प्रवासी लोगों की मदद करते हुए हरियाणा सरकार की ओर से उन्हें उनके गृह राज्यों को भेजा जा रहा है।

फरीदाबाद, 29 मई।बी. डी कौशिक।मातृभूमि संदेश।
 
 कोविड-19 महामारी व लॉकडाउन की परिस्थितियों में प्रवासी लोगों की मदद करते हुए हरियाणा सरकार की ओर से उन्हें उनके गृह राज्यों को भेजा जा रहा है। प्रवासी लोगों के लिए ट्रेन व बसों की व्यवस्था की जा रही है तथा सभी को खाने-पीने के सामान के साथ-साथ यात्रा का किराया भी सरकार की ओर से दिया जा रहा है।
उपायुक्त यशपाल ने बताया कि ओल्ड फरीदाबाद से शुक्रवार को दो ट्रेन रवाना की गई। पहली ट्रेन पूर्णिया, बिहार भेजी गई, जिसमें करीब 1383 यात्री थे तथा दूसरी ट्रेन भागलपुर बिहार भेजी गई जिसमें करीब 1450 यात्री थे। उन्होंने बताया कि ई-दिशा पोर्टल पर पंजीकरण करने वाले प्रवासी लोगों को भेजने की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने बताया कि सबसे पहले श्रमिकों को उनके गृह राज्य भेजने के लिए फोन से सूचना भेजी गई तथा उन्हें नजदीक के शैल्टर होम में इक्ट्ठा किया गया, जहां पर सभी की मेडिकल जांच की गई। सभी प्रवासी श्रमिकों को वहां पर भोजन दिया गया तथा सभी को माॅस्क उपलब्ध कराए गए। उन्होंने बताया कि सभी श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क उपयोग करने बारे जागरूक किया गया तथा बताया गया कि कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए अपने हाथों को निरंतर साफ करते रहेें। उपायुक्त ने प्रवासी लोगों का आह्वान कि कोरोना की परिस्थितियां सामान्य होने पर वे फिर से औद्योगिक नगरी फरीदाबाद आएं तथा देश-प्रदेश के विकास में अपना सहयोग करें। उन्होंने सभी यात्रियों के अच्छे स्वास्थ्य व सुरक्षित यात्रा की कामना भी की। प्रवासी लोगों को ट्रेन से भेजने की पूरी व्यवस्था एसडीएम अमित कुमार व पंकज सेतिया व उनकी टीम द्वारा की गई। इस अवसर पर एसीपी अभिमन्यु लोहान, डीसीपी सीआईडी सुमित सहगल व रेलवे अधिकारी मधुकांत भी उपस्थित थे।