भगवान कृष्ण का जीवन चरित्र अन्याय और अत्याचार के खिलाफ लड़ने की प्रेरणा देता है : विधायक नीरज शर्मा

फरीदाबाद । बी डी कौशिक मुख्य संपादक मातृभूमि संदेश न्यूज। भगवान कृष्ण का जीवन चरित्र अन्याय और अत्याचार के खिलाफ लड़ने की प्रेरणा देता है यह कहना था एनआईटी-86 के विधायक पंडित नीरज शर्मा का। श्री शर्मा ने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर मंदिरों में जाकर भगवान के दर्शन किए और विग्रह की पूजा अर्चना की। श्री शर्मा लगभग दो दर्जन मंदिरों में गए और सुंदर झांकियों के साथ राधा कृष्ण की वेशभूषा में तैयार हुए बच्चों का उत्साह बढ़ाया। अंत में श्री शर्मा ने सिद्धदाता मंदिर में जाकर श्रीकृष्ण की प्रतिमा का वैदिक मंत्रो के साथ सोलह श्रृंगार किया। उन्होंने मंदिरों में श्रद्धालुओं द्वारा कोरोना महामारी से बचने के लिए नियमों का पालन करने पर खुशी जताई। विधायक नीरज शर्मा ने हरियाणा में सभी धार्मिक स्थलों को खोलने पर हरियाणा सरकार का आभार जताया और समस्त एनआईटी-86 की जनता को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की बधाई दी और उनको क्षेत्र का विधायक बनाने पर समस्त जनता का तहेदिल से धन्यवाद भी किया। इस अवसर पर विधायक नीरज शर्मा ने कहा कि श्रद्धा, आस्था और विश्वास से परिपूर्ण श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व का मानव-जीवन में युगों-युगों से विशेष महत्व रहा है। श्रीकृष्ण का चरित्र हमें लौकिक और आध्यात्मिक शिक्षा देता है। गीता में उन्होंने स्वयं कहा है कि ‘कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन’ अर्थात व्यक्ति को मात्र कर्म करना चाहिए फल की इच्छा नहीं रखनी चाहिए। भगवान श्रीकृष्ण की शिक्षाएं और दर्शन आज भी प्रासंगिक हैं और हमें एक सफल जीवन जीने के लिए उनका पालन करना चाहिए ।उन्होंने एनआईटी-86 की जनता आग्रह किया है कि वे कोरोना के दृष्टिगत सामूहिक आयोजनों से बचें और नियमों का पालन करते हुए जन्माष्टमी पर्व को हर्षोल्लास के साथ मनाएं। उन्होंने मंदिरों में आने जाने वाले श्रद्धालुओं को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने पर खुशी भी जताई।