जन्माष्टमी के अवसर पर एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन : डॉक्टर एमपी सिंह

FARIDABAD: 24 अगस्त 2019 । खालसा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में जन्माष्टमी के अवसर पर चिल्ड्रन सेफ्टी रोड सेफ्टी सिविल डिफेंस डिजास्टर मैनेजमेंट पर एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन चीफ वार्डन सिविल डिफेंस व विषय विशेषज्ञ आपदा प्रबंधन डॉक्टर एमपी सिंह के द्वारा आयोजित किया गया इस अवसर पर डॉ एमपी सिंह ने कहा की अनेकों श्रद्धालु लोग कृष्ण जन्मोत्सव पर झांकियां देखने के लिए मंदिरों में जाते हैं वहां पर अपार भीड़ होने की वजह से अनेकों दुरात्मा और पापात्मा लोगों की गले की जंजीर छीन लेते हैं या जेब काट लेते हैं इस केस में पकड़े जाने पर अनेकों बार नरसंहार भी देखने को मिला है लड़ाई झगड़े छेड़ाछाड़ी छीना झपटी आमतौर पर देखी जाती है जबकि पुलिस प्रशासन अलर्ट होता है इस अवसर पर अनेकों झूला या बिजली से चलने वाली आइटम रोड पर ही लोगों के मनोरंजन के लिए लगे होते है जिनकी तारे नंगी होती हैं उनमें शॉर्ट सर्किट होने की वजह से आग लगने की घटनाएं भी कई बार देखी गई है कृष्ण जन्मोत्सव पर बरसात का होना तो स्वाभाविक है वर्षा के पानी की वजह से आसपास के क्षेत्र में शॉर्ट सर्किट के दौरान बिजली फैल जाती है जिसकी चपेट में आकर अनेकों दर्शक मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं कई जगह फर्स्ट एड पोस्ट की व्यवस्था होती है लेकिन कई जगह यह व्यवस्था देखने को नहीं मिलती है इसलिए विद्यालय के सैकड़ों विद्यार्थियों और अध्यापकों को बिजली के झटके से कैसे बचाएं घायल पीडि़त चोटिल को अस्पताल कैसे पहुंचाएं कपड़े मैं आग लगने की स्थिति पर काबू कैसे पाए वहां पर लकड़ी लोहा तेल कागज इलेक्ट्रिक इंस्ट्रूमेंट आग लगने पर काबू कैसे पाए ताकि कोई भी इंसान हताहत ना हो धुआं फैलने की स्थिति में कैसे बचाव करना चाहिए मैन मेड डिजास्टर में क्या सावधानी रखनी चाहिए आदि पर विस्तृत जानकारी दें आपातकालीन नंबर कौन से होते हैं और कब किस पर सूचना देनी चाहिए कई बार ऐसी भीड़ में छोटे ब‘चे खो जाते हैं और बड़े बूढ़े गिर जाते हैं गिरे हुए को उठाना और उनकी प्राथमिक सहायता देकर सुरक्षित उनके घर तक पहुंचाना के बारे में प्रशिक्षण दिया तथा बेहोशी की अवस्था में सीपीआर देकर या रिकवरी पोजीशन में डालकर पीडि़त के जान को बचाने के तरीके बताएंआपदा प्रबंधन से संबंधित अनेकों पहलुओं पर विस्तृत जानकारी देते हुए डॉक्टर एमपी सिंह ने शांति सद्भाव बनाने की अपील भी की और कहा कि जा की जैसी भावना होती है उसको फल वैसा ही मिलता है इसलिए श्रद्धा भाव से ही पूजा-अर्चना करने जाए ना कि किसी की चप्पल जूते चोरी करने के लिए बहन बेटियों को छेडऩे के लिए क्योंकि देखने वाला तो परमपिता परमात्मा है उसकी सहस्र आंखें होती हैं वह ऊपर से सब कुछ देख रहा होता है और जो जैसा करता है उसका फल उसी तरीके से देता है खालसा सीनियर सेकेंडरी स्कूल के सभी अध्यापकों और ब‘चों ने प्रण तथा संकल्प लिया कि हम अपने क्षेत्र में सभी सावधानियों को बरतते हुए अन्य लोगों को जागरूक करेंगे और सोसाइटी के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभा कर अपना जीवन सफल बनाएंगे