हें साहित्य, सामाजिक एवं धार्मिक क्षेत्रों का रतनाकर कहा जा सकता है। महर्षि वाल्मीकि के जीवन पर पुस्तकों के अभाव की पूर्ति के लिए महर्षि वाल्मीकि अनुसंधान परिषद् कई वर्षों से कार्यरत है।

इस अवसर पर शिष्टमंडल द्वारा हरियाणा के मुख्यमंत्री को शॉल व सरोपा भेंट करके सम्मानित भी किया गया। इस शिष्टमंडल में संत मनशाह जी महाराज, सेवा निवृत न्यायाधीश, पूर्व विधायक, हरियाणा सरकार में रहे प्रतिनिधि, सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों के प्रमुख लोग शामिल थे।

शिष्टमंडल में संत मनशाह जी महाराज के अलावा मुख्यरूप से विश्व हिंदू परिषद् के प्रदेश उपाध्यक्ष पवन कुमार, सेवानिवृत न्यायाधीश राजेन्द्र कुमार, श्री प्रकाश तंवर, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अनुसूचित जाति मोर्चा, भाजपा के पूर्व विधायक ईश्वर सिंह पलाका, फूल सिंह खेड़ी, सुमन बेदी, हरियाणा महिला आयोग के सदस्य सुभाष चंद्र, स्वच्छ भारत अभियान के उपाध्यक्ष श्री चंद्र प्रकाश बोसती, सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य तेजइंद्र सिंह, रघुमल भट्ट, यशवीर बेदी, जोगींद्र गोघडीपूर, प्राण रत्नाकर, धर्म सिंह, भारत भूषण टांक, शिव कुमार सिसला, दीपक लारा व संजीव घारू, डॉ विरेन्द्र व डॉ सुषमा अलंकार विशेष रूप से शामिल थे।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा के शिक्षा, वन एवं पर्यटन मंत्री श्री कंवरपाल ने कहा है कि प्रदेश सरकार किसानों को वैज्ञानिक तरीके से खेती करने के लिए प्रोत्साहित करने और उनकी आय में वृद्धि करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि सरकार ने इसके लिए प्रगतिशील किसान सम्मान योजना आरम्भ की है।

श्री कंवरपाल आज जगाधरी स्थित अपने आवास पर भाजपा पदाधिकारियों से सरकार की योजनाओं पर चर्चा कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले प्रगतिशील किसान को 5 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा। इसी प्रकार द्वितीय स्थान हासिल करने वाले दो किसानों को तीन-तीन लाख रुपये तथा तृतीय स्थान के लिए 5 किसानों को एक-एक लाख रुपये का पुरस्कार देने का प्रावधान किया गया है। उन्होंने बताया कि 100 किसानों को सांत्वना पुरस्कार के तहत 50-50 हजार रुपये का पुरस्कार देने की योजना है।

उन्होंने बताया कि प्रगतिशील किसानों के माध्यम से किसानों को कृषि की सर्वश्रेष्ठ प्रणालियों को अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस कार्यक्रम के लिए प्रगतिशील किसान ट्रेनर योजना आरम्भ की गई है। प्रत्येक प्रगतिशील किसान अपने आसपास के 10 किसानों को आधुनिक व श्रेष्ठ वैज्ञानिक कृषि प्रणालियों को अपनाने के लिए प्रेरित करेगा। इस कार्य को गति देने के लिए किसान मित्र योजना आरम्भ की गई है। इस योजना के तहत प्रगतिशील किसान कम से कम 100 किसानों की वित्तीय प्रबंधन में मदद करेगा और प्रदेश में 17 हजार किसान मित्र इस क्षेत्र में 17 लाख किसानों का मार्गदर्शन करेंगे।

उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार ने राज्य में हरित स्टोर के नाम से 2000 रिटेल आउटलेट खोलने का भी निर्णय लिया है। यह आउटलेट मिनी सुपर मार्किट के रूप में कार्य करेंगे। इन पर सहकारी उत्पादों के साथ-साथ स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार किए गए उत्पाद भी बेचे जाएंगे। किसानों को मृदा और जल परीक्षण सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए राज्य में 192 प्रयोगशालाएं स्थापित की जा रही हैं।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा सरकार ने निर्णय लिया है कि महेंद्रगढ़ जिला के सभी जिला स्तरीय अधिकारी, जिनकी नियुक्ति नारनौल में है, वे सप्ताह के प्रत्येक मंगलवार को नारनौल की बजाय महेंद्रगढ़ में कार्य करेंगे। अगर मंगलवार को अवकाश होता है तो वे अधिकारी अगले कार्य दिवस पर महेंद्रगढ़ में कार्य करेंगे।

एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सप्ताह में एक दिन महेंद्रगढ़ कार्य करने वाले इन अधिकारियों को हरियाणा सिविल सर्विसिज रूल्ज(टीए),2016 के रूल 58 के तहत जो टीए/डीए स्वीकार्य होगा, वह दिया जाएगा। राज्य सरकार के ये निर्देश तुरंत प्रभाव से माने जाएंगे।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा उच्चतर शिक्षा विभाग द्वारा ‘समर्थ’ प्रोजेक्ट के तहत राज्य के सभी सरकारी कालेजों के ‘ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट ऑफिसर्स’ का कल 5 फरवरी को सुबह 10.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक एक ऑनलाइन उन्मुखीकरण-सत्र (ओरियंटेशन-सैशन) आयोजित करवाया जाएगा।

विभाग के प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह सत्र ‘ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट ऑफिसर्स’ की कार्यक्षमता के निर्माण एवं भविष्य में उनकी भूमिका पर केंद्रित होगा।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा के सरकारी व एडिड कालेजों में ‘सूचना का अधिकार’ (आरटीआई) विषय पर एक निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। उच्चतर शिक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर आने वाले प्रतिभागियों को क्रमश: 2,000, 1,500 तथा 1,000 रूपए की राशि पुरस्कार के रूप में दी जाएगी।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा पुलिस के फ्रंटलाइन योद्धाओं के लिए कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम की आज पुलिस मुख्यालय, पंचकूला में शुरूआत हुई। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) हरियाणा, श्री मनोज यादव ने पहल करते हुए इस अभियान में हिस्सा लेकर पहला टीका लगवाया। कोविड महामारी के खिलाफ सुरक्षा के लिए टीका लगवाने वाले अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी शामिल रहे।

अभियान के पहले दिन सबसे पहले डीजीपी हरियाणा श्री मनोज यादव ने टीका लगवाकर पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों का हौसला बढ़ाया। इसके बाद, डीजीपी राज्य सतर्कता ब्यूरो, श्री पी के अग्रवाल, डीजीपी क्राइम मोहम्मद अकील, एडीजीपी प्रशासन और आईटी श्री ए. एस. चावला, एडीजीपी सतर्कता श्री अजय सिंघल, आईजीपी डॉ एम रवि किरण और आईजीपी श्री राजिंदर कुमार, सीपी पंचकूला श्री सौरभ सिंह सहित अन्य पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों ने टीका लगवाया।

इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक ने कहा कि जब कोविड महामारी अपने चरम पर थी, तब भी पूरी पुलिस फोर्स ने निरंतर अग्रिम पंक्ति में रहकर लगातार कार्य किया। प्रदेश में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के अलावा, हमारे प्रत्येक अधिकारी और जवानों ने निडर होकर गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन, प्रवासी श्रमिकों और मजदूरों की सुरक्षित घर वापसी और बुजुर्गों की देखभाल को सुनिश्चित किया। लॉकडाउन में पुलिस के प्रयासों को राष्ट्रीय स्तर पर भी पहचान मिली। उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते अब तक लगभग 3000 राज्य पुलिस कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से फ्रंटलाइन पर काम कर रहे 14 पुलिस कर्मियों को कोविड-19 के कारण अपनी जान गंवानी पड़ी।

उन्होंने कहा कि कोरोना से जंग जीतने के लिए देश में 40 लाख से अधिक व्यक्तियों को पहले ही यह इंजेक्शन दिया जा चुका है और यह पूरी तरह से सुरक्षित है। डीजीपी ने समस्त पुलिस बल के साथ-साथ आम जनता से अपील करते हुए कहा कि वे इस महामारी के खिलाफ टीकाकरण अभियान में आगे आएं और आने वाले दिनों में टीका अवश्य लगवाएं। साथ ही अन्य को भी जागरूक करें ताकि किसी के मन में टीकाकरण को लेकर भ्रम की स्थिति न रहे।

चंडीगढ़, 4 फरवरी- हरियाणा के स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री श्री अनिल विज ने आज गुरुग्राम में कोविड-19 वैक्सिनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत की। इसमें 4.50 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोराना वैक्सिन का टीका लगाया जाएगा।

श्री विज ने कहा कि वैक्सिनेशन के पहले चरण में अभी तक करीब 65 प्रतिशत हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया जा चुका है। इसके साथ ही फ्रंटलाइन पर काम करने वाले लगभग 4.50 लाख वर्कर्स में निकाय कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिस, सिविल डिफेंस के कर्मचारी, जेल का स्टाफ, पंचायती राज संस्थाएं तथा राजस्व विभाग के कर्मचारी शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि हमें अपने देश पर गर्व है कि वैज्ञानिकों के प्रयासों से सरकार के पास प्रचुर मात्रा में वैक्सिन की उपलब्धता है और महामारी के इस दौर में भी हम आत्मनिर्भर हैं। इसके चलते अब हरियाणा सहित पूरे देश में वैक्सिनेशन का कार्य चल रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा हेल्थकेयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर, 50 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों तथा 50 से कम आयु के अन्य गंभीर जैसे शुगर, हार्ट इत्यादि बीमारियों से पीडि़त लोगों को कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जाना है। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों को चाहिए कि वैक्सिन लेने में किसी प्रकार का संकोच न करें और उन्हें टीकाकरण के लिए आगे आना चाहिए। इस दौरान गुरुग्राम के पुलिस आयुक्त श्री के के राव तथा उपायुक्त डॉ. यश गर्ग सहित अनेक अधिकारियों को कोविड वैक्सिन का टीका लगाया गया।