दिल्ली-हरियाणा-यूपी को मिलकर स्थापित करनी चाहिए बेहतर व्यवस्था, हरियाणा तैयार – उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला

 

चंडीगढ़, 5 जून। बी डी कौशिक मातृभूमि संदेश म के कारण दिल्ली-एनसीआर की सीमाएं सील करने पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी पर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा है कि इस विषय पर हरियाणा सरकार गंभीर है। उन्होंने चिंता जाहिर  करते हुए कहा कि दिल्ली से आवाजाही के कारण दिल्ली और एनसीआर में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कोरोना के खिलाफ हम सबको मिलकर व्यवस्थाएं स्थापित करनी चाहिएजिसको लेकर हरियाणा तैयार है। उन्होंने कहा कि बॉर्डर को लेकर हरियाणायूपी और दिल्ली तीनों राज्य मिलकर आगे बढ़ें ताकि कोरोना महामारी से मिलकर लड़ा जा सके। साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ने के लिए हमें सख्ती और समझदारी दोनों दिखाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि तीनों राज्य इस विषय पर अपना एक-एक उच्च अधिकारी चुनें और फिर आवाजाही के लिए पास आदि सुविधाओं को बेहतर करने की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए ताकि 8 जून तक व्यवस्थाओं को सुधारा जा सके।दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कोरोना महामारी को लेकर सभी राज्य गंभीर है लेकिन इसके बावजूद कोरोना के मामले निरंतर बढ़ रहे है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में आवाजाही के लिए हरियाणा की ओर से पहले से ही पोर्टल बनाया हुआ है और इसके अलावा 17 राज्यों के लिए केंद्र द्वारा भी एक पोर्टल चल रहा है। उन्होंने सुझाव दिया कि हमें पास के लिए नई व्यवस्था स्थापित करने की बजाय इन पोर्टलों को और बेहतर बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसी तरह आरोग्य सेतु ऐप में भी सुधार करके एक राज्य से दूसरे की आवाजाही को आसान करना चाहिए। उन्होंने उदाहरण देकर कहा कि जैसे कोरोना नेगेटिव लोगों को मूवमेंट के लिए छूट देनी चाहिए।दुष्यंत चौटाला ने कहा कि बॉर्डर खोलने और न खोलने को लेकर सभी राज्यों के अलग-अलग सुझाव है। डिप्टी सीएम ने अपना सुझाव रखते हुए कहा कि हमें बॉर्डर को सामाजिक दूरी को मद्देनजर रखते हुए बेहतर व्यवस्थाओं के साथ सीमित लोगों के लिए खोलना चाहिए। वहीं उन्होंने कहा कि इसके अलावा हमें सभी को आवाजाही वाले कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम के प्रति प्रेरित करना चाहिए।दुष्यंत चौटाला ने बीते दिनों दिल्ली बॉर्डर सील करने का कारण बताते हुए कहा कि दिल्ली में आवाजाही के कराण निरंतर गुरुग्रामझज्जरसोनीपत और फरीदाबाद में मामले बढ़ रहे थे। उन्होंने कहा कि इसके मद्देनजर प्रदेश सरकार ने तीन अधिकारियों के नेतृत्व में दिल्ली आने-जाने के लिए पास की सुविधा उपलब्ध करवाई है। उन्होंने बताया कि कैसे आजादपुर मंडी के कारण कोराना संक्रमण का फैलाव तेजी से हुआ और इसी तरह झज्जर में दिल्ली से आवाजाही के कारण एक पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमण पॉजिटिव पाया गया। उन्होंने कहा कि दिल्ली से कोरोना के हो रहे फैलाव के कारण प्रदेश के बचाव के लिए सरकार को दिल्ली बॉर्डर सील करना पड़ा। उन्होंने बताया कि राज्य में सभी जिला अधिकारी बार्डर की आवाजाही को लेकर अपने उचित फैसले ले रहे है।पमुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी को लेकर सभी राज्य शुरू से गंभीर है। उन्होंने कहा कि सभी राज्य लॉकडाउन की पालना करते हुए कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे है। उन्होंने कहा कि इसी तरह अब हरियाणायूपीदिल्ली को मिलकर आगे बढ़ना चाहिए और सामाजिक दूरी का ख्याल रखते हुए अनलॉक-2 से पहले उचित व्यवस्थाएं स्थापित करनी चाहिए। साथ ही उन्होंने उदाहरण के तौर पर बताया कि कोरोना महामारी में राज्य सरकार ने ई पास के जरिए उद्योगों को वापस सुचारू किया।